Union Budget 2018-19 Union Budget 2018-19

अमित शाह ने बताया हिंदू विरोधी तो सिद्धारमैया ने BJP को कहा- अतिवादी

News18Hindi
Updated: January 10, 2018, 6:49 PM IST
अमित शाह ने बताया हिंदू विरोधी तो सिद्धारमैया ने BJP को कहा- अतिवादी
Ambasa : BJP President Amit Shah addresses a party rally in Ambasa, Tripura on Sunday. PTI Photo (PTI1_7_2018_000069B)
News18Hindi
Updated: January 10, 2018, 6:49 PM IST
कर्नाटक में विधानसभा चुनाव से पहले जुबानी जंग लगातार जारी है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कर्नाटक की सरकार को हिंदू विरोधी करार दिया है. चित्रदुर्गा ज़िले के होलालकेरे में एक रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार हिंदू विरोधी है. उन्होंने कहा कि ‘यहां सिद्धारमैया की सरकार वोट बैंक की राजनीति कर रही है.'

शाह ने ये भी कहा कि सोशल डेमोक्रैटिक पार्टी जिनके सदस्यों पर आरएसएस के कार्यकर्ताओं के हत्या का आरोप है उनके खिलाफ कर्नाटक की सरकार ने सारे केस वापस ले लिए गए हैं. अमित शाह ने सोशल डेमोक्रैटिक पार्टी को देश विरोधी संगठन करार दिया.

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने बीजेपी, आरएसएस और बजरंग दल पर कट्टरपंथी विचारधारा को बढ़वा देने का आरोप लगाया. संवाददाताओं से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ऐसे लोगों को नहीं छोड़ेगी जो अशांति फैलाने की कोशिश कर रहे हैं चाहे वो सोशल डेमोक्रैटिक पार्टी के नेता हो या फिर बजरंग दल के.

अमित शाह और सिद्धारमैया के बीच जुबानी जंग से पहले ट्विटर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी हिंदुत्व के मुद्दे पर कर्नाटक के मुख्यमंत्री से भिड़ चुके हैं. सिद्धारमैया ने ट्विटर पर कहा, 'हमारा जो हिंदुत्व है वो स्वामी विवेकानंद की विरासत है न कि नाथूराम गोडसे की। गौहत्या पर पाबंदी के संबंध में हमें उपदेश देने से पहले मुख्यमंत्री योगी पढ़ें कि विवेकानंद ने क्या कहा है।'

 

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सिद्धारमैया की सरकार पर ये भी आरोप लगाया कि केन्द्र के पैसों को जरुरतमंदों तक नहीं पहुंचाया जा रहा है. उन्होंने पूछा कि “ मोदी की सरकार ने कर्नाटक के विकास के लिए जो भी पैसे जारी किए थे आखिर वो कहां गए’’ ? उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने कर्नाटक के विकास के लिए 88,583 करोड़ रुपये से फंड बढ़ा कर 2,19,500 करोड़ रुपये कर दिए हैं.

दक्षिण भारत में कर्नाटक ही एक ऐसा राज्य है जहां पहले बीजेपी की सरकार थी. ऐसे में इस बार के विधान सभा चुनाव में बीजेपी यहां हर हाल में सरकार बनाना चाह रही है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर