Home /News /nation /

HTLS Summit: गृह मंत्री अमित शाह ने किया UP में 'बड़ी जीत' का दावा, गठबंधन पर बोले- सियासत कैमिस्ट्री है, फिजिक्स नहीं

HTLS Summit: गृह मंत्री अमित शाह ने किया UP में 'बड़ी जीत' का दावा, गठबंधन पर बोले- सियासत कैमिस्ट्री है, फिजिक्स नहीं

अमित शाह ने गठबंधन की राजनीति के मुद्दे पर चर्चा की. (फाइल फोटो: Shutterstock)

अमित शाह ने गठबंधन की राजनीति के मुद्दे पर चर्चा की. (फाइल फोटो: Shutterstock)

Amit Shah in HTLS: हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2021 के पांचवें और अंतिम दिन गृहमंत्री अमित शाह ने राजनीति को कैमिस्ट्री बताया. उन्होंने कहा, 'सियासत फिजिक्स नहीं है, यह कैमिस्ट्री है. यह अनुमान लगाना सही नहीं है कि जब दो पार्टियां साथ आती हैं, तो वोट बैंक जुड़ जाते हैं. यूपी में भाजपा बड़ी बहुमत के साथ जीत हासिल करेगी.' सत्तारूढ़ भाजपा ने साल 2017 विधानसभा चुनाव में 403 में से 325 सीटों पर रिकॉर्ड जीत दर्ज की थी.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने शनिवार को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Elections) में भारतीय जनता पार्टी की बड़ी जीत का दावा किया. साथ ही उन्होंने गठबंधन की तैयारी में जुटी पार्टियों पर भी निशाना साधा. हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2021 के पांचवें और अंतिम दिन गृहमंत्री शाह ने राजनीति को कैमिस्ट्री बताया और कहा, ‘सियासत फिजिक्स नहीं है, यह कैमिस्ट्री है. यह अनुमान लगाना सही नहीं है कि जब दो पार्टियां साथ आती हैं, तो वोट बैंक जुड़ जाते हैं. यूपी में भाजपा बड़ी बहुमत के साथ जीत हासिल करेगी.’ सत्तारूढ़ भाजपा ने साल 2017 के विधानसभा चुनाव में 403 में से 325 सीटों पर रिकॉर्ड जीत दर्ज की थी. बता दें कि समाजवादी पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने विधानसभा चुनाव के लिए कई राजनीतिक दलों के साथ गठबंधन किया है.

    राज्य में गठबंधन की चर्चाएं
    दरअसल अखिलेश यादव की कोशिश यूपी में बीजेपी के खिलाफ छोटी पार्टियों के गठबंधन का अंब्रेला बनाने की है. इसी क्रम में नवंबर में आम आदमी पार्टी ने कहा था कि सपा के साथ चर्चाएं शुरू हो गई हैं. पार्टी ने संकेत दिए थे कि वे सपा के साथ मिलकर आगामी चुनाव लड़ सकती है. आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अखिलेश यादव से मुलाकात भी कर चुके हैं. वहीं, सपा ने भी दोनों पार्टियों के साथ आने के संकेत दिए थे. बीते महीने ही अखिलेश यादव ने ओम प्रकाश राजभर की सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) के साथ गठबंधन किया था.

    यह भी पढ़ें: Amit Shah in HTLS: 2014 से पहले हर मंत्री खुद को PM मानता था- HTLS में बोले गृह मंत्री अमित शाह

    अमित शाह से पहले योगी ने किया था प्रहार
    गुरुवार को एक कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा था कि यूपी ने पिछले तीन चुनावों में विपक्षी दलों के हर तरह के गठबंधन को नकार दिया है. उन्होंने कहा, ‘साल 2017 में दो लड़के साथ आए और नकारे गए. 2014 में भाई और बहन को अस्वीकार किया. 2019 में महागठबंधन अस्वीकार हुआ. अब यूपी में कोई गठबंधन नहीं है.’ 2014 में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा ने चुनाव अभियान चलाया था. 2017 में राहुल और अखिलेश साथ आए. वहीं, 2019 लोकसभा चुनाव सपा-बसपा ने मिलकर लड़ा.

    ममता बनर्जी का समर्थन
    शुक्रवार को सपा प्रमुख यादव ने भाजपा के खिलाफ राष्ट्रीय मोर्चा बनाने की पहल का स्वागत किया. उन्होंने कहा, ‘मैं ममता बनर्जी का स्वागत करता हूं. जिस तरह से उन्होंने बंगाल में भाजपा को खत्म किया, वैसे उत्तर प्रदेश में सपा, भाजपा को खत्म करेगी.’ मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पार्टी नेताओं ने संकेत दिए थे कि बनर्जी राज्य में अखिलेश यादव के साथ मिलकर सपा का प्रचार कर सकती हैं. हालांकि, इसपर अखिलेश यादव ने कहा, ‘हम समय आने पर इस पर बात करेंगे.’

    Tags: Akhilesh yadav, Amit shah, HTLS, Yogi adityanath

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर