ऋषि कपूर के निधन से सभी दुखी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोले- वह भारत के लिए भावुक थे

ऋषि कपूर के निधन से सभी दुखी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोले- वह भारत के लिए भावुक थे
ऋषि कपूर

ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) का मुम्बई के एक अस्पताल में गुरुवार को निधन हो गया. वह 67 वर्ष के थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2020, 11:26 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर  (Rishi Kapoor) के निधन के बाद ही प्रतक्रियाओं का दौर जारी है. फैन्स, बॉलीवुड समेत कई लोगों ने शोक संवेदना प्रकट की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने ऋषि कपूर के निधन पर शोक प्रकट किया. एक ट्वीट में उन्होंने कहा- 'ऋषि कपूर जी  बहुआयामी, प्रिय और जीवंत  थे. वह प्रतिभा की खान थे. मैं हमेशा सोशल मीडिया पर उनके साथ हुई बातचीत को याद करूंगा. वह फिल्मों और भारत की प्रगति के बारे में भावुक थे. उनके निधन से दुखी हूं.  उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना. शांति.'

सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर  ने कहा कि अभिनेता ऋषि कपूर का आकस्मिक निधन चौंकाने वाला है. वह न केवल एक महान अभिनेता थे बल्कि एक अच्छे इंसान भी थे. उनके परिवार, दोस्तों और प्रशंसकों के प्रति हार्दिक संवेदना.

वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अभिनेता ऋषि कपूर के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि वह हर पीढ़ी के लोगों के बीच लोकप्रिय थे और उनकी कमी हमेशा महसूस की जाएगी.
गांधी ने ट्वीट किया, ‘यह भारतीय सिनेमा के लिए दुखद सप्ताह रहा है. एक और बड़े अभिनेता ऋषि कपूर का निधन हो गया. वह एक शानदार अभिनेता थे जिनकी हर पीढ़ी के लोगों में लोकप्रियता थी. उनकी कमी बहुत महसूस की जाएगी.’ उन्होंने कहा, ‘दुख की इस घड़ी में उनके परिवार, मित्रों और प्रशंसकों के साथ मेरी संवेदना है.’दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा- अभिनेता ऋषि कपूर के आकस्मिक निधन से गहरा दुख हुआ. उन्होंने अपने पूरे करियर में भारतीयों की कई पीढ़ियों का मनोरंजन किया.  बहुत नुकसान हुआ .. शोकग्रस्त परिवार के प्रति मेरी संवेदना. भगवान उनकी आत्मा को शांति दे.




 लंबे समय से कैंसर से जूझ रहे थे कपूर 
BJP सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि कल के सदमे से अभी हम उभरे ही नहीं थे कि आज सुबह खबर आई कि ऋषि कपूर नहीं रहें.ऋषि कपूर जी का नहीं रहना निश्चित रूप से बॉलीवुड के एक युग का अंत है. ऋषि कपूर हर परिस्थिति में खुश रहने वाले और अपने कर्मियों का ध्यान रखने वाले इंसान थे.वह हमारे बीच से कभी नहीं जा सकते.

फिल्म निर्माता मधुर भंडारकर  ने कहा कि बहुत ही हैरान,परेशान करने वाली ख़बर है कि ऋषि जी हमारे बीच नहीं रहे.मेरा नाम जोकर से उन्होंने अपना कैरियर शुरू किया,बॉबी के बाद उनकी हर फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर बहुत सफलता मिली.मुझे हमेशा अफसोस रहेगा कि मैं उनके साथ काम करना चाहता था लेकिन मौका नहीं मिला.

कपूर लंबे समय से कैंसर से जूझ रहे थे. तबीयत बिगड़ने के बाद बुधवार को उन्हें एच. एन. रिलायंस अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अमेरिका में करीब एक साल तक कैंसर का इलाज कराने के बाद वह पिछले साल सितम्बर में भारत लौटे थे. फरवरी में भी तबीयत खराब होने की वजह से उन्हें दो बार अस्पताल में भर्ती कराया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज