होम /न्यूज /राष्ट्र /जानें कौन हैं फिल्म निर्माता अली अकबर, जो अपनाएंगे हिंदू धर्म और क्यों लिया ये फैसला

जानें कौन हैं फिल्म निर्माता अली अकबर, जो अपनाएंगे हिंदू धर्म और क्यों लिया ये फैसला

अली अकबर ने बताया कि वे और उनकी पत्नी हिंदू धर्म में परिवर्तन कर लेंगे. (फोटो: News18 Malayalam)

अली अकबर ने बताया कि वे और उनकी पत्नी हिंदू धर्म में परिवर्तन कर लेंगे. (फोटो: News18 Malayalam)

Who is Ali Akbar: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अकबर का कहना है कि इस्लाम के शीर्ष नेताओं ने भी बहादुर सैन्य अधिकारी को ...अधिक पढ़ें

    कोच्चि. मलयालम सिनेमा (Malayalam Cinema) की जानी मानी हस्ती अली अकबर (Ali Akbar) हिंदू धर्म (Hinduism) अपनाने जा रहे हैं. उनका कहना है कि दिवंगत चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत (Late General Bipin Rawat) और देश के अपमान के चलते उन्होंने इस्लाम छोड़ने का फैसला किया है. हालांकि, यह पहली बार नहीं है जब अकबर ने अपने बयान से हंगामा खड़ा किया हो. साल 2015 में उन्होंने खुलासा किया था कि मदरसा में रहने के दौरान एक ‘उस्ताद’ ने उनका यौन शोषण किया था. अली अकबर के बारे में विस्तार से जानते हैं-

    पेशे से निर्देशक, पटकथा लेखक और गीतकार 58 वर्षीय अकबर का जन्म 1963 में केरल के वायनाड में हुआ था. वे प्रमुख रूप से मलयालम सिनेमा में काम करते रहे हैं. MSIDB के अनुसार, अकबर ने अपनी फिल्मी पारी की शुरुआत साल 1988 में आई फिल्स से निर्देशक के तौर पर की थी. इसके अलावा वे कई फिल्मों का हिस्सा रहे. IMDB के अनुसार, उन्हें ग्राम पंचायत (1998), सीनयर मैंड्रेक (2010) के लिए जाना जाता है.

    फिल्मों के अलावा अकबर राजनीति में भी सक्रिय रहे. वे भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश समिति के सदस्य भी रह चुके हैं. उन्होंने अक्टूबर में पार्टी नेतृत्व से मतभेदों के चलते सभी संगठनात्मक जिम्मेदारियां छोड़ दी थी. अकबर ने कहा कि वह भाजपा के सदस्य बने रहेंगे. उन्होंने कहा था कि वह भाजपा के प्रदेश सचिव ए के नजीर के खिलाफ पार्टी की केरल इकाई के हाल के संगठनात्मक स्तर की कार्रवाई से ‘दुखी’ हैं और उन्होंने संकेत दिया कि इसी के चलते उन्होंने पार्टी में सभी पदों से इस्तीफा दिया है. उन्हें पार्टी का प्रमुख मुस्लिम चेहरा माना जाता है.

    यह भी पढ़ें: हिंदू धर्म अपनाएंगे फिल्म निर्माता अली अकबर, जनरल रावत के अपमान से दुखी होकर लिया फैसला

    अब क्या लिया फैसला
    मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अकबर का कहना है कि इस्लाम के शीर्ष नेताओं ने भी बहादुर सैन्य अधिकारी को अपमानित करने वाले ऐसे ‘राष्ट्र विरोधियों’ का विरोध नहीं किया. उन्होंने कहा कि वे इसे स्वीकार नहीं कर सकते. अकबर का कहना है कि उनका धर्म से भरोसा उठ गया है. उन्होंने बुधवार को इस संबंध में एक वीडियो फेसबुक पर भी साझा किया था. कथित रूप से कई लोगों ने जनरल रावत की मौत से जुड़ी पोस्ट पर ‘स्माइली इमोटिकॉन’ का इस्तेमाल किया था.

    फिल्म निर्माता ने कहा था, ‘आज मैं जन्म से मिले हुए पहनावे को उतार फेंक रहा हूं. आज से मैं मुस्लिम नहीं हूं, मैं एक भारतीय हूं. मेरा यह जवाब उन लोगों के लिए हैं, जिन्होंने भारत के खिलाफ हजारों स्माइलिंग इमोटिकॉन्स पोस्ट किए हैं.’ कई मुस्लिम यूजर्स ने उनकी इस पोस्ट का विरोध किया और उन्हें अपशब्द कहे. हालांकि, कई यूजर्स उनके समर्थन में भी आए. कुछ समय बाद फेसबुक से यह पोस्ट गायब हो गई थी.

    Tags: Ali Akbar, General Bipin Rawat, Hinduism, Islam

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें