TMC में 'घर वापसी' की अटकलों के बीच PM ने की मुकुल रॉय से बातचीत

पीएम मोदी और मुकुल रॉय के बीच टेलिफोन पर बातचीत हुई है. (फाइल फोटो)

पीएम मोदी और मुकुल रॉय के बीच टेलिफोन पर बातचीत हुई है. (फाइल फोटो)

पीएम मोदी (Narendra Modi) और मुकुल रॉय (Mukul Roy) के बीच दो मिनट तक चली इस बातचीत के बाद राजनीतिक हलकों में अटकलों का बाजार गर्म हो गया है. क्योंकि यह बातचीत टीएमसी नेता और सांसद अभिषेक बनर्जी के बुधवार शाम को अचानक अस्पताल का दौरा करने के बाद हुई है.

  • Share this:

कोलकाता. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आज सुबह 10.30 बजे मुकुल रॉय (Mukul Roy) से बातचीत की और उनकी पत्नी का हालचाल पूछा. दोनों में कुछ देर तक बातचीत हुई. मोदी और रॉय के बीच दो मिनट तक चली इस बातचीत के बाद राजनीतिक हलकों में अटकलों का बाजार गर्म हो गया है क्योंकि यह बातचीत टीएमसी नेता और सांसद अभिषेक बनर्जी के बुधवार शाम को अचानक अस्पताल का दौरा करने के बाद हुई है.

बीजेपी के सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रॉय को सुबह 10.30 बजे फोन किया और उनकी पत्नी का हालचाल पूछा. उन्होंने बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष को हर तरह की मदद का आश्वासन भी दिया. मुकुल रॉय ने कहा कि यह शिष्टाचार प्रदर्शन वाली बातचीत थी पर इसके बाद राज्य की राजनीतिक में अटकलबाजी शुरू हो गयी है.

खुद भी कोरोना संक्रमित हो गए थे मुकुल रॉय

मुकुल रॉय खुद भी हाल में कोरोना संक्रमित हो गए थे और रिपोर्ट नेगेटिव हो जाने के बाद वa अस्पताल से लौटे. 10 मई को मुकुल रॉय की पत्नी कृष्णा रॉय भी कोविड से ग्रस्त हो गयीं. इसके बाद उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आयी पर फेफड़े में गड़बड़ी होने की वजह से उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज नहीं किया गया.
टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी भी बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय की पत्नी को देखने अपोलो अस्पताल गए जहां वह भर्ती हैं. अभिषेक बनर्जी मुकुल रॉय के बेटे शुभ्रांशु रॉय से अस्पताल में मिले और उनकी मां के जल्द ठीक हो जाने की शुभेच्छा जतायी. मुकुल रॉय और उनके बेटे दोनों ही बीजेपी में शामिल होने से पहले टीएमसी में थे. सूत्रों के अनुसार, शुभ्रांशु ने अपने एक करीबी सहयोगी को बताया कि उन्हें 'खुशी' है कि अभिषेक बनर्जी उनकी बीमार मां से मिलने अस्पताल आए.

2017 में टीएमसी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे

मुकुल रॉय 2017 में टीएमसी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे. उनकी सांगठनिक क्षमता के कारण ही बीजेपी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में 18 सीटें जीतीं. अटकलें लगाई जा रही हैं कि हाल में संपन्न राज्य विधानसभा चुनावों में बीजेपी के खराब प्रदर्शन के बाद अब मुकुल रॉय टीएमसी में वापस आ सकते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज