'एकादशी' के कारण अमेरिका 39वें प्रयास में चांद पर पहुंचा था : संभाजी भिडे

संभाजी भिडे (Sambhaji Bhide) ने इससे पहले नासिक (Nasik) में कहा था, 'उनके बाग का आम खाने पर कई दंपतियों को पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई है.'

News18Hindi
Updated: September 10, 2019, 9:40 AM IST
'एकादशी' के कारण अमेरिका 39वें प्रयास में चांद पर पहुंचा था : संभाजी भिडे
हिंदूत्ववादी नेता संभाजी भिडे.
News18Hindi
Updated: September 10, 2019, 9:40 AM IST
सोलापुर. हिंदूत्ववादी नेता संभाजी भिडे (Sambhaji Bhide) ने सोमवार को बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि अमेरिका (America) चांद पर अपना अंतरिक्षयान भेजने में 39वें प्रयास में सफल रहा था. वो भी इस प्रयास में इसलिए सफल रहा था क्योंकि उस दिन 'एकादशी' थी. इससे पहले भी वो कई विवादित बयानों की वजह से चर्चा में रहे हैं. उनका ये हालिया बयान चंद्रयान 2 (Chandrayaan 2) अभियान के अंतिम समय में लैंडर विक्रम से इसरो का संपर्क टूटने के संदर्भ में आया है. संभाजी भिडे लंबे समय तक आरएसएस में रहे हैं.

नासा को भारतीय काल गणना से मिली थी सफलता!
उन्होंने सोलापुर में एक कार्यक्रम में जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा, 'अमेरिका ने शुरुआत में 38 बार चांद की सतह पर अपना अंतरिक्षयान भेजने का प्रयास किया था, जिसमें वो असफल रहा था." आगे उन्होंने बड़ा बयान देते हुए कहा कि लगातार मिली असफलता के बाद अमेरिका के एक वैज्ञानिक ने भारतीय काल गणना अपनाने की सलाह दी थी. इसके बाद अमेरिका ने इसका अनुपालन किया और एकादशी के दिन अपने अंतरिक्षयान को चांद पर भेजा. इसी का फल था कि अमेरिका अपने 39वें प्रयास में सफल रहा.

आप को बता दें कि भिडे ने इससे पहले नासिक में कहा था, 'उनके बाग का आम खाने पर कई दंपतियों को पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई है.'

ये भी पढ़ें: 

Chandrayaan: क्या चांद पर फिर खड़ा हो पाएगा 'घायल' विक्रम, ISRO के पास हैं सिर्फ 12 दिन
'विक्रम' को पैरों पर खड़ा करने के लिए NASA की मदद लेगा इसरो?
Loading...

चीन के लोगों ने की Chandrayaan-2 की तारीफ, वैज्ञानिकों से कहा- उम्मीद न छोड़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 10, 2019, 8:43 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...