Home /News /nation /

amit shah anti bjp parties journalists and ngos together did tremendous campaign on gujarat riots

बीजेपी विरोधी पार्टियों, पत्रकारों और NGO ने मिलकर गुजरात दंगों पर किया प्रचार: गृह मंत्री अमित शाह

अमित शाह ने कहा, 'विपक्षियों, पत्रकारों और NGO ने मिलकर किया गुजरात दंगों पर प्रचार (ANI)

अमित शाह ने कहा, 'विपक्षियों, पत्रकारों और NGO ने मिलकर किया गुजरात दंगों पर प्रचार (ANI)

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि बीजेपी विरोधी राजनीतिक पार्टियों, विचारधारा के लिए राजनीति में आए कुछ पत्रकारों और कई एनजीओ ने मिलकर गुजरात दंगों के बारे में आरोपों का इतना ज्यादा प्रचार किया कि लोग उसे ही सच मानने लगे.

नई दिल्ली. गुजरात में गोधरा की घटना के बाद भड़के दंगों के बारे में गृह मंत्री अमित शाह ने आज खुलकर अपनी बात सामने रखी है. शाह ने कहा कि बीजेपी विरोधी राजनीतिक पार्टियों, विचारधारा से प्रेरित कुछ पत्रकारों और कई एनजीओ ने मिलकर गुजरात दंगों के बारे में आरोपों का इतना ज्यादा प्रचार किया कि लोग उसे सच मानने लगे. ANI को दिए गए एक इंटरव्यू में गुजरात दंगों को रोकने के लिए पुलिस और अधिकारियों के कथित तौर पर कुछ न कर पाने के सवाल पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि सरकार ने दंगों को रोकने के लिए तत्काल कड़े कदम उठाए थे. लेकिन भाजपा विरोधी पार्टियों, पत्रकारों और एनजीओ का इकोसिस्टम इतना मजबूत था कि लोग इनकी बात को ही सच मानने लगे, जबकि गुजरात सरकार ने सेना को बुलाने में एक दिन की भी देरी नहीं की.

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘गुजरात में बीजेपी की सरकार जरूर थी, लेकिन बाद में केंद्र में सत्तारूढ़ हुई यूपीए की सरकार ने एनजीओ की मदद की. ये सब काम केवल पीएम नरेंद्र मोदी की छवि को खराब करने के लिए किया गया.’ अमित शाह ने कहा कि अब सुप्रीम कोर्ट ने ये भी ये कहा है कि जाकिया जाफरी किसी और के निर्देश पर काम करती थी. शाह ने कहा कि कुछ एनजीओ ने कई पीड़ितों के हलफनामे पर हस्ताक्षर किए और उन्हें पता भी नहीं है. अमित शाह ने कहा कि सभी लोग जानते हैं कि तीस्ता सीतलवाड़ का एनजीओ ये सब कर रहा था और यूपीए की सरकार ने उनके एनजीओ को बहुत मदद की.

मोदी को फंसाने की साजिश पर आखिरकार सुप्रीम कोर्ट का फुल स्टॉप!


गौरतलब है कि गुजरात दंगों के मामले में तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी सहित 64 लोगों को एसआईटी की क्लीन चिट मिलने को चुनौती देने वाली एक याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने 24 जून को खारिज कर दिया है.

Tags: Amit shah, BJP, Gujarat Riots

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर