Assembly Banner 2021

कोरोना के कारण 31 मार्च तक नांदेड़ में सभी धार्मिक स्थल बंद, परभणी में नाईट कर्फ्यू

(फोटो साभार-News18 English)

(फोटो साभार-News18 English)

Maharashtra latest news in Hindi: महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए 31 मार्च तक सभी धार्मिक स्थलों जैसे मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे और चर्च को बंद कर दिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2021, 9:20 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना दिन-ब-दिन विकराल रूप धारण करता जा रहा है और इसकी चपेट में नांदेड़ और परभणी जिला भी आ गया है. महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए 31 मार्च तक सभी धार्मिक स्थलों जैसे मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे और चर्च को बंद कर दिया गया है. नांदेड़ के जिलाधिकारी ने धार्मिक स्थलो में सिर्फ धार्मिक गुरु को ही धार्मिक विधि करने की अनुमति होगी. आदेश के मुताबिक नांदेड़ में अब दुकानें सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक ही खोली जा सकेंगी, जबकि होटल, बार, रेस्टॉरेंट, बेकरी और स्विटमार्ट को केवल पार्सल की अनुमति होगी.

नांदेड़ में धार्मिक स्थलों को बंद करने के पीछे को मुख्य वजह तेजी से बढ़ते कोरोना के मामले हैं. पिछले 24 घन्टे में नांदेड़ में 625 कोरोना के मामले सामने आए हैं, जो कि अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है. इतना ही नहीं, इन 24 घण्टों में 3 कोरोना मरीजों की मौत हुई है. नांदेड़ में अब तक करीब 29145 कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 627 लोगों की मौत हो चुकी है. नांदेड़ में मौजूदा समय में 3728 कोरोना के एक्टिव केस हैं.

19 से 21 मार्च तक नाईट कर्फ्यू
कुछ ऐसा ही हाल महाराष्ट्र के परभणी जिले का भी है. परभणी में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए 19 मार्च से 25 मार्च तक नाईट कर्फ्यू लगाने का फैसला प्रशासन ने लिया है. यह नाईट कर्फ्यू शाम 7 बजे से सुबह 6 बजे के बीच रहेगा. इस नाईट कर्फ्यू के दौरान अत्यावश्यक सेवाओं के अलावा बाकी चीजें बंद रहेंगी.
24 घंटे में कोरोना के 25 हजार से ज्यादा मामले


बता दें कि महाराष्ट्र में पिछले 24 घण्टे में 25,833 कोरोना मामले सामने आये हैं, जबकि 58 लोगों की मौत हुई है. पूरे राज्य में लगातार तीसरे दिन कोरोना ने 25 हजार के आंकड़े को छुआ है, जो सरकार की चिंता को लगातार बढ़ाता जा रहा है. दरअसल पिछले कुछ दिनों में पूरे देश में कोरोना के जितने केस दर्ज किए गए हैं उनमें से 60 फीसद केस अकेले महाराष्ट्र से है.

ये भी पढ़ेंः- BJP में शामिल होते ही ममता पर बरसे अरुण गोविल, बोले- 'जय श्रीराम' के नाम से उन्हें...

फरवरी के महीने में महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते हुए केस पर लगाम थी. लेकिन मार्च के शुरुआत से बेलगाम रफ्तार से केस बढ़ने लगे. महाराष्ट्र में फरवरी के महीने में हर रोज 3 हजार से कम मामले दर्ज किए जा रहे थे. लेकिन इस रफ्तार में एकाएक तेजी आई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज