• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • प्रचंड जीत के बाद TIME भी हुई मोदी की फैन, लिखा- आपने जो किया, वो दशकों में नहीं हुआ

प्रचंड जीत के बाद TIME भी हुई मोदी की फैन, लिखा- आपने जो किया, वो दशकों में नहीं हुआ

'टाइम' ने लिखा- 'पीएम मोदी ने जिस तरह से देश को संगठित किया है, वह कोई और पीएम दशकों में नहीं कर सका है.'

  • Share this:
    लोकसभा चुनाव 2019 में नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (BJP) की प्रचंड जीत के बाद अमेरिका की प्रतिष्ठित मैगज़ीन 'टाइम' (TIME) ने अपने सुर बदल लिए हैं. टाइम ने अब मोदी की तारीफों के कसीदें पढ़े हैं. मैग्ज़ीन ने अपने हालिया एडिशन में नरेंद्र मोदी पर एक लंबा चौड़ा आर्टिकल लिखा है. इसमें मोदी की तारीफ करते हुए लिखा गया है कि आपने भारत को एकजुट किया. देश में जाति और धर्म की खाई कम कर दी. 'टाइम' ने लिखा- 'पीएम नरेंद्र मोदी ने जिस तरह से देश को संगठित किया है, वह कोई और पीएम दशकों में नहीं कर सका है.'

    मोदी देश को जोड़ने वाले PM
    मैगजीन ने लिखा- 'दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में भारत में 600 मिलियन से ज्‍यादा वोटर्स ने मतदान में बढ़-चढ़कर हिस्‍सा लिया. इन वोटर्स की वजह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बीजेपी को एक प्रचंड जीत हासिल हुई, लेकिन यह चुनाव कोई औपचारिकता नहीं थी. कड़ी आलोचना के बाद भी मोदी ने जिस तरह से भारतीय मतदाताओं को संगठित किया, वह पिछले पांच दशकों में कोई और पीएम नहीं कर पाया.'

    किस-किसको बनाएं मंत्री, मोदी और अमित शाह के बीच हुई 5 घंटे माथापच्ची

    'टाइम' मैगजीन के मुताबिक‍, आखिरी बार सन् 1971 में कोई भारतीय पीएम दोबारा निर्वाचित हो सका था. पीएम मोदी के गठबंधन ने 50 प्रतिशत से बस कुछ ही कम राष्‍ट्रीय वोट हासिल करने में सफलता पाई. बता दें कि पीएम मोदी की अगुवाई में बीजेपी ने हाल ही में खत्‍म हुए लोकसभा चुनावों में 305 सीटें हासिल की हैं. वहीं, एनडीए गठबंधन को चुनावों में 352 सीटें मिली हैं.


    कब लिखा गया आर्टिकल?
    मोदी पर लिखा गया ये आर्टिकल 'टाइम' की वेबसाइट पर मंगलवार को प्रकाशित हुआ. इसमें एक सवाल पूछा गया है, "कैसे यह कथित विभाजनकारी शख्सियत न केवल सत्ता में कायम रह पाया है, बल्कि उसके समर्थक और भी ज्यादा बढ़ गए हैं?" इस सवाल जवाब में लेख में कहा गया है, "एक प्रमुख कारक यह रहा है कि मोदी भारत की सबसे बड़ी कमी: जातिगत भेदभाव को पार करने में कामयाब रहे हैं." इस आर्टिकल के लेखक मनोज लाडवा ने मोदी के एकजुटता के सूत्रधार के रूप में उभरने का श्रेय उनके पिछड़ी जाति में पैदा होने को दिया है.

    मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे 6000 मेहमान, तरह-तरह के पकवानों की तैयारी

    आर्टिकल में क्या लिखा है?
    आर्टिकल में लाडवा ने लिखा, "नरेंद्र मोदी का जन्म भारत के सबसे वंचित सामाजिक समूहों में से एक में हुआ था. बिल्कुल शीर्ष पर पहुंचते हुए, वह आकांक्षापूर्ण कामगार वर्ग को प्रतिबिंबित करते हैं और अपने देश के सबसे गरीब नागरिकों के रूप में अपनी पहचान पेश कर सकते हैं, जैसा कि आजादी के बाद 72 सालों में सबसे ज्यादा समय भारत की सत्ता पर रहने वाला नेहरू-गांधी राजनीतिक वंश कभी नहीं कर सकता."

    किया इंदिरा गांधी का जिक्र
    उन्होंने 1971 में इंदिरा गांधी को मिली भारी जीत का जिक्र करते हुए कहा, "लेकिन, फिर भी उनके पहले कार्यकाल के पूरे समय के दौरान और उनकी इस बार की चुनावी दौड़ के दौरान मोदी की नीतियों के खिलाफ कड़ी और अक्सर अनुचित आलोचनाओं के बावजूद, पिछले पांच दशकों में कोई भी प्रधानमंत्री भारत के मतदाताओं को इतना एकजुट नहीं कर पाया, जितना उन्होंने किया है." बता दें कि लाडवा इंडिया ग्लोबल बिजनेस प्रकाशित करने वाली ब्रिटेन की मीडिया कंपनी इंडिया इंक के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) हैं.

    कॉमस्कोर: News18 हिंदी ने हिंदुस्तान, भास्कर, NBT को पछाड़ा

    पिछले आर्टिकल पर हुआ था विवाद
    इस आर्टिकल से पहले 'टाइम' में प्रकाशित हुए आतिश तासीर के आर्टिकल पर काफी विवाद हुआ था. चुनाव के दौरान आए इस आर्टिकल में नाव प्रचार के दौरान मोदी के विरोधियों द्वारा खूब इस्तेमाल किया गया. मोदी के आलोचकों ने इसे एक वैश्विक मीडिया पावरहाउस द्वारा उन्हें 'विभाजनकारी' के रूप में आरोपित करना करार दिया.

    'टाइम' मैग्जीन के बारे में
    हकीकत में 'टाइम' एक संकटग्रस्त मैग्ज़ीन है, जिसका स्वामित्व एक ही साल में दो हाथों में जा चुका है. पिछले साल मार्च में इसे बेटर होम्स और गार्डन्स जैसी मैग्जीन्स के प्रकाशक मेरेडिथ ने खरीदा था. उसके बाद सितंबर में यह फिर बिकी, जब इसे सेल्सफोर्स के संस्थापक और टेक उद्यमी मार्क बेनिऑफ तथा उनकी पत्नी ने खरीदा था. (PTI इनपुट के साथ)

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज