कर्नाटक में सिद्धारमैया ने बुलाई कांग्रेस विधायकों की बैठक, चार बागियों पर टिकी नजर

बैठक से पहले सिद्धारमैया ने पार्टी के सभी विधायकों को नोटिस भेजा है. इस नोटिस में लिखा है कि बैठक में अनुपस्थिति को गंभीरता से लिया जाएगा और एंटी-डिफेक्शन लॉ के तहत कार्रवाई भी की जा सकती है.

News18Hindi
Updated: January 21, 2019, 11:18 AM IST
कर्नाटक में सिद्धारमैया ने बुलाई कांग्रेस विधायकों की बैठक, चार बागियों पर टिकी नजर
सिद्धारमैया की फाइल फोटो
News18Hindi
Updated: January 21, 2019, 11:18 AM IST
कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया ने सोमवार को एक बार फिर कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई है. हॉर्स ट्रेडिंग की कोशिश की खबरों के बीच कांग्रेस ने अपने विधायकों को बेंगलुरु के रिजॉर्ट में बंद रखा है. सबकी नजर पार्टी के चार बागी विधायकों पर है जिन्हें विधायक दल की पिछली बैठक में हिस्सा नहीं लिया था.

कांग्रेस ने एक दिन पहले ही चारों बागी विधायकों को नोटिस भेजकर उनके बैठक में शामिल नहीं होने की वजह पूछी है. कांग्रेस ने चारों विधायकों को चेतावनी भी दी है कि उनके खिलाफ एंटी-डिफेक्शन कानून के तहत कार्रवाई की जा सकती है.

कर्नाटक: कांग्रेसी विधायकों में रिजॉर्ट में 'मारपीट', एक अस्‍पताल में भर्ती, पार्टी बोली- छाती में दर्द था



हाल ही में, विधायक आनंद सिंह और जेएन गणेश के बीच ईगलटन रिजॉर्ट में हाथापाई हो गई थी. कांग्रेस नेता जमीर अहमद ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा कि इसी वजह से यह बैठक बुलाई गई है.

इससे पहले शुक्रवार को विधायक दल की बैठक बुलाई गई थी. जिसमें रमेश जर्किहोली, बी नागेंद्र, उमेश जाधव और महेश कुमाताहल्ली शामिल नहीं हुए थे. इन चारों के बैठक में नहीं आने से कयास लगने शुरू हो गए थे कि बीजेपी कुमारस्वामी की नेतृत्व वाली सरकार को गिराने के लिए ऑपरेशन कमल चला रही है.

कुमारस्वामी बोले- कांग्रेस से कहा था निर्दलीय विधायकों पर भरोसा मत करो

सिद्धारमैया ने सोमवार की बैठक से पहले पार्टी के सभी विधायकों को नोटिस भेजा है. इस नोटिस में लिखा है कि बैठक में अनुपस्थिति को गंभीरता से लिया जाएगा और एंटी-डिफेक्शन लॉ के तहत कार्रवाई भी की जा सकती है.
Loading...

कांग्रेस से उच्च सूत्रों ने शुक्रवार को कहा था कि कम से कम 8 विधायक बीजेपी की तरफ हो गए हैं. हालांकि जेडीएस और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों ने विश्वास जताया है कि उनकी गठबंधन की सरकार पांच साल पूरा करेगी.

कर्नाटक के इस विधायक ने दिखाई कांग्रेस से 'वफादारी', बेटी की शादी छोड़ मीटिंग में हुए शामिल

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...