लाइव टीवी

EXCLUSIVE: गृह मंत्री अमित शाह ने कहा-दोनों पक्ष स्‍वीकार करेंगे राममंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला

News18Hindi
Updated: October 17, 2019, 1:29 PM IST
EXCLUSIVE: गृह मंत्री अमित शाह ने कहा-दोनों पक्ष स्‍वीकार करेंगे राममंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह News18 को दिए Exclusive Interview में उम्‍मीद जताई कि अयोध्‍या जमीन विवाद का समाधान सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट से हो जाएगा.

Amit Shah with News18: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Union Home Minister) ने कहा कि राममंदिर (Ram Temple) का मामला 1950 से चल रहा है. इस मामले पर फैसला आने में बहुत देर हो चुकी है. उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले से इस विवाद का समाधान निकल आएगा. न्यूज़18 नेटवर्क (News18 Network) ग्रुप के एडिटर इन चीफ राहुल जोशी (Rahul Joshi) को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू (Excluisive Interview) में अमित शाह ने काशी-मथुरा (Kashi-Mathura) के विवादित मामलों पर भी बात की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2019, 1:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. केंद्रीय गृह मंत्री (Union Home Minister) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्‍ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में अयोध्‍या की विवादित जमीन मामले (Ayodhya Land Dispute Case) की सुनवाई खत्‍म होने पर कहा कि जल्‍द ही फैसला आ जाएगा. न्यूज़18 नेटवर्क (News18 Network) ग्रुप के एडिटर इन चीफ राहुल जोशी (Rahul Joshi) को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू (Excluisive Interview) में जब फैसले को लेकर उनकी उम्‍मीद के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'मैं मानता हूं कि जो भी निर्णय आएगा उसे दोनों समुदाय स्वीकार करेंगे.'

'बहुत देर हो चुकी है, अब अयोध्‍या पर फैसला आना चाहिए'
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि राम जन्‍मभूमि (Ram Janambhumi) का मामला 1950 से चल रहा है. मुझे लगता है कि इसका फैसला आने में बहुत देर हो चुकी थी. अब जजमेंट (Judgement) आ ही जाना चाहिए. थोड़े समय में जजमेंट आ जाएगा. इसमें अगर-मगर का सवाल ही नहीं है. मुख्‍य न्‍यायाधीश रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) समेत देश के वरिष्ठतम जजों ने इस मामले में सुनवाई (Hearing) की है. लिहाजा, मुझे विश्वास है कि सुप्रीम कोर्ट जो भी जजमेंट सुनाएगा उसे दोनों समुदाय (Communities) स्वीकार करेंगे.

अमित शाह, गृह मंत्री अमित शाह, अमित शाह न्यूज़18, अमित शाह एक्‍सक्‍लूसिव इंटरव्‍यू, Amit Shah with News18, Amit Shah Exclusive, Amit Shah News18 Exclusive, Amit Shah Interview, Ayodhya Dispute, Supreme Court, Mathura-Kashi Issues, CJI Ranjan Gogoi, Contitution Bench, Ram Janambhumi, News18 Network, Union Home Minister

'SC के फैसले से हो जाएगा अयोध्‍या विवाद का समाधान'
न्यूज़18 नेटवर्क (News18 Network) ग्रुप के एडिटर इन चीफ राहुल जोशी (Rahul Joshi) को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू (Excluisive Interview) में जब उनसे पूछा गया कि अयोध्‍या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट (SC) का फैसला आने के बाद क्‍या मथुरा (Mathura) और काशी (Varanasi) जैसे विवादित मामले (Disputed Issues) भी आगे बढ़ाए जाएंगे. इस पर गृह मंत्री ने कहा, 'मुझे नहीं लगता है कि कोई भी काशी और मथुरा के मामलों पर सोच रहा है. हालांकि, भविष्‍य के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता. फिलहाल मुझे उम्‍मीद है कि अयोध्‍या में जमीन के विवादित मामले का समाधान सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट से हो जाएगा.

Loading...

40 दिन की सुनवाई के बाद SC ने सुरक्षित रखा फैसला
सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या जमीन विवाद (Ayodhya Land Dispute) पर बुधवार को सुनवाई पूरी कर ली गई. 40 दिन तक चली दूसरी सबसे लंबी सुनवाई के बाद संविधान पीठ (Contitution Bench) ने फैसला सुरक्षित रख लिया है. उम्मीद की जा रही है कि इस मामले में 4 नवंबर से 17 नवंबर के बीच फैसला आ सकता है, क्योंकि 17 नवंबर को सीजेआई गोगोई रिटायर हो रहे हैं. अयोध्या मामले पर सुनवाई पूरी होने के बाद गुरुवार यानी आज पांच जजों की बेंच चेंबर में बैठेगी. इस दौरान सुप्रीम कोर्ट मध्यस्थता पैनल (Mediation Panel) की रिपोर्ट को लेकर आगे के रास्ते पर विचार करेगा. वहीं, सुन्नी वक्फ बोर्ड (Sunni Waqf Board) के दावा वापस लेने पर भी चर्चा की जा सकती है.

क्‍या है काशी और मथुरा का विवादित मामला
इतिहासकारों के मुताबिक, ईसा पूर्व 11वीं सदी में राजा हरिश्‍चंद्र ने बनारस में काशी विश्‍वनाथ मंदिर का निर्माण कराया था. विवाद है कि 1669 में औरंगजेब ने 12 ज्‍योतिर्लिंगों में एक काशी विश्‍वनाथ मंदिर को तोड़कर ज्ञानवापी मस्जिद बनवाने का फरमान जारी कर दिया था. यह फरमान कोलकाता की एशियाटिक लाइब्रेरी में आज भी सुरक्षित है. आज भी बनारस में काशी विश्‍वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मौजूद हैं. वहीं, मथुरा में कृष्ण जन्मभूमि के आधे हिस्से पर ईदगाह बनी है. इसके बारे में कहा जाता है कि 80-57 ईसा पूर्व यहां पहली बार मंदिर बना, जिसे 1017-18 में महमूद गजनवी ने तोड़ दिया था. महाराजा विजयपाल देव के शासन में 1150 में यहां फिर मंदिर बनवाया गया, जिसे 1660 में औरंगजेब ने नुकसान पहुंचाया और एक हिस्से पर ईदगाह बनवा दी.

ये भी पढ़ें:

'मॉब लिंचिंग गरीब के साथ होती है, किसी खास जाति के खिलाफ नहीं'

अमित शाह का शिवसेना को इशारों में संदेश, महाराष्ट्र में बीजेपी को मिलेगा बहुमत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 12:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...