Home /News /nation /

गृह मंत्री ने समझाया क्या है GDP का मानवीय चेहरा, HTLS में अमित शाह के संबोधन की 10 बड़ी बातें

गृह मंत्री ने समझाया क्या है GDP का मानवीय चेहरा, HTLS में अमित शाह के संबोधन की 10 बड़ी बातें

HTLS के पांचवें और अंतिम दिन अमित शाह ने कोरोना वायरस महामारी, सीमा के हालात समेत कई मुद्दों पर चर्चा की.

HTLS के पांचवें और अंतिम दिन अमित शाह ने कोरोना वायरस महामारी, सीमा के हालात समेत कई मुद्दों पर चर्चा की.

Amit Shah in HTLS: गृहमंत्री अमित शाह ने सरकार की तरफ से आर्थिक क्षेत्र को लेकर किए गए फैसलों पर बात की. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए पिछले 2 साल में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए. इसलिए कोरोना के बाद हम पर वैश्विक मंदी का ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ा. भारत के अर्थतंत्र को उभरने में उतना समय नहीं लगा, जितना दुनिया के अन्य देशों को लगा.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने शनिवार को विपक्ष पर जमकर निशाना साधा औऱ कहा कि भारत को साल 2014 में राजनीतिक रूप से स्थिरता मिली थी. उन्होंने बगैर नाम लिए कहा कि पहले घोटलों के चलते दुनियाभर में देश के सम्मान को चोट पहुंची है. हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट (HTLS) के पांचवें और अंतिम दिन शाह ने कोरोना वायरस महामारी, सीमा के हालात समेत कई मुद्दों पर चर्चा की. जानते हैं उनके संबोधन की 10 बड़ी बातें- 

    विपक्ष पर निशाना- ये सौभाग्य की बात है कि कोरोना महामारी आने के करीब 7 साल पहले ही देश में एक परिवर्तन हुआ. 2014 के बाद देश को एक राजनीतिक स्थिरता मिली. लंबे समय तक देश में गठबंधन सरकारों का दौर रहा था. इसके दुष्परिणाम देश के प्रशासन, अर्थतंत्र और देश के भविष्य पर पड़े. 2014 के 10 साल पहले तक देश में बहुत सारे घपले, घोटाले हुए. इससे दुनिया में देश का सम्मान कम हुआ. शाह ने कहा कि पहले मंत्रिमंडल का हर मंत्री खुद को प्रधानमंत्री मनता था.

    पीएम मोदी की तारीफ- श्री नरेन्द्र मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्होंने ढेर सारे मामलों को बहुत धैर्य के साथ और दूरदर्शी तरीके से अपने हाथ में लिया. उनके आने के बाद गरीबों को भी देश के विकास में भागीदार बनाने का काम हुआ. करीब 43 करोड़ जन धन खाते खोलकर सभी परिवारों को अर्थव्यवस्था से जोड़ा गया.

    योजनाओं पर चर्चा- पहले की सरकारों में योजनाएं बनती थीं कि इस बार 10 हजार घरों में शौचालय बनाएंगे. अब योजना बनती है कि सभी घरों में शौचालय बनाएंगे. पहले योजना बनती थी कि इस बार 20 लाख लोगों के घर में गैस का सिलेंडर पहुंचाएंगे. अब योजना बनती है कि सभी घरों में गैस का सिलेंडर पहुंचाएंगे. पहले योजना बनती थी कि इतने घरों में बिजली पहुंचाएंगे, अब योजना बनती है कि देश के सभी घरों में बिजली पहुंचाएंगे.

    सीमा के हालात- मोदी सरकार के आने बाद हमारी रक्षा नीति, हमारी विदेश नीति के साये से बाहर आई. हमारी सीमाओं की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है. अगर आप शांति से रहना चाहते हो, तो हमारे साथ भी शांति से व्यवहार रखना होगा. ये स्पष्ट संदेश पूरी दुनिया में गया.

    सरकार पर भरोसा- शाह ने कहा कि लोगों का लोकतंत्र से भरोसा उठ गया था. देश का जनता ये विश्वास नहीं था कि ये सरकार काम करेगी या नहीं, क्योंकि डिलीवरी नही थी.

    अर्थव्यवस्था में सुधार- गृहमंत्री ने सरकार की तरफ से आर्थिक क्षेत्र को लेकर किए गए फैसलों पर बात की. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए पिछले 2 साल में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए. इसलिए कोरोना के बाद हम पर वैश्विक मंदी का ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ा. भारत के अर्थतंत्र को उभरने में उतना समय नहीं लगा, जितना दुनिया के अन्य देशों को लगा.

    जीडीपी का मानवीय चेहरा- शाह ने कहा कि पीएम मोदी ने जीडीपी का मानवीय चेहरा सामने ऱखा. उन्होंने कहा कि लोगों के घर बनाएं गए, शौचालय बनाएं गए, 60 करोड़ लोगों का बीमा के लिए काम किया गया है, साफ पानी की व्यवस्था की गई, किसानों के लिए बीमा योजना लाई गई. उन्होंने कहा कि 130 करोड़ लोगों के लिए फ्री वैक्सीन ड्राइव चलाई गई. उन्होंने कोविन ऐप की तारीफ की.

    यह भी पढ़ें: PM मोदी के नेतृत्‍व में पाकिस्‍तान में घुसकर मारे गए आतंकी, हर चुनौती से जीती जंग: गृह मंत्री अमित शाह

    कोरोना से जंग की तैयारी- उन्होंने कहा कि भारत जैसे विशाल देश के बारे में कहते थे कि कोरोना का सामना कैसे करेंगे, आज कोरोना के खिलाफ लड़ाई हमारी सरकार ने शानदार तरीके से लड़ी. उन्होंने कहा कि वैक्सीन के लिए एक अदभुत योजना बनाई गई. शाह ने बताया कि दूसरी लहर के दौरान पूरे देश में ऑक्सीजन संकट था. हमारी सरकार ने पुरे देश में आंक्सीजन के संकट को खत्म किया गया है, 10 दिन के अंदर आंक्सीजन का उत्पादन 10 गुना बढा दिया गया है.

    आलोचकों से सवाल- शाह ने कहा कि सभी आंकड़ों पंडितों से ये कहना चाहूंगा कि देखें किस सरकार में कितना काम किया है. ये सभी आंकडे़ देश के सामने रखें, ताकि चुनाव के समय जनता के फैसले करने में आसानी हो.

    उग्रवाद का जिक्र- उग्रवाद पर गृहमंत्री ने कहा कि नॉर्थ ईस्ट में पिछले 2.5 साल में करीब 4,000 उग्रवादियों ने समर्पण किया है. देश का बहुत बड़ा क्षेत्र उग्रवाद की चपेट से बाहर आया है. पिछले 7 वर्षों में सबसे कम नकस्लवादी हिंसा देश में हुई है और ये लगातार कम हो रही है.

    Tags: Amit shah, Coronavirus, HTLS, India, Pm narendra modi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर