Assembly Banner 2021

तमिलनाडु चुनाव: अमित शाह ने ए राजा के बयान के बहाने DMK को बताया 'महिला विरोधी', कांग्रेस को भी घेरा

तमिलनाडु के तिरुकोयिलूर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते अमित शाह. (BJP4India Twitter/1 April 2021)

तमिलनाडु के तिरुकोयिलूर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते अमित शाह. (BJP4India Twitter/1 April 2021)

Tamil Nadu Elections 2021: अमित शाह ने कहा, "द्रमुक और कांग्रेस का मतलब है भ्रष्टाचार, दबंगई, भूमि अतिक्रमण और अपने बेटे-बेटियों के हितों को आगे बढ़ाना और लोगों की चिंता न करना.”

  • Share this:
तिरुकोयिलूर (तमिलनाडु). केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी की मां के खिलाफ द्रमुक नेता ए राजा की कथित अशिष्ट टिप्पणी को लेकर पार्टी पर बृहस्पतिवार को निशाना साधा और कहा कि यह दिखाता है कि द्रमुक महिलाओं का सम्मान नहीं करती है. उन्होंने कहा कि राज्य की “माताओं और बहनों” को छह अप्रैल के विधानसभा चुनाव में द्रमुक को हराकर उसे सबक सिखाना चाहिए. यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए शाह ने अन्नाद्रमुक, भाजपा और पीएमके से राजग उम्मीदवारों के पक्ष में वोट मांगे, जबकि द्रमुक पर आरोप लगाया कि वह कोई भी हथकंडा अपनाकर बस आसानी से चुनाव जीतना चाहती है.

भाजपा की सहयोगी पार्टी अन्नाद्रमुक के नेता पलानीस्वामी के खिलाफ राजा की कथित आपत्तिजनक टिप्पणियों का जिक्र करते हुए शाह ने कांग्रेस और द्रमुक पर कथित भ्रष्टाचार एवं वंशवाद का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा, “मैंने द्रमुक नेता ए. राजा के बयान को देखा. एक दिवंगत महिला के खिलाफ उन्होंने जिस तरह का बयान दिया है, मेरे विचार में उनके (द्रमुक) मन में महिलाओं के लिए कोई सम्मान नहीं है और वे इस चुनाव को किसी भी कीमत पर जीतना चाहते हैं.”

Youtube Video




भाजपा नेता ने कहा, “पहले भी, द्रमुक ने जयललिता जी (दिवंगत मुख्यमंत्री) के खिलाफ ऐसी खराब टिप्पणियां की थी. मैं तमिलनाडु की माताओं और बहनों से, चुनाव में महिला विरोधी द्रमुक को सबक सिखाने की अपील करता हूं.” उन्होंने कहा कि यह चुनावी जंग विकास की राह पर चल रहे राजग और भ्रष्टाचार एवं वंशवाद पर चल रहे संप्रग के बीच है. शाह ने आरोप लगाया कि द्रमुक और कांग्रेस दोनों ही दलों को तमिलनाडु के लोगों की चिंता नहीं है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी अपने बेटे राहुल और द्रमुक प्रमुख एमके स्टालिन अपने बेटे उदयनिधि को लेकर “चिंतित’’ हैं.
शाह ने कहा, “हम सभी द्रमुक और कांग्रेस को बहुत अच्छी तरह से जानते हैं. द्रमुक और कांग्रेस का मतलब है भ्रष्टाचार, दबंगई, भूमि अतिक्रमण और अपने बेटे-बेटियों के हितों को आगे बढ़ाना और लोगों की चिंता न करना.” उन्होंने कहा कि वहीं दूसरी तरफ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राजग तमिलनाडु के कल्याण को लेकर चिंतित है और दिवंगत मुख्यमंत्री एम जी रामचंद्रन और जे जयललिता के रास्ते पर चल रही है.

शाह ने कहा, दरअसल, देश में गरीबों के लिए बनाए गए सभी कार्यक्रमों का श्रेय रामचंद्रन को जाता है जिन्हें प्यार से एमजीआर कहा जाता है. उन्होंने कहा कि उनके ही सम्मान में मोदी ने चेन्नई के सेंट्रलइ रेलवे स्टेशन को एमजीआर के नाम पर रखा था. साथ ही कहा कि अन्नाद्रमुक के संस्थापक ‘असल मक्कल तिलागम’ (जन नेता) हैं. शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में, पलानीस्वामी और पनीरसेल्वम भी राज्य को विकास के मार्ग पर आगे ले जा रहे हैं.

गृह मंत्री ने कहा कि उन्होंने पिछले पांच साल में तमिलनाडु के लिए बहुत कुछ किया है जिसमें कर्ज माफी, महिलाओं के लिए सस्ते दोपहिया वाहन योजना और अन्य योजनाएं शामिल हैं. भ्रष्टाचार पर बोलने के लिए स्टालिन पर निशाना साधते हुए उन्होंने “2जी और सन टीवी घोटाले”का जिक्र किया जिसमें कथित तौर पर द्रमुक नेता शामिल थे. उन्होंने आरोप लगाया, “द्रमुक एक राजनीतिक पार्टी नहीं रह गई बल्कि अनाधिकारिक तौर पर एक कारोबारी संगठन है.”

बैलों के खेल जलीकट्टू को लेकर द्रमुक और कांग्रेस पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि “राहुल गांधी ने 2016 में जल्लीकट्टू को प्रतिबंधित करने की घोषणा की थी.” उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले किये गये इस वादे के बाद अगर पार्टी सत्ता में आ गई होती तो जल्लीकट्टू पर रोक लग गई होती, लेकिन भगवान मुरुगा के आशीर्वाद से ऐसा हुआ नहीं.

राज्य के लोगों और तमिल भाषियों के प्रति मोदी का अपार स्नेह होने का दावा करते हुए शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने विदेशों में भाषण देते वक्त तमिल श्लोकों का हवाला दिया है. उन्होंने कहा कि मोदी ने ‘तमिलनाडु के लिए बहुत काम किया है’ और केंद्र ने इस बजट में तमिलनाडु में सड़कों के लिए एक लाख करोड़ रुपये आवंटित किये हैं. इसके अलावा रक्षा गलियारा और मदुरै में एम्स जैसी पहलें भी इसका उदाहरण है.

शाह ने कहा कि मोदी जी ने तमिलनाडु के मछुआरों के बारे में भी सोचा और इसके लिए उन्होंने 2015 के उनके जाफना दौरे का हवाला भी दिया. उन्होंने कहा कि भ्रष्ट द्रमुक और कांग्रेस पार्टी तमिलनाडु का विकास सुनिश्चित नहीं कर सकती. मोदी के नेतृत्व में, पलानीस्वामी और पनीरसेल्वम के साथ केवल राजग ही ऐसा कर सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज