कैप्‍टन अमरिंदर ने PM को लिखा पत्र, 'नशे से निपटने में केंद्र करे सहयोग'

News18.com
Updated: June 2, 2019, 7:55 PM IST
कैप्‍टन अमरिंदर ने PM को लिखा पत्र, 'नशे से निपटने में केंद्र करे सहयोग'
पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो)

अमरिंदर सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा कि यह गंभीर मुद्दा है और इससे निपटने के लिए ठोस कदम उठाने की जरुरत है.

  • News18.com
  • Last Updated: June 2, 2019, 7:55 PM IST
  • Share this:
पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने नशे से निपटने के लिए फिर राष्‍ट्रीय नीति बनाने की मांग को दोहराया है. अमरिंदर सिंह ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर इस मामले में मदद मांगी है. उन्‍होंने पत्र में अनुरोध किया है कि प्रधानमंत्री गृह, सामाजिक न्‍याय एवं अधिकारिकता और स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय को इससे निपटने की सलाह दें.

अमरिंदर सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा कि यह गंभीर मुद्दा है और इससे निपटने के लिए ठोस कदम उठाने की जरुरत है. इसके साथ ही उन्‍होंने इसपर प्रधानमंत्री को निजी तौर पर हस्‍तक्षेप करने का भी अनुरोध किया. उन्‍होंने ऐसे कदम उठाने के लिए कहा जो नशा मुक्ति और रोकथाम के घटकों पर केंद्रित हो.

ये भी पढ़ें: रकम ट्रांसफर कराने को भटक रहीं शहीद की मां, बैंक मैनेजर ने मांगी 50 हजार की रिश्वत

अमरिंदर सिंह ने कहा कि मादक पदार्थों की समस्‍या से कई राज्‍य जूझ रहे हैं. इसलिए इसपर राष्‍ट्रीय नीति बनाने पर सभी को जोर देना चाहिए. इसपर सबको एक समान दृष्टिकोण अपनाना चाहिए. अमरिंदर सिंह का कहना है कि नीति बनाने और इसे लागू करने के लिए एक प्रभावी तंत्र बनाने की जरुरत है.

ये भी पढ़ें: पंजाब सरकार में कई मंत्री लेकिन अंगुली सिर्फ मुझ पर उठती है: नवजोत सिंह सिद्धू

इसके लिए उन्‍होंने केंद्र को पूरा सहयोग देने की भी इच्‍छा जताई है. इसके साथ ही 'नार्को आतंकवाद' पर उन्‍होंने कहा कि ये पंजाब के लिए गंभीर खतरा है. क्‍योंकि पंजाब की पाकिस्‍तान से 553 किलोमीटर लंबी सीमा है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 2, 2019, 7:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...