अपना शहर चुनें

States

चीन से निपटने में अमेरिका बना भारत का मददगार, नौसेना को देगा 3 ताकतवर बंदूकें

इन बंदूकों को समुद्र में तैनात युद्धपोतों पर भेजा जाना है. (प्रतीकात्मक तस्वीर) साभार- SpokespersonNavy Twitter)
इन बंदूकों को समुद्र में तैनात युद्धपोतों पर भेजा जाना है. (प्रतीकात्मक तस्वीर) साभार- SpokespersonNavy Twitter)

Defence Update: भारतीय नौसेना (Indian Navy) अपने युद्धपोतों (Warships) को आधुनिक और ताकतवर बनाने की तैयारियों में जुटी हुई है. कुछ दिनों पहले ही सरकार ने सेना को 10 जहाजी ड्रोन खरीदने का फैसला किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 6, 2021, 5:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चीन (China) के साथ तनाव के बीच अमेरिका (America) ने भारत की मदद की है. अमेरिका ने अपनी नौसेना के हथियारों में से तीन 127 मीडियम कैलिबर बंदूकें भारत को देने का फैसला किया है. अमेरिका की तरफ से ये बंदूकें 3800 करोड़ रुपये की डील के तहत मिलने वाली हैं. खास बात है कि भारत लगातार अमेरिका के साथ अपने सैन्य संबंध मजबूत कर रहा है. हाल ही में भारत ने अमेरिका से दो ड्रोन भी लीज पर लिए हैं.

इन बंदूकों को समुद्र में तैनात युद्धपोतों पर भेजा जाना है. भारत ने अमेरिकी सरकार के नाम एक लैटर ऑफ रिक्वेस्ट जारी किया था. इस पत्र के जरिए भारत ने 11 127 एमएम मीडियम कैलिबर बंदूकों की मांग की थी. इन बंदूकों को भारतीय नौसेना के बड़े युद्धपोतों पर भेजा जाना है. समाचार एजेंसी को सूत्रों ने बताया कि अमेरिका अपने हथियारों में से तीन बंदूकें भारतीय नौसेना को देगी, ताकि भारतीय युद्धपोतों तक जल्द से जल्द हथियार भेजे जा सकें.

अमेरिका ने फिलहाल नई बंदूकों का उत्पादन शुरू नहीं किया है. नई बंदूकों को बनाने का काम शुरू होने के बाद जैसे ही वे डिलीवरी के लिए तैयार होंगी, अमेरिकी नौसेना के हिस्से की बंदूकों को वापस बुला लिया जाएगा. मीडियम कैलिबर बंदूकें भारतीय सेना में नई होंगी.



यह भी पढ़ें: हिंद महासागर में चीन को मुंहतोड़ जवाब देगा भारत, युद्धपोतों पर तैनात होंगे ड्रोन
खास बात है कि भारतीय नौसेना ने अमेरिका से अच्छे संबंध स्थापित कर लिए हैं. वहीं, भारत ने भी बीते कुछ समय में अमेरिका से बड़ी मात्रा में हथियारों का अधिग्रहण किया है. निगरानी के लिए इस्तेमाल किए जा रहे हवाई जहाजों की जगह P-8I जहाज ने ले ली है. वहीं, अमेरिका से मिल रहे MH-60 रोमियोज हैलीकॉप्टर्स, सीकिंग चॉपर्स की जगह लेंगे.

भारतीय नौसेना अपने युद्धपोतों को आधुनिक और ताकतवर बनाने की तैयारियों में जुटी हुई है. कुछ दिनों पहले ही सरकार ने सेना को 10 जहाजी ड्रोन खरीदने का फैसला किया था. नौसेना ने यह कदम चीन के साथ जारी तनाव को देखते हुए उठाया था. वहीं, इन ड्रोन्स को हिंद महासागर में दुश्मनों की निगरानी और पानी में जारी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए तैनात किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज