#Missionpaani से जुड़े आमिर, कहा-पानी को बैंक बैलेंस की तरह सोच-समझ कर करें खर्च

आमिर खान ने यह भी कहा कि जब वे सत्यमेव जयते कर रहे थे तो उन्हें ऐसा लगा था कि पानी ऐसा विषय है, जिस पर काम करना चाहिये.

News18Hindi
Updated: July 4, 2019, 10:03 AM IST
News18Hindi
Updated: July 4, 2019, 10:03 AM IST
इस समय देश में कई इलाके सूखे की मार झेल रहे हैं. देश के कई इलाकों में लोग गर्मी के दिनों में बूंद-बूंद पानी के लिए भी तरस जाते हैं. ऐसे में न्यूज 18 ने 'मिशन पानी' लांच किया है. जिसका मकसद लोगों को पानी बचाने के नए उपायों, पानी से जुड़ी जानकारियों और इसके विचारों के बारे में बताना है. इसी मिशन के तहत अभिनेता आमिर खान ने न्यूज 18 के मैनेजिंग एडिटर किशोर अजवानी से बात की.

आमिर खान ने कहा है कि पीएम ने जो मिशन पानी शुरू किया है, बहुत महत्वपूर्ण है और सरकार का जलशक्ति मंत्रालय बनाना अच्छा कदम है. आमिर खान ने यह भी कहा कि जब वे सत्यमेव जयते कार्यक्रम कर रहे थे तो उन्हें ऐसा लगा था कि पानी ऐसा विषय है, जिस पर काम करना चाहिए.

वॉटर कंजर्वेशन को देना होगा बढ़ावा
मिशन की शुरुआत महाराष्ट्र से की गई है. बड़े पैमाने पर काम करने की कोशिश की जा रही है. आमिर खान ने सुझाव दिया कि जो पानी बारिश के दौरान गांव में बरसता है, उसका संरक्षण किया जाए. उसे धरती के अंदर, ग्राउंड वाटर के तौर पर बचाएं.

उन्होंने कहा कि जहां कम बारिश भी हो रही हो, जितनी भी हो रही हो, उसको समेटा जाए. उन्होंने कहा कि इसमें महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से बहुत सपोर्ट मिला है. वो भी इस पर काम कर रहे हैं. आमिर का मानना है कि हर गांव में ये काम हो तो महाराष्ट्र में स्थिति बदल सकती है, जब तक ये जनआंदोलन नहीं बनेगा, तब तक ये समस्या हल नही होगी.

आमिर का कहना है कि तीन तालाबों को चुना गया है. ये कंप्टीशन शुरू किया गया है गांवो में. लोगों को खेल-खेल में टेक्निकल तरीके से सिखाया जा रहा है, ताकि वो बोर न हो, उन्हें इसकी नॉलेज दी जाती है, हम उनको न तो पैसा देते हैं, न कोई मशीन, सिर्फ हम नॉलेज देते हैं, वो वहां अपने गांव में जाकर दूसरे लोगों को सिखाते हैं.

पानी के संरक्षण में कई चैलेंज भी
Loading...

आमिर ने बताया मिशन पानी में हर स्तर पर काम किया जाता है. हर आदमी को जोड़ना बहुत जरूरी है. आमिर ने कहा कि ऐसा करने में चैलेंज भी होता है. पॉलिटिक्स और जाति की समस्याएं आती हैं. कई बार कुछ पॉलिटिकल पार्टियां झगड़ा करने लगती हैं. जाति के चलते किसी के पास जमीन है, किसी के पास दूसरी सुविधा नहीं है, ये शिकायतें सामने आती हैं.

बचत और सोच-समझकर इस्तेमाल करने से आएगा बदलाव
आमिर ने कहा कि पानी की समस्या से निदान दिलाने के लिए जरूरी है कि एक तरफ पानी जमा करें और बचा कर रखें. साथ ही इसका सोच-समझ कर इस्तेमाल करें, बैंक बैलेंस की तरह. उन्होंने कहा, लोगों को समझना बहुत जरूरी है कि पानी लिमिटेड रिसोर्स है, समझकर यूज नहीं करेंगे तो बाद में पछतावा होगा. पानी की इज्जत नहीं करेंगे तो ये खत्म हो जाएगा.

आमिर ने कहा है कि वॉटर बजट रखना और उसकी प्लानिंग करना बहुत जरूरी है. शहरों में वॉटर हार्वेस्टिंग कर सकते हैं, जब बारिश का पानी आए तो जमा कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि मुंबई में इतनी बारिश होती है लेकिन पानी वेस्ट हो जाता है. मेरी बिल्डिंग में वॉटर हार्वेस्टिंग नहीं है और आज शुरू करेंगे तो एक साल लग जाएगा. लेकिन हर सोसाइटी करे, हर बिल्डिंग करें तो पानी की समस्या पर बहुत फर्क पड़ेगा.

यह भी पढ़ें- मिशन पानी: सूखे की समस्या के बीच मिसाल बना ये गांव, 700 घरों में हैं एक हजार कुएं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 3, 2019, 11:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...