अमेरिका ने इराक में की एयर स्ट्राइक, आईएस के ठिकानों पर 36 हजार किलो बम गिराए

News18Hindi
Updated: September 12, 2019, 5:48 AM IST
अमेरिका ने इराक में की एयर स्ट्राइक, आईएस के ठिकानों पर 36 हजार किलो बम गिराए
अमेरिका ने एफ-35 और एफ-15 लड़ाकू विमानों से आईएस के ठिकानों पर बम गिराए. (फाइल फोटो)

ये सभी बम अमेरिका (America)ने अपने आधुनिक एफ-35 और एफ-15 लड़ाकू विमानों (Fighter planes) से गिराए गए हैं. इस ऑपरेशन का मकसद आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (Islamic State) के ठिकानों को पूरी तरह से नष्ट करना था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2019, 5:48 AM IST
  • Share this:
अमेरिका (America) ने एक बार फिर इराक (Iraq) के आईएस (ISIS) ठिकानों पर एयर स्ट्राइक (Air Strike) की. आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (Islamic State) के ठिकानों पर की गई एयरस्ट्राइक के दौरान अमेरिकी सेना ने 36 हजार किलो बम गिराए. ये सभी बम अमेरिका ने अपने आधुनिक एफ-35 और एफ-15 लड़ाकू विमानों से गिराए गए हैं. अभी तक की खबर के मुताबिक अमेरिका ने ये बम तिगड़ी नदी में मौजूद आईलैंड टापू पर गिराए हैं. ये हमला आईएस के खिलाफ अमेरिका की सेना की ओर से चलाए गए अभियान के तहत किया गया है. इस हमले में अमेरिकी सेना का साथ इराकी सुरक्षाबल भी दे रहे हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस ऑपरेशन का मकसद आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के ठिकानों को पूरी तरह से नष्ट करना था. अमेरिका को इस बात की खबर थी कि इराक के मोसुल में सीरिया और जजीरा रेगिरस्तान इलाके के अलावा आईएसआईएस के आतंकियों ने किर्कुक और मखमौर में अपने आतंकी ठिकाने तैयार कर लिए हैं. कनस आईलैंड, कयारा स्थिति अमेरिका के ऑपरेटिंग बेस के पास ही मौजूद है.

America, Iraq, Air Strike, Terrorists, Islamic State,
ये हमला आईएस के खिलाफ अमेरिका की सेना की ओर से चलाए गए अभियान के तहत किया गया है.


अमेरिका और इराक के बीच हुए समझौते के बाद से इस इलाके में सेना ने दूसरी बार मैदानी स्तर पर इतना बड़ा हमला किया है. गौरतलब है कि इराकी प्रधानमंत्री हैदर-अल-अबादी ने साल 2017 में आईएस पर जीत हासिल करने और आईएस को पूरी तरह से खात्मा करने दावा किया था, लेकिन ऐसा हुआ नहीं. बताया जाता है कि इस क्षेत्र में आईएस से काफी संख्या में स्लीपर सेल बना रखे हैं. इराक के प्रधानमंत्री को लगा था कि आईएस अब पूरी तरह से खत्म हो गया है लेकिन इन स्लीपर सेल ने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट को फिर से जिंदा कर दिया.

America, Iraq, Air Strike, Terrorists, Islamic State,
अमेरिका और इराक के बीच हुए समझौते के बाद से इस इलाके में सेना ने दूसरी बार मैदानी स्तर पर इतना बड़ा हमला किया है.


पहली बार एफ-35 एयरक्राफ्ट का हुआ इस्तेमाल
पहली बार आईएस का मुताबला करने के लिए अमेरिका ने एफ-35 एयरक्राफ्ट का इस्तेमाल किया है. एफ-35ए एयरक्राफ्ट अपने साथ 8,100 किलोग्राम जबकि एफ-15 अपने साथ 13,380 किलो हथियार ले जाने में सक्षम है. इससे पहले अमेरिका ने एफ-35 लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल पिछले साल सितंबर में अफगानिस्तान में तालिबान के खिलाफ चलाए गए अभियान में किया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 5:48 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...