जानिये उस यूट्यूबर के बारे में जिसे केरल में महिला अधिकार कार्यकर्ताओं ने जमकर पीटा

विजय पी नायर को महिलाओं ने पीटा.
विजय पी नायर को महिलाओं ने पीटा.

विजय पी नायर (Vijay p nair) यूट्यूब व्लॉगर है, जो अत्यधिक गलत और अश्‍लील संबंधी सामग्री बनाने और शेयर करने के लिए जाना जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 29, 2020, 9:44 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सोशल मीडिया (Social Media) पर इस समय केरल (Kerala) की एक घटना छाई हुई है. महिला अधिकारों के लिए काम करने वाली कुछ कार्यकर्ताओं ने यूट्यूब (Youtube) पर वीडियो व्‍लॉग चलाने वाले विजय पी नायर (Vijay P Nair) नाम के एक व्‍यक्ति पर हमला कर उसकी जमकर पिटाई की है. दरअसल उसने पिछले महीने यूट्यूब पर नारीवाद पर एक भड़काऊ वीडियो अपलोड किया था, जिसमें उसने महिला अधिकारों के लिए काम कर रहीं कार्यकर्ताओं और नारीवाद का अपमान किया था.

कौन है विजय नायर?
विजय पी नायर यूट्यूब व्लॉगर है, जो अत्यधिक गलत और अश्‍लील संबंधी सामग्री बनाने और शेयर करने के लिए जाना जाता है. इतना ही नहीं, नायर ने भी पीएचडी होने का दावा किया है. उसका दावा है कि उसने चेन्नई की ग्लोबल ह्यूमन पीस यूनिवर्सिटी से क्‍लीनिकल साइकोलॉजी में पीएचडी की है. साथ ही मनोचिकित्‍सक पर प्रैक्टिस कर रहा है. हालांकि, वह अक्सर अपने वीडियो में अवांछित, अवैज्ञानिक और अक्सर सेक्सिस्ट सलाह देते हुए पाया जाता है. शनिवार दोपहर को लोकप्रिय डबिंग कलाकार भाग्यलक्ष्मी, महिला अधिकार कार्यकर्ता दीया सना और श्रीलक्ष्मी अरकल ने उसके घर स्थित ऑफिस में घुसकर उसपर हमला किया. उसके चेहरे पर मोटर ऑयल भी लगाया और पीटा.

विजय नायर क्‍यों पीटा गया?
15 अगस्त को विजय नायर ने एक वीडियो अपलोड किया था. इसमें उसने कहा था कि भारत में नारीवादी अंडरवियर क्यों नहीं पहनती, विशेष रूप से केरल में. इस वीडियो में उसने 86 वर्षीय कवि और कार्यकर्ता सुगाथाकुमारी और भाग्यक्ष्मी सहित कई महिलाओं पर निशाना साधा था. इसकी बड़े स्‍तर पर निंदा हुई थी. उसने महिला कार्यकर्ताओं के संबंध में भी अन्य अभद्र टिप्पणी भी की थीं. वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसके बाद डबिंग कलाकार और अन्य कार्यकर्ताओं की प्रतिक्रिया आई. रिपोर्ट के अनुसार, महिलाओं ने दावा किया कि पुलिस की इस मामले में निष्क्रियता के बाद उन्हें कानून अपने हाथ में लेने के लिए मजबूर होना पड़ा.



क्‍या विजय नायर मनोचिकित्‍सक है?
मनोचिकित्सक होने के उसके दावों के बावजूद आगे की जांच में पाया गया कि उसकी डिग्री नकली थी और वह मनोचिकित्सक नहीं था. इंडियन एसोसिएशन ऑफ क्‍लीनिकल साइकोलॉजिस्ट्स केरल चैप्टर ने मीडिया को सूचित किया कि वह खुद को क्‍लीनिकल साइकोलॉजिस्ट होने का दावा करके पेशे के नाम का दुरुपयोग करने के लिए नायर के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू करेगी. नायर एसोसिएशन का सदस्य नहीं था. इसके पदाधिकारियों ने यह भी आरोप लगाया कि उसकी पीएचडी ऐसी यूनिवर्सिटी से है जो अस्तित्‍व में है ही नहीं.

क्‍या नायर पर हमला अत्‍याचार है?
हमले के बाद नायर ने तीनों महिलाओं के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. हालांकि, महिलाओं ने नायर के खिलाफ महिला के सम्‍मान को अपमानित करने के लिए शिकायत दर्ज कराई है, जब वे वीडियो के बारे में अपनी चिंताओं को दूर करने के लिए नायर कि घर गई थीं. केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने भी नायर की निंदा व्यक्त की और सभी को चेतावनी दी कि वे इंटरनेट पर महिलाओं के खिलाफ हिंसा को बढ़ावा देने वाली यौन और अनुचित टिप्पणियों या सामग्री को पोस्ट न करें.

इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर नायर के वीडियो को लेकर उसकी तो आलोचना हुई ही साथ ही महिला कार्यकर्ताओं की ओर से कानून हाथ में लेने पर उनकी भी निंदा की गई. पत्रकार धन्या राजेंद्रन जैसे अन्य लोगों इस बात से हैरान हैं कि यूट्यूब ने अब तक नायर का वो वीडियो हटाया क्‍यों नहीं. पुलिस ने इस बीच चार महिलाओं की शिकायत के आधार पर नायर के खिलाफ मामला दर्ज किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज