लाइव टीवी

BJP के आरोप के बाद कांग्रेस का जवाब- कश्मीर नहीं आतंकवाद पर हुई बातचीत

News18Hindi
Updated: October 10, 2019, 8:07 PM IST
BJP के आरोप के बाद कांग्रेस का जवाब- कश्मीर नहीं आतंकवाद पर हुई बातचीत
कांग्रेस ओवरसीज की इस मुलाकात के बाद बीजेपी और शिवसेना ने निशाना साधा है.

ब्रिटेन की लेबर पार्टी के नेता और सांसद जेरेमी कॉर्बिन (Jeremy Corbyn) के ट्वीट के बाद विवाद खड़ा हो गया है. बीजेपी (BJP) ने ट्वीट कर आरोप लगाया है कांग्रेस (Congress) के कुछ नेता कश्मीर (Kashmir) मुद्दे को लेकर ब्रिटिश सांसदों के साथ बैठक कर रहे थे. बीजेपी ने इसे शर्मनाक हरक़त करार दिया है और कांग्रेस से इस पर जवाब मांगा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2019, 8:07 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली.  ब्रिटेन (Britain) की लेबर पार्टी के सांसद जेरेमी कॉर्बिन (Jeremy Corbyn) के एक ट्वीट के बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) और शिवसेना (Shiv sena) ने कांग्रेस  (Congress) पर निशाना साधा है. लेबर पार्टी के सांसद जेरेमी कॉर्बिन ने गुरुवार को एक ट्वीट कर दावा किया कि कांग्रेस ओवरसीज का प्रतिनिधिमंडल उनसे मिलने आया. इस दौरान कश्मीर में मानवाधिकार से जुड़े मुद्दों पर भी चर्चा हुई.

कॉर्बिन ने लिखा कि - 'भारतीय कांग्रेस पार्टी के यूके के प्रतिनिधियों के साथ एक बहुत ही अच्छी बैठक हुई जहां हमने कश्मीर में मानवाधिकारों की स्थिति पर चर्चा की. इतने लंबे समय के लिए इस क्षेत्र को नुकसान पहुंचाने वाले हिंसा और भय को समाप्त करना चाहिए.'

इस घटनाक्रम पर एक ओर जहां बीजेपी और शिवसेना ने निशाना साधा तो वहीं कांग्रेस ने इस मुलाकात के बाद किए गए ट्वीट पर टिप्पणी की.

jammu kashmir, jeremy corbyn, congress, bjp, rahul gandhi, britain, world news, shiv sena, Kamal Dhaliwal, President of Indian Overseas Congress, जम्मू कश्मीर, जेरेमी कॉर्बिन, कांग्रेस, बीजेपी, राहुल गांधी, ब्रिटेन, वर्ल्ड न्यूज, शिवसेना, कमल धालीवाल

जेरेमी के साथ तस्वीर में दिख रहे लोगों में कांग्रेस ओवरसीज यूके के अध्यक्ष कमल धालीवाल, एमिली थॉर्नबेरी, यूके यूनिट के प्रवक्ता सुधाकर गौड़, साभो कौर, वरिंदर धालीवाल, गुरमिंदर रंधावा, तफैजल हुसैन, असरा अंजुम और लेबर पार्टी की लिज एमपी हैं. बीजेपी ने कांग्रेस पर साधा निशाना

जेरेमी के इस ट्वीट के बाद बीजेपी ने कांग्रेस पर हमला बोला. जेरेमी को ट्वीट को कोट करते हुए बीजेपी ने लिखा-  'भयावह! कांग्रेस भारत के लोगों को समझा रही है कि इसके नेता विदेशी नेताओं को भारत के बारे में क्या बता रहे हैं. इस शर्मनाक शरारत के लिए भारत कांग्रेस को करारा जवाब देगा!'

jammu kashmir, jeremy corbyn, congress, bjp, rahul gandhi, britain, world news, shiv sena, Kamal Dhaliwal, President of Indian Overseas Congress, जम्मू कश्मीर, जेरेमी कॉर्बिन, कांग्रेस, बीजेपी, राहुल गांधी, ब्रिटेन, वर्ल्ड न्यूज, शिवसेना, कमल धालीवाल
Loading...

वास्तविकता की जांच परख करनी चाहिए- प्रियंका
वहीं शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने इस मुद्दे पर ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि 'वाह! तो
कांग्रेस महसूस करती है कि जम्मू और कश्मीर में उनके हस्तक्षेप के लिए ब्रिटेन और अन्य देशों के प्रतिनिधिमंडल को ले जाना बिल्कुल ठीक है? अन्य देशों को घरेलू मामलों में हस्तक्षेप करने के लिए कह रहे हैं? इससे ज्यादा शर्मनाक बात क्या है!'

jammu kashmir, jeremy corbyn, congress, bjp, rahul gandhi, britain, world news, shiv sena, Kamal Dhaliwal, President of Indian Overseas Congress, जम्मू कश्मीर, जेरेमी कॉर्बिन, कांग्रेस, बीजेपी, राहुल गांधी, ब्रिटेन, वर्ल्ड न्यूज, शिवसेना, कमल धालीवाल

प्रियंका ने कहा कि 'तो कांग्रेस कश्मीर में बीडीसी चुनावों का बहिष्कार करेगी, लेकिन अन्य देशों के साथ भारत के आंतरिक नीतिगत निर्णयों में हस्तक्षेप करने के लिए देगी? इसके अलावा अधिकांश देशों ने Article 370 को भारत का घरेलू मामला बताया है. वास्तविकता की जांच परख करनी चाहिए.'

कांग्रेस ने दिया जवाब
इस पूरे घटनाक्रम पर कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि 'हम इस गलत बयानी से हैरान हैं. जम्मू-कश्मीर से संबंधित कोई भी मुद्दा विशुद्ध रूप से भारत का आंतरिक मामला है.'





 कांग्रेस की ब्रिटेन इकाई ने कहा कि
वहीं जेरेमी के साथ हुई बैठक पर उठे विवाद के बाद कांग्रेस की ब्रिटेन इकाई ने कहा कि 'जेरेमी कॉर्बिन के साथ हमारी बैठक उनकी पार्टी द्वारा पारित कश्मीर प्रस्ताव की निंदा करने के लिए आयोजित की गई थी और कहा गया कि जम्मू-कश्मीर एक आंतरिक मामला है और बाहरी हस्तक्षेप स्वीकार नहीं किया जाएगा. भाजपा के दुर्भावनापूर्ण बयान लोगों को उनकी विफलताओं से विचलित करने का एक और प्रयास है.'

कांग्रेस की ओर से ट्वीट किया गया कि  'भाजपा आर्थिक मंदी, बढ़ती बेरोजगारी, बैंकिंग संकट और यहां तक कि राफेल सौदे में अनियमितताओं पर एक भी सवाल का जवाब देने में विफल रही है इसलिए उन्हें सच्चाई से बचने के लिए झूठ फैलाने का सहारा लेना पड़ता है. वे अब अपने प्रचार के पीछे छिप नहीं सकते.'

यह भी पढ़ेंJ&K के 3 नेताओं को बॉन्‍ड भरवाकर छोड़े जाने पर इल्तिजा मुफ्ती ने साधा निशाना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 6:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...