दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच कैसे होगा मॉनसून सत्र, सांसदों ने जताई चिंता

दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच कैसे होगा मॉनसून सत्र, सांसदों ने जताई चिंता
सदन में सांसदों के बैठने की जगह बदली जा सकती है. मकसद है सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना

राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू (M. Venkaiah Naidu) अलग-अलग नेताओं और पार्लियामेंट के स्टाफ से मॉनसून सत्र (Monsoon Session) के संचानल को लेकर चर्चा कर रहे हैं.

  • Share this:
(पायल मेहता)

नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में संसद के मॉनसून सत्र ( Parliament session) को लेकर इन दिनों लगातार बैठकों का दौर जारी है. लेकिन दिल्ली में कोरोना (Coronavirus) के बढ़ते मामले को देखते हुए सांसदों की चिंता बढ़ गई है. खासकर उन सांसदों की जिन्हें सत्र में भाग लेने के लिए दूसरे राज्यों से दिल्ली आना होगा. आखिर कैसे सत्र का आयोजन किया जाएगा, इसको लेकर उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू (M. Venkaiah Naidu) अलग-अलग नेताओं और पार्लियामेंट के स्टाफ से चर्चा कर रहे हैं.

कहां होगा सत्र?
सूत्रों का कहना है कि मॉनसून सत्र का आयोजन पार्लियामेंट कॉप्लेक्स में ही होगा, न किसी किसी दूसरी जगह. दरअसल पिछले कुछ दिनों से इस बात की अटकलें लगाई जा रही हैं कि इस बार संसद संत्र विज्ञान भवन में भी कराए जा सकते हैं. कहा जा रहा है कि विज्ञान भवन में जगह की कमी हो सकती है. इसके अलावा वहां प्रधानमंत्री के लिए सुरक्षा देना भी एजेंसियों के लिए आसान नहीं होगा. सूत्रों ने न्यूज18 को बताया कि संसद भवन में प्रधानमंत्री, उप राष्ट्रपति और लोकसभा अध्यक्ष के लिए अलग गेट है. ऐसा विज्ञान भवन में संभव नहीं होगा. इसके अलवा ट्रांसलेशन सिस्टम और बाकी उपकरणों को भी वहां शिफ्ट करना मुश्किल चुनौती होगी.
बदली जा सकती है बैठने की जगह


सदन में सांसदों के बैठने की जगह बदली जा सकती है. मकसद है सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना. इसके लिए सेंट्रल हॉल और बाल योगी सभागार का इस्तेमाल किए जाने पर विचार किया जा रहा है. मानसून सत्र के संचालन को लेकर तैयार विकल्पों पर राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू बैठकें कर रहे हैं. राज्यसभा सचिवालय ने उनके समक्ष कई तरह के विकल्पों को रखा है.

ये भी पढ़ें:-कानपुर एनकाउंटर: चौबेपुर के विकरू गांव में ढहाया गया विकास दुबे का मकान

कई विकल्पों पर विचार
राज्यसभा की कार्यवाही के लिए भी कई विकल्प सुझाए जा रहे हैं. इसमें नीचे की सीटों के अलावा ऊपर की गैलरियों का भी सदस्यों के बैठने में उपयोग किया जा सकता है, लेकिन इसमें सिर्फ 125 लोग बैठ सकते हैं. इसके अलावा कुछ सदस्यों को सेंट्रल हाल और बाल योगी सभागार में स्क्रीन के सामने बैठाया जा सकता है. संसद स्त्र के लिए अभी तारीखों का ऐलान नहीं किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading