लाइव टीवी

कैलाश विजयवर्गीय के निशाने पर इंदौर पुलिस, MLA बेटे ने तारीफ में गढ़े कसीदे, ये है वजह

Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 14, 2020, 11:13 PM IST
कैलाश विजयवर्गीय के निशाने पर इंदौर पुलिस, MLA बेटे ने तारीफ में गढ़े कसीदे, ये है वजह
आकाश विजयवर्गीय ने इंदौर पुलिस की तारीफ की.

भाजपा के राष्‍ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) का इंदौर पुलिस से भले ही छत्तीस का आंकड़ा हो, लेकिन उनके विधायक बेटे आकाश विजयवर्गीय आजकल पुलिस की तारीफ करते नहीं थक रहे हैं.

  • Share this:
इंदौर. भारतीय जनता पार्टी के राष्‍ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) और इंदौर पुलिस के बीच भले ही छत्तीस का आंकड़ा हो, लेकिन उनके विधायक बेटे आकाश विजयवर्गीय (Akash Vijayvargiya) पुलिस की तारीफ करते नहीं थक रहे हैं. दरअसल, एसपी बनकर आकाश विजयवर्गीय से 10 लाख रुपए ठगने की कोशिश करने वाले शातिर ठग को क्राइम ब्रांच पुलिस ने राजस्थान से गिरफ्तार कर लिया है. ये आरोपी एसपी, विधायक और मजिस्ट्रेट बनकर 16 जिलों में 60 से ज्यादा लोगों से लाखों रुपए ठग चुका है. आपको बता दें कि आकाश के पिता कैलाश विजयवर्गीय पर आम जनता के मुद्दे उठाने और आग लगाने की धमकी देने की वजह से एफआईआर दर्ज है और गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है. यही नहीं, भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष राकेश सिंह, पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान आदि ने भी कैलाश विजयवर्गीय की गिरफ्तारी करने पर आंदोलन की चेतावनी दे डाली है.

बीजेपी विधायक ने की पुलिस की तारीफ
इंदौर के विधानसभा क्षेत्र तीन से बीजेपी के विधायक आकाश विजयवर्गीय ने बताया कि 9 जनवरी को उनको एक अज्ञात व्यक्ति ने कॉल किया था, लेकिन वे एक कार्यक्रम में थे इसलिए फोन रिसीव नहीं कर पाए. उसके कुछ देर बाद उनके पीए अभिषेक को कॉल आया और उन्होंने मेरी बात कराई. सामने वाले युवक ने कहा कि वो इंदौर एसपी यूसुफ कुरैशी बोल रहा है और उनके रिश्तेदार को तत्काल 10 लाख रुपए की जरूरत है. राशि एक अकाउंट नंबर में आरटीजीएस करवा दें, क्योंकि दोपहर तक बैंक से स्टेटमेंट आ जाएगा. पहले मुझे लगा जरूरत होगी, लेकिन शंका होने पर मैंने सीधे एसपी युसुफ कुरैशी से संपर्क किया तो उन्होंने रुपए की मांग से इनकार कर दिया. मैं इंदौर पुलिस की तारीफ करना चाहूंगा कि उन्होंने फु्र्ती दिखाते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जिससे कई दूसरे लोग ठगी का शिकार होने से बच गए.

पुलिस ने दो किमी पीछा कर आरोपी को पकड़ा

एसपी युसुफ कुरैशी ने मामले की जांच क्राइम ब्रांच एएसपी अमरेंद्र सिंह चौहान से करवाई तो आरोपी सुरेश उर्फ भेरिया घांची की राजस्थान में लोकेशन मिली. इस पर टीम राजस्थान के पाली पहुंची और पुलिस को आरोपी के फालना स्टेशन पर होने की सूचना मिली. जैसे ही उसने पुलिस को देखा, वो भागने लगा, लेकिन पुलिस ने फालना स्टेशन पर दो किलोमीटर पीछा कर उसे पकड़ लिया. आरोपी राजस्थान में मिस्टर नटवरलाल के नाम से चर्चित है. एसपी मुख्यालय का कहना है कि इससे पूछताछ की जा रही है कि उसने इंदौर के और कौन से लोगों को अपनी ठगी का शिकार बनाया है.

मिमिक्री आर्टिस्ट है आरोपी
गौरतलब है कि हाल में ही भोपाल में कुलपति की नियुक्ति के लिए राज्यपाल को गृह मंत्री अमित शाह के नाम से फर्जी फोन और ग्वालियर में कमिश्नर एमबी ओझा को हाईकोर्ट जज के नाम से फोन करने के मामले सामने आ चुके हैं. इस आरोपी ने राजस्थान के 16 जिलों में लोगों को शिकार बनाया. ये जोधपुर, जयपुर और मारवाड़ जंक्शन में विधायक के नाम से लाखों रुपए की ठगी कर चुका है. माउंट आबू में मजिस्ट्रेट के नाम से 6 लाख रुपए ठग चुका है. जोधपुर रेंज के आईजी, पाली एसपी और जालोर के एएसपी के नाम से भी लोगों से रुपए मांग चुका है. जयपुर, जोधपुर, कोटा, अजमेर, बीकानेर, सिरोही, जालोर, सीकर, चूरू, राजसमंद,चित्तौड़गढ़, नागौर, हनुमानगढ़, बाड़मेर व गंगानगर समेत 16 जिलों विधायक,मजिस्ट्रेट, आईजी, एसपी, एएसपी से लेकर थानेदार की आवाज में बात कर ठगी कर चुका है. जबकि वह मिमिक्री आर्टिस्ट भी है. 

ये भी पढ़ें-
1 लाख की चिल्लर देख शोरूम कर्मचारियों के उड़े होश! 16 लोगों को गिनने में लगे इतने घंटे

अब MPTET पास करने वालों की बदलेगी 'किस्‍मत', ये है वजह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 10:52 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर