AN-32 क्रैश में मारे गए सभी 13 लोगों के शव बरामद, ब्लैक बॉक्स से पता लगेगा क्यों हुआ हादसा

हादसे में मारे गए सभी 13 लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं. वायुसेना इस दुर्घटना की जांच (कोर्ट ऑफ इनक्वायरी) का आदेश पहले ही दे चुकी है.

News18Hindi
Updated: June 14, 2019, 1:34 PM IST
News18Hindi
Updated: June 14, 2019, 1:34 PM IST
अरुणाचल प्रदेश के घने जंगल वाले पर्वतीय इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हुए AN-32  विमान में सवार सभी 13 लोगों की मौत हो चुकी है. वायुसेना ने यह जानकारी गुरुवार को दी. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि विमान का ‘ब्लैक बॉक्स’ दुर्घटना स्थल से बरामद हो गया है और यह दुर्घटना के कारणों का पता लगाने में मदद करेगा.

हादसे में मारे गए सभी 13 लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं.  वायुसेना इस दुर्घटना की जांच (कोर्ट ऑफ इनक्वायरी) का आदेश पहले ही दे चुकी है.



बता दें कि रूस निर्मित एएन-32 विमान तीन जून को असम के जोरहाट से चीन की सीमा के पास मेंचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड जा रहा था. तभी उड़ान भरने के करीब 33 मिनट बाद उसका रडार से संपर्क टूट गया.

यह भी पढ़ें:  भारतीय वायुसेना के AN-32 विमान का मलबा खोजने की पूरी कहानी

12,000 फुट की ऊंचाई पर विमान ने देखा था मलबा

वायुसेना के एक हेलीकॉप्टर ने मंगलवार को सियांग और शी-योमी जिलों की सीमा पर स्थित गाट्टे गांव के पास 12,000 फुट की ऊंचाई पर विमान का मलबा देखा था. इससे पहले, विमानों और हेलीकॉप्टरों के बेड़े तथा जमीनी बलों ने आठ दिनों तक व्यापक खोज अभियान चलाया था.


Loading...

इन लोगों की हुई मौत
मारे गए 13 लोगों में विंग कमांडर जीएम चार्ल्स, स्क्वॉड्रन लीडर एच विनोद, फ्लाइट लेफ्टिनेंट आर थापा, फ्लाइट लेफ्टिनेंट ए तंवर, फ्लाइट लेफ्टिनेंट एस मोहंती, फ्लाइट लेफ्टिनेंट एमके गर्ग, वारंट ऑफिसर केके मिश्रा, सार्जेंट अनूप कुमार एस, कॉर्पोरल शेरिन एनके, लीड एयरक़्राफ़्ट मैन एसके सिंह, लीड एयरक़्राफ़्ट मैन पंकज, असैन्य कर्मचारी पुतली और राजेश कुमार शामिल हैं.
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...