अमित शाह ही बने रह सकते हैं राष्ट्रीय अध्यक्ष, राज्यों के प्रमुख बीजेपी नेताओं के साथ करेंगे मीटिंग

सूत्रों के अनुसार बीजेपी शासित तीन राज्यों- हरियाणा, झारखंड और महाराष्ट्र- में विधानसभा चुनाव इस साल के आखिर में होने हैं, ऐसे में पार्टी उन्हें यह जिम्मेदारी निभाते रहने को कह सकती है.

News18Hindi
Updated: June 13, 2019, 9:12 AM IST
अमित शाह ही बने रह सकते हैं राष्ट्रीय अध्यक्ष, राज्यों के प्रमुख बीजेपी नेताओं के साथ करेंगे मीटिंग
गुरुवार को पार्टी का नया अध्यक्ष चुनने के लिए अमित शाह ने बीजेपी के प्रमुख क्षेत्रीय नेताओं की बैठक बुलाई है (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: June 13, 2019, 9:12 AM IST
बीजेपी में आंतरिक संगठन के लिए चुनाव होने वाले हैं, इन्हीं चुनावों के जरिए पार्टी अध्यक्ष अमित शाह का उत्तराधिकारी भी तय किया जाना है. इससे जुड़े मामलों के संबंध में अभी तक बीजेपी अध्यक्ष रहे अमित शाह गुरुवार को पार्टी की प्रदेश इकाइयों के प्रमुखों और महासचिवों के साथ एक बैठक करेंगे.

बीजेपी सूत्रों ने बताया कि इस बैठक में पार्टी की इकाइयों में बूथ स्तर से ऊपर के संगठनात्मक चुनावों और सदस्यता अभियान के कार्यक्रम पर फैसला किया जाएगा.



नया अध्यक्ष चुने जाने में लग सकता है महीनों का समय
पार्टी के एक नेता ने बताया कि संगठनात्मक चुनाव पूरा होने में कई महीने का वक्त लग सकता है. उन्होंने कहा कि इस प्रक्रिया के पूरी होने के बाद ही नये पार्टी अध्यक्ष का चुनाव हो सकेगा, जो अक्टूबर- नवंबर के महीने तक जा सकता है.

उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी का संसदीय बोर्ड (इसकी निर्णय लेने वाली शीर्ष संस्था) इस अवधि के लिए एक नये अध्यक्ष को नियुक्त कर सकता है. हालांकि, यह बहुत हद तक इस बात पर निर्भर करेगा कि अब केंद्रीय गृह मंत्री बन चुके शाह इस कार्य को कैसे जारी रखना चाहते हैं.

पद पर बने भी रह सकते हैं अमित शाह
सूत्रों ने बताया कि बीजेपी शासित तीन राज्यों- हरियाणा, झारखंड और महाराष्ट्र- में विधानसभा चुनाव इस साल के आखिर में होने हैं, ऐसे में पार्टी उन्हें यह जिम्मेदारी निभाते रहने को कह सकती है.
Loading...

बीजेपी के राष्ट्रीय पदाधिकारी प्रदेश के नेताओं के साथ बृहस्पतिवार की बैठक में शामिल होंगे. राज्यों के महासचिवों (संगठन) के साथ भी शाह की बैठक शुक्रवार को होने का कार्यक्रम है.

साल की शुरुआत में ही खत्म हो गया था अमित शाह का कार्यकाल
पार्टी प्रमुख के बाद संगठन के प्रभारी महासचिव का बीजेपी में दूसरा सबसे महत्वपूर्ण पद है, चाहे यह राज्य स्तर पर हो या फिर राष्ट्रीय स्तर पर.

गौरतलब है कि बीजेपी अध्यक्ष के तौर पर शाह का तीन साल का कार्यकाल इस साल की शुरूआत में समाप्त हो गया था लेकिन उन्हें इस पद पर बने रहने को कहा गया था. दरअसल,पार्टी ने लोकसभा चुनाव पर ध्यान केंद्रित करने के लिए संगठन चुनाव टाल दिया था.

यह भी पढ़ें: BJP-TMC के बीच बवाल जारी, राज्यपाल ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...