Home /News /nation /

amarnath yatra 2022 first set of pilgrims depart

बाबा अमरनाथ की यात्रा शुरू, जम्मू से कड़ी सुरक्षा के बीच पहला जत्था रवाना


उपराज्यपाल मनोज सिन्हा नेबाबा अमरनाथ की यात्रा रवाना होने से पहले पूजा अर्चना की (फोटो- @OfficeOfLGJandK)

उपराज्यपाल मनोज सिन्हा नेबाबा अमरनाथ की यात्रा रवाना होने से पहले पूजा अर्चना की (फोटो- @OfficeOfLGJandK)

Amarnath Yatra 2022: इस साल अमरनाथ यात्रा के लिए अब तक करीब तीन लाख तीर्थयात्रियों ने पंजीकरण कराया है. सरकार ने इस साल तीर्थयात्रियों के लिए एक रेडियो आधारित सत्यापन (आरएफआईडी) प्रणाली शुरू की है, ताकि रास्ते में उनकी आवाजाही पर नजर रखी जा सके.

अधिक पढ़ें ...

जम्मू. बाबा अमरनाथ की यात्रा का पहला जत्था आज जम्मू से रवाना हो गया. भारी संख्या में श्रद्धालु इस बार बाबा अमरनाथ की यात्रा पर पहुंचे हैं. जम्मू के शिविर में उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने यात्रा के पहले जत्थे को झंडी दिखाकर रवाना किया. इस दौरान पूजा अर्चना भी की गई. बम-बम भोले’, ‘जय बाबा बर्फानी की’ जैसे कई जयकारों के साथ सैकड़ों उत्साही श्रद्धालु मंगलवार को आतंकी खतरों की आशंका के बावजूद अमरानथ यात्रा के लिए जम्मू के आधार शिविर पहुंचे.

हमेशा की तरह इस बार भी श्रद्धालुओं में यात्रा को लेकर भारी उत्साह है. उत्तर प्रदेश से पहुंचे श्रद्धालुओं के साथ न्यूज़18 इंडिया ने बातचीत की. श्रद्धालुओं का कहना है कि वो पिछले 3 साल से यात्रा का इंतजार कर रहे थे और इस बार सभी लोग पहुंचे हैं. उन्होंने आगे कहा कि कि वो बाबा से देश में सुख शांति की कामना करेंगे.

सुरक्षा के कड़े प्रबंध 
जम्मू में बाबा अमरनाथ यात्रा के आधार शिविर में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं. पहला जत्था रवाना होने से पहले सभी सुरक्षाबलों ने आधार शिविर के भीतर सभी गाड़ियों की जांच की. अलग-अलग एजेंसियों ने कड़ी पूछताछ के बाद गाड़ियों को रवाना किया. आतंकी हमले के खतरे को देखते हुए इस बार अलर्ट जारी किया गया है और सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. जम्मू से लेकर कश्मीर तक श्रद्धालु कड़ी सुरक्षा के बीच यात्रा के लिए पहुंचेंगे.

उपराज्यपाल ने किया रवाना
उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने विधिवत रूप में बाबा अमरनाथ की यात्रा रवाना होने से पहले पूजा अर्चना की और फिर शिव के भक्त जनों के मंत्र उच्चारण के बाद यात्रा को रवाना किया गया. जम्मू के आधार शिविर में भारी संख्या में श्रद्धालु इस बार पहुंचे हुए हैं. यात्रा की शुरुआत 30 जून से परंपरागत दोहरे मार्ग से होगी. एक मार्ग दक्षिण कश्मीर के पहलगाम में 48 किलोमीटर लंबा नूनवान है. दूसरा मध्य कश्मीर के गांदरबल में 14 किलोमीटर लंबा बालटाल मार्ग है.

 11 अगस्त को खत्म होगी यात्रा
अधिकारियों ने कहा कि 3,000 से अधिक तीर्थयात्री जम्मू पहुंचे हैं और उन्हें आधार शिविर और विभिन्न आवास केंद्रों में रखा गया है, करीब 400 साधु भी यात्रा के लिए राम मंदिर शिविर आए हैं. साधु समेत श्रद्धालुओं का पहला जत्था यात्रा की आधिकारिक घोषणा के एक दिन पहले कश्मीर स्थित आधार शिविर के लिए रवाना होगा. यात्रा का समापन परंपरा के अनुरूप रक्षा बंधन के दिन 11 अगस्त को होगा, (भाषा इनपुट के साथ)

Tags: Amarnath Yatra, LG Manoj Sinha

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर