होम /न्यूज /राष्ट्र /

गहलोत अध्यक्ष बन भी जाएं तो...; कांग्रेस पर खूब बरसे कैप्टन अमरिंदर, 'भारत जोड़ो यात्रा' पर किया यह सवाल

गहलोत अध्यक्ष बन भी जाएं तो...; कांग्रेस पर खूब बरसे कैप्टन अमरिंदर, 'भारत जोड़ो यात्रा' पर किया यह सवाल

कांग्रेस की 'भारत जोड़ो यात्रा' पर कैप्टन ने उठाया सवाल (केंद्रीय मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ अमरिंदर सिंह)

कांग्रेस की 'भारत जोड़ो यात्रा' पर कैप्टन ने उठाया सवाल (केंद्रीय मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ अमरिंदर सिंह)

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस की 'भारत जोड़ो यात्रा' की जरूरत पर सवाल उठाया और कहा कि इससे न तो कांग्रेस को मदद मिलेगी और न राहुल गांधी को. कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अशोक गहलोत की दावेदारी की खबरों पर उन्होंने कहा कि अगर गहलोत कांग्रेस प्रेसीडेंट बन भी जाएंगे, तब भी पार्टी कौन चलाएगा, ये सभी जानते हैं.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

कांग्रेस की 'भारत जोड़ो यात्रा' पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उठाया सवाल
कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर अमरिंदर ने कसा तंज
कैप्टन ने कहा- गहलोत अध्यक्ष बन भी जाएंगे तो पार्टी कौन चलाएगा, सब जानते हैं

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने के दो दिन बाद ही पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस पर हमला बोला है. सीएनएन-न्यूज18 से खास बातचीत में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ की जरूरत पर सवाल उठाया और कहा कि इससे न तो कांग्रेस को मदद मिलेगी और न राहुल गांधी को. कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अशोक गहलोत की दावेदारी की खबरों पर उन्होंने कहा कि अगर गहलोत कांग्रेस प्रेसीडेंट बन भी जाएंगे, तब भी पार्टी कौन चलाएगा, ये सभी जानते हैं.

कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ की आवश्यक्ता पर सवाल उठाते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘ पहली बात कि आपको ‘भारत जोड़ो यात्रा’ की जरूरत क्यों है? भारत पहले से ही मजबूती से एकजुट है और मजबूती से आगे बढ़ रहा है. हां, आपको कांग्रेस को एकजुट करने की आवश्यकता हो सकती है और इसके लिए आपको इस यात्रा का उचित नाम देना चाहिए था. तब जाकर शायद इससे मदद मिलती.’ बता दें कि अमरिंदर सिंह ने केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, किरेन रिजिजू, सुनील जाखड़ और पंजाब यूनिट के मुखिया अश्विनी शर्मा की उपस्थिति में भारतीय जनता पार्टी का दामन थामा था. इस दौरान कैप्टन ने अपनी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का भाजपा में विलय भी कर लिया था.

‘पंजाब के लोग मेरी साख को जानते हैं’
सीएनएन-न्यूज19 से खास बातचीत में ‘पंजाब और किसानों के हित को बेच दिया’ कांग्रेस की इस टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए कि अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘क्या मुझे उनसे प्रमाण पत्र की आवश्यकता है? सामान्य तौर पर पंजाब के लोग और विशेष रूप से किसान, मेरी साख को जानते हैं. मैं तीन कृषि कानूनों का विरोध करने और किसानों के विरोध का समर्थन करने वाले पहले लोगों में से था. भले ही मुझ पर कुछ भी आरोप लगाया जा सकता है, मगर निश्चित रूप से पंजाब और पंजाबियों के हितों से समझौता करने का आरोप नहीं.’

कांग्रेस में अध्यक्ष पद के लिए चुनाव पर क्या बोले अमरिंदर
यह पूछे जाने पर कि वह अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस के चुनाव को लेकर क्या सोचते हैं, कैप्टन ने कहा कि मैं इस पर टिप्पणी करना नहीं चाहता हूं क्योंकि अब मुझे पार्टी छोड़े लगभग एक साल हो गया है. दोबारा पूछे जाने पर उन्‍होंने कहा कि क्‍या आप मानते हैं कि वहां कोई चुनाव होने जा रहा है? क्‍या कभी चुनाव हुए हैं? देश भर से प्रस्ताव आने शुरू हो गए हैं या आने लगे हैं कि अध्‍यक्ष ऐसा होना चाहिए. इसके बाद जब उनसे पूछा गया कि क्या आपके कहने का मतलब यह है कि यह सब 10 जनपथ से कंट्रोल हो रहा है? इस सवाल के जवाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि आप सही निष्कर्ष निकालने के लिए पर्याप्त बुद्धिमान हैं. आखिरकार, यह पहली बार नहीं हो रहा है.

राहुल और गहलोत पर अमरिंदर सिंह ने क्या कहा
आगे अमरिंदर सिंह से पूछा गया कि लोगों के मन में सवाल है कि अगर अशोक गहलोत कांग्रेस अध्‍यक्ष बनेंगे तब क्या वे पार्टी को नियंत्रित करेंगे? इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा, ‘इसका जवाब आपके प्रश्न में ही है. जब अध्‍यक्ष के वास्तविक अथॉरिटी को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं, तो यह स्पष्ट है कि शो (पार्टी) कौन चलाएगा. जब उनसे पूछा गया कि तो क्या राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाया जाना चाहिए? इस पर अमरिंदर सिंह ने कहा कि इसका सबसे अच्छा जवाब राहुल गांधी ने खुद दे दिया है, आप मुझसे क्यों पूछ रहे हैं? अंत में जब कैप्टन से पूछा गया कि क्या अशोक गहलोत एक अच्छे विकल्प हैं, तो अमरिंदर सिंह ने सवाल किया कि आखिर किसके लिए अच्छा है? कांग्रेस या…जो उन्हें अध्यक्ष बनाना चाहते हैं.

Tags: Captain Amarinder Singh, Congress, Rahul gandhi

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर