Assembly Banner 2021

मुख्तार अंसारी की पेशी में इस्तेमाल एंबुलेंस ढाबे के पास से बरामद, 100 जवानों के साथ आज रोपड़ पहुंचेगी यूपी पुलिस

गैंगस्टर व बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी.

गैंगस्टर व बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी.

Mukhtar Ansari News: जिस जगह से यह एंबुलेंस बरामद की गई वहीं पास में ढाबा मालिकों ने बताया कि इसे कोई व्यक्ति रात में वहां छोड़ कर चला गया था.

  • Share this:
चंडीगढ़. गैंगस्टर व बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी (gangster and leader Mukhtar Ansari) की पेशी के लिए इस्तेमाल एंबुलेंस को रविवार करीब 9 बजे जेल परिसर से 10 किमी दूर चंडीगढ़-ऊना हाइवे (Chandigarh-Una highway) पर गुरु नानक टूरिस्ट ढाबे के बाहर से पुलिस ने बरामद कर लिया है. इस एंबुलेंस के कागजात फर्जी पाए जाने के बाद यूपी पुलिस (UP police) इसे बरामद करने के लिए रोपड़ पहुंची थी. जिस जगह से यह एंबुलेंस बरामद की गई वहीं पास में ढाबा मालिकों ने बताया कि इसे कोई व्यक्ति रात में वहां छोड़ कर चला गया था.

100 जवानों के साथ अंसारी को लेने पहुंचेगी यूपी पुलिस
बीते रविवार को यूपी के हैदरगढ़ के एसएचओ (SHO of Hydergarh) के नेतृत्व में 5 सदस्यीय पुलिस टीम शाम 7 बजे इनोवा गाड़ी से जेल के पास पहुंची थी. यह टीम खासकर एंबुलेंस की बरामदगी के लिए भेजी गई थी. हालांकि अंसारी को यूपी ले जाने वाली टीम 100 जवानों के साथ आज सोमवार को रोपड़ पहुंचेगी. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यूपी पुलिस की टीम ने भी यह माना कि वे एंबुलेंस को बरामद करने और जेल की लोकेशन देखने के लिए रोपड़ पहुंचे हैं. डीएसपी यूसी चावला का कहना है कि पंजाब सरकार (Punjab government) ने यूपी सरकार (UP government) को पत्र लिखकर कहा है कि 8 अप्रैल तक वह अंसारी को रोपड़ जेल से ले जा सकते हैं, जबकि 12 अप्रैल को उसकी पेशी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ही करवा दी जाएगी.
Youtube Video

बाराबंकी पुलिस ने अंसारी की पेशी में इस्तेमाल एंबुलेंस को लेकर एक मामला दर्ज किया था. जिसका रजिस्ट्रेशन नंबर UP 41 AT 7171 है. यह वाहन बाराबंकी परिवहन कार्यालय में पंजीकृत मिला था. परिवहन कार्यालय और बाकी संबंधित विभागों से इस एंबुलेंस के संबंध में सूचना इकट्ठा की गई. जिसमें सामने आया कि इस वाहन को रजिस्टर्ड कराने के लिए जो कागजात जैसे मतदाता पहचान पत्र, पैन कार्ड और दूसरे डॉक्यूमेंट्स जमा कराए गए थे, वे सभी फर्जी निकले. यह डॉक्यूमेंट जिस पते पर दर्ज थे वह पता भी नहीं मिला. जिसके बाद मामले में 419, 420, 467, 466 और 471 की धाराओं में डॉ. अलका राय पर मुकदमा दर्ज किया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज