लाइव टीवी

किसान नेता अखिल गोगोई को NIA की विशेष अदालत ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

भाषा
Updated: December 26, 2019, 11:04 PM IST
किसान नेता अखिल गोगोई को NIA की विशेष अदालत ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा
NIA अदालत ने अखिल गोगोई को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है (फाइल फोटो)

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने उन्हें गैर कानूनी गतिविधि रोकथाम कानून के तहत 12 दिसंबर को जोरहाट से तब गिरफ्तार किया था, जब असम (Assam) में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हो रहा था.

  • भाषा
  • Last Updated: December 26, 2019, 11:04 PM IST
  • Share this:
गुवाहाटी. एनआईए (NIA) की विशेष अदालत (Special Court) ने गुरूवार को आरटीआई कार्यकर्ता (RTI Activist) और किसान नेता अखिल गोगोई (Akhil Gogoi) को 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत (Judicial Custody) में भेज दिया.

विशेष अदालत (Special Court) ने उनकी हिरासत 10 दिन बढ़ाने के लिए एनआईए (NIA) की अर्जी खारिज कर दी.

12 दिसंबर को जोरहाट से किया गया था गिरफ्तार
राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने उन्हें गैर कानूनी गतिविधि रोकथाम कानून के तहत 12 दिसंबर को जोरहाट से तब गिरफ्तार किया था, जब असम (Assam) में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हो रहा था.

अधिकारियों ने बताया कि इससे पहले दिन में एनआईए (NIA) ने यहां निजारापाड़ा इलाके में गोगोई के आवास की तलाशी ली और कई दस्तावेज और एक लैपटॉप जब्त किया.

दिल्ली में अदालत के सामने पेश हुए अखिल
कृषक मुक्ति संग्राम समिति (KMSS) के नेता को दिल्ली से लाया गया और यहां अदालत के समक्ष पेश किया गया. एनआईए की हिरासत शुक्रवार को खत्म हो रही थी. अखिल गोगोई विवादास्पद नागरिकता (संशोधन) कानून के खिलाफ असम के कुछ जिलों में प्रदर्शनों को गोलबंद करने का काम रहे थे.गुरुवार को ही राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने गिरफ्तार आरटीआई कार्यकर्ता (RTI Activist) और किसान नेता अखिल गोगोई के गुवाहाटी स्थित आवास पर गुरूवार को छापा मारकर विभिन्न दस्तावेज और एक लैपटॉप जब्त किया. अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

NRC के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों के दौरान गिरफ्तार किए गए थे अखिल
विभिन्न किसान संगठनों को सलाह देने वाले कार्यकर्ता अखिल को नागरिकता (संशोधन) कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों के दौरान गिरफ्तार (Arrest) किया गया था.

आतंकवाद रोधी बल- NIA के अधिकारियों ने गुवाहाटी के निजारापाडा इलाके में गोगोई के घर छापेमारी की और उनके पैन कार्ड (Pan Card) की प्रतियां, SBI डेबिट कार्ड, मतदाता फोटो पहचान पत्र और बैंक की पासबुक (Bank Passbook) जब्त कर ली.

NIA ने पूछा, 'जब वे पहले जेल गए तो क्या उग्रवादियों से मिले?'
सुबह सात बजे खत्म हुई छापेमारी (Raid) तीन घंटे तक चली, जिसके बाद गोगोई की पत्नी गीताश्री तामुली ने पत्रकारों को जब्त की गई चीजों की सूची दिखाई, जिनमें सहकारी समितियों के रजिस्ट्रार द्वारा जारी पंजीकरण प्रमाण पत्र, ASI अधीक्षण पुरातत्वविद मिलन कुमार चौले का पत्र और "जेल डायरी 2014" समेत कई महत्वपूर्ण दस्तावेज शामिल हैं.

तामुली ने कहा, "वे (NIA) हमारे घर में रखी फाइलें देखना चाहते थे और उनमें से कुछ को अपने साथ ले गए. मैंने उनसे जब्त की गई चीजों की प्रतियां देने के लिये कहा, लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया. मुझसे यह भी पूछा गया कि अखिल पहले जब जेल गए थे तो क्या उग्रवादियों से मिले थे."

KMSS के कार्यालय पर भी की गई छापेमारी
तामुली ने कहा कि एनआईए की टीम ने काजीरंगा में केएमएसएस (KMSS) आर्किड पर्यावरण पार्क से संबंधित दस्तावेज भी मांगे, लेकिन उन्होंने बताया कि उन्हें उनके बारे में कोई जानकारी नहीं है.

केएमएसएस (KMSS) के अध्यक्ष राजू बोरा ने बताया कि शहर के गांधी बस्ती इलाके में स्थित के कृषक मुक्ति संग्राम समिति (KMSS) के कार्यालय में भी छापेमारी की गई जिसमें चीन के क्रांतिकारी नेता माओ जेदोंग के जीवन पर आधारित पुस्तक और मार्क्सवादी किताब समेत नौ पुस्तकें तथा केएमएसए की पुस्तिकाएं जब्त की गईं.

विभिन्न समूहों के बीच द्वेष पैदा करने का आरोप
एनआईए (NIA) ने गोगोई पर "आतंकवादी गतिविधियों" में शामिल होने और नागरिकता (संशोधन) विधेयक को विभिन्न समूहों के बीच द्वेष पैदा करने के लिये इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है जोकि राष्ट्रीय अखंडता के खिलाफ है.

उनपर प्रतिबंधित भाकपा (माओवाद) से जुड़े होने का भी आरोप है.

यह भी पढ़ें: PM मोदी कह चुके हैं CAA का NRC और NPR से कोई संबंध नहीं: राम माधव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 26, 2019, 9:11 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर