HAL के राजस्व और मुनाफे में हुई खास बढ़त, 2017-18 के वित्तीय वर्ष में किया 18,283.86 रुपए का कारोबार

HAL के राजस्व और मुनाफे में हुई खास बढ़त, 2017-18 के वित्तीय वर्ष में किया 18,283.86 रुपए का कारोबार
HAL का 2017-18 में कारोबार रिकॉर्ड स्तर पर, शुद्घ लाभ 2,070.41 करोड़ रुपए (प्रतीकात्मक तस्वीर)

एचएएल ने शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद पहली बार शुक्रवार को अपनी सालाना आम बैठक आयोजित की. यह कंपनी की 55वीं वार्षिक बैठक थी.

  • भाषा
  • Last Updated: September 29, 2018, 3:28 PM IST
  • Share this:
तमाम चुनौतियों के बावजूद रक्षा क्षेत्र की सरकारी कंपनी हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के राजस्व और मुनाफे में महत्वपूर्ण वृद्धि हुयी है. कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी.

कंपनी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक (सीएमडी) आर माधवन ने बयान में कहा, 'वित्त वर्ष 2017-18 में हमने 18,283.86 करोड़ रुपये का कारोबार किया. यह अब तक सर्वोच्च वार्षिक कारोबार है. वर्ष 2016-17 में 17,603.79 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ था.'

एचएएल ने शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद पहली बार शुक्रवार को अपनी सालाना आम बैठक आयोजित की. यह कंपनी की 55वीं वार्षिक बैठक थी.



यह भी पढ़ें: शरद पवार ने राफेल पर किसी को भी क्लीन चिट नहीं दी है : प्रफुल्ल पटेल



माधवन ने कहा कि 2017-18 में एचएएल का कर पूर्व लाभ 3,322.84 करोड़ रुपये रहा, जो कि इससे पिछले वर्ष 3,582.58 करोड़ रुपये था. वहीं, 2017-18 में कंपनी का शुद्ध लाभ 2,070.41 करोड़ रुपये रहा.

माधवन ने कहा कि एचएएल ने आलोच्य वर्ष के दौरान 40 विमानों और हेलीकॉप्टरों का उत्पादन किया. इसमें फिक्सड विंग में सुखोई-30 एमकेआई, एलसीए तेजस और डॉर्नियर डीओ-228 और रोटरी विंग में एएलएच ध्रुव और चीतल हेलीकॉप्टर शामिल हैं. इस दौरान कंपनी ने 105 नए इंजन तैयार किए, 220 विमानों और हेलकापटरों और 550 इंजनों की मरम्मत की.

कंपनी ने भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रमों के लिए 146 ढांचे भी तैयार किए.

यह भी पढ़ें:राजनाथ सिंह बोले- जनता को गुमराह करने की कोशिश में 'रा-फेल' होंगे राहुल गांधी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading