गुजरात दंगों का मूल कारण गोधरा में ट्रेन का जलना था, सरकार ने की थी त्वरित कार्रवाई- अमित शाह

सुप्रीम कोर्ट ने 2002 के गुजरात दंगों के मामले में तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी सहित 64 लोगों को एसआईटी की क्लीन चिट को चुनौती देने वाली जकिया जाफरी की याचिका को गत 24 जून को खारिज कर दिया. शीर्ष अदालत ने इस मामले में अपनी टिप्पणी में कहा कि जकिया जाफरी की अपील योग्यता से रहित है और खारिज करने योग्य है.

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 2002 में गुजरात दंगों के दौरान जो हुआ उस पर अपनी चुप्पी तोड़ी है. न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए एक साक्षात्कार में, उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के हालिया फैसले, गुजरात दंगों से जुड़े मामलों में मीडिया, गैर सरकारी संगठनों और राजनीतिक दलों की भूमिका, भारत की न्यायपालिका में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विश्वास पर बात की. आपको बता दें कि 2002 के गुजरात दंगों के मामले में तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी सहित 64 लोगों को एसआईटी की क्लीन चिट को चुनौती देने वाली जकिया जाफरी की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने गत 24 जून को खारिज कर दिया. सुप्रीम कोर्ट ने एसआईटी द्वारा दायर क्लोजर रिपोर्ट के खिलाफ जकिया जाफरी की विरोध याचिका को खारिज करने के मजिस्ट्रेट के आदेश को बरकरार रखा. शीर्ष अदालत ने इस मामले में अपनी टिप्पणी में कहा कि जकिया जाफरी की अपील योग्यता से रहित है और खारिज करने योग्य है.

अधिक पढ़ें ...
25 Jun 2022 11:01 (IST)

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- 2002 के गुजरात दंगों का मूल कारण गोधरा में ट्रेन का जलना था

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, 2002 के गुजरात दंगों का मूल कारण गोधरा में ट्रेन का जलना था. 16 दिन के बच्चे सहित 59 लोगों को आग के हवाले किया गया…कोई परेड नहीं की गई, यह झूठ है. उन्हें सिविल अस्पताल ले जाया गया और परिवारों द्वारा शवों को बंद एम्बुलेंस में उनके घर ले जाया गया.

25 Jun 2022 11:00 (IST)

38 विधायकों के परिवार के सदस्यों की सुरक्षा वापस लेने पर एकनाथ शिंदे ने CM को लिखा पत्र

शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे ने ’38 विधायकों के परिवार के सदस्यों की सुरक्षा को दुर्भावनापूर्ण रूप से वापस लेने’ के संबंध में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, महाराष्ट्र के गृह मंत्री, डीजीपी महाराष्ट्र को लिखा पत्र. कहा, ‘सरकार उनकी और उनके परिवारों की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार है.’

25 Jun 2022 10:48 (IST)

मोदी जी ने उदाहरण पेश किया कि कैसे संविधान का सम्मान किया जा सकता है: अमित शाह

2002 के गुजरात दंगों पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘मोदी जी ने उदाहरण पेश किया कि कैसे संविधान का सम्मान किया जा सकता है. उनसे पूछताछ की गई लेकिन किसी ने धरना नहीं दिया और कार्यकर्ता उनके साथ एकजुटता दिखाने के जिए सड़कों पर नहीं उतरे. अगर आरोप लगाने वालों में अंतरात्मा है, तो उन्हें माफी मांगनी चाहिए.’

25 Jun 2022 10:45 (IST)

गुजरात सरकार ने त्वरित कार्रवाई की, अगले ​ही दिन सेना बुला ली थी: अमित शाह

न्यूज एजेंसी एएनआई से हुई बातचीत में 2002 के दंगों के दौरान गुजरात सरकार की कार्रवाई पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘जहां तक ​​गुजरात सरकार का सवाल है, हमें देर नहीं हुई. जिस दिन गुजरात बंद का आह्वान किया गया था, उस दिन दोपहर में ही हमने सेना बुला ली थी. सेना को पहुंचने में थोड़ा समय लगता है…एक दिन की भी देरी नहीं हुई थी. कोर्ट ने भी इसकी सराहना की.’

25 Jun 2022 10:40 (IST)

गुजरात दंगों को नियंत्रित करने के लिए सारे प्रयास किए गए थे: गृह मंत्री शाह

गुजरात दंगों पर बोलते हुए गृह मंत्री अमित शाह कहते हैं, ‘सब कुछ (स्थिति को नियंत्रित करने के लिए) किया गया था…इसे नियंत्रित करने में समय लगता है…गिल साहब (पूर्व पंजाब डीजीपी, दिवंगत केपीएस गिल) ने कहा था कि उन्होंने उनके जीवन में कभी भी इतना अधिक तटस्थ और त्वरित कार्रवाई नहीं देखी. फिर भी, उनके खिलाफ भी आरोप लगाए गए.’

25 Jun 2022 10:38 (IST)

गोधरा ट्रेन जलने से लोगों में गुस्सा था, बाद में यह किसी के नियंत्रण में नहीं रहा: अमित शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 2002 के गुजरात दंगों को लेकर एएनआई के साथ हुई बातचीत में कहा, ‘अधिकारियों और पुलिस प्रशासन ने दंगों को नियंत्रित करने में अच्छा काम किया. लेकिन घटना (गोधरा ट्रेन जलने) से गुस्सा था, और किसी को भनक तक नहीं लगी, न पुलिस को, न किसी और को. बाद में यह किसी के हाथ में नहीं था.’

25 Jun 2022 10:35 (IST)

कोई पेशेवर इनपुट नहीं था कि इस तरह की उग्र प्रतिक्रियाएं होंगी: गृह मंत्री शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 2002 गुजरात दंगों पर कहा, ‘कोई पेशेवर इनपुट नहीं था कि इस तरह की उग्र प्रतिक्रियाएं होंगी…कोई परेड (गोधरा ट्रेन में जलने वाले पीड़ितों के शव के साथ) नहीं की गई थी, यह गलत है. उन्हें सिविल अस्पताल ले जाया गया. बंद एम्बुलेंस में परिजनों के साथ शवों को उनके घरों तक ले जाया गया.’

25 Jun 2022 10:30 (IST)

गुजरात दंगों को लेकर तहलका का स्टिंग ऑपरेशन राजनीति से प्रेरित था- अमित शाह

अमित शाह ने कहा, सुप्रीम कोर्ट ने आज अपने फैसले में कहा कि ट्रेन (गोधरा) जलाने के बाद हुए दंगे पूर्व नियोजित नहीं थे, बल्कि स्व-प्रेरित थे. इसने तहलका के स्टिंग ऑपरेशन को खारिज कर दिया. क्योंकि जब इसके पहले और बाद के फुटेज सामने आए तो पता चला कि स्टिंग ऑप राजनीति से प्रेरित था.

25 Jun 2022 10:25 (IST)

यूपीए सरकार ने 2002 के गुजरात दंगों के मामले में तीस्ता सीतलवाड़ के एनजीओ की मदद की: गृह मंत्री

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘आज सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जकिया जाफरी ने किसी और के निर्देश पर काम किया. एनजीओ ने कई पीड़ितों के हलफनामे पर हस्ताक्षर किए और उन्हें पता भी नहीं चला. सभी जानते हैं कि तीस्ता सीतलवाड़ का एनजीओ ऐसा कर रहा था. जब यूपीए सरकार उस समय सत्ता में आई, तो उसने 2002 के गुजरात दंगों के मामले में तीस्ता सीतलवाड़ के एनजीओ की मदद की.’

25 Jun 2022 10:22 (IST)

तीस्ता सीतलवाड़ के NGO ने गुजरात दंगों को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ झूठा प्रचार किया- गृह मंत्री शाह

जकिया जाफरी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘मैंने फैसला (24 जून) को जल्दबाजी में पढ़ा, लेकिन इसमें स्पष्ट रूप से तीस्ता सीतलवाड़ के नाम का उल्लेख है. उनका एक एनजीओ था, जिसने सभी पुलिस थानों में भाजपा कार्यकर्ताओं से जुड़े ऐसे आवेदन दिए थे. मीडिया द्वारा इतना दबाव था कि सभी आवेदनों को सच मान लिया गया.’

25 Jun 2022 10:20 (IST)

खास विचारधारा से प्रेरित मीडिया, कुछ पत्रकारों और NGOs ने गुजरात दंगों को लेकर झूठ फैलाया-अमित शाह

इस आलोचना पर कि गुजरात दंगों के दौरान राज्य पुलिस और अधिकारी बहुत कुछ नहीं कर सके, गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘भाजपा के राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों, वैचारिक रूप से प्रेरित और राजनीति से प्रेरित पत्रकारों व कुछ गैर सरकारी संगठनों की तिकड़ी ने आरोपों को प्रचारित किया. उनके पास एक मजबूत ईकोसिस्टम था, इसलिए हर कोई झूठ को सच मानने लगा.’

25 Jun 2022 10:16 (IST)

ईडी की राहुल गांधी से पूछताछ को लेकर कांग्रेस के विरोध गृह मंत्री अमित शाह ने कसा तंज

ईडी की राहुल गांधी से पूछताछ पर कांग्रेस के विरोध में गृह मंत्री अमित शाह ने तंज कसते हुए कहा, ‘मोदी जी ने एसआईटी के सामने पेश होते हुए ड्रामा नहीं किया. मेरे समर्थन में सामने आओ, विधायकों-सांसदों को बुलाओ और धरना करो…अगर एसआईटी सीएम से सवाल करना चाहती है, तो वह खुद सहयोग करने के लिए तैयार है. विरोध क्यों?’

25 Jun 2022 10:12 (IST)

एक बड़े नेता ने बिना एक शब्द कहे 20 वर्षों तक सभी तरह की पीड़ा को सहा: गुजरात दंगों पर अमित शाह

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, एक बड़े नेता ने बिना एक शब्द कहे और भगवान शंकर के ‘विशपान’ की तरह सभी दर्द को झेलते हुए 18-19 साल की लंबी लड़ाई लड़ी. मैंने उन्हें बहुत करीब से यह दर्द सहते हुए देखा है. केवल एक मजबूत इरादों वाला व्यक्ति ही कुछ न कहने का स्टैंड ले सकता था, क्योंकि मामला विचाराधीन था.

25 Jun 2022 10:10 (IST)

गुजरात दंगों को लेकर गृ​ह मंत्री अमित शाह का इंटरव्यू

एएनआई के साथ एक साक्षात्कार में 2002 में गुजरात दंगों के दौरान जो हुआ उस पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपनी चुप्पी तोड़ी.

अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 2002 में गुजरात दंगों के दौरान जो हुआ उस पर अपनी चुप्पी तोड़ी है. न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए एक साक्षात्कार में, उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के हालिया फैसले, गुजरात दंगों से जुड़े मामलों में मीडिया, गैर सरकारी संगठनों और राजनीतिक दलों की भूमिका, भारत की न्यायपालिका में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विश्वास पर बात की. आपको बता दें कि 2002 के गुजरात दंगों के मामले में तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी सहित 64 लोगों को एसआईटी की क्लीन चिट को चुनौती देने वाली जकिया जाफरी की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने गत 24 जून को खारिज कर दिया. सुप्रीम कोर्ट ने एसआईटी द्वारा दायर क्लोजर रिपोर्ट के खिलाफ जकिया जाफरी की विरोध याचिका को खारिज करने के मजिस्ट्रेट के आदेश को बरकरार रखा. शीर्ष अदालत ने इस मामले में अपनी टिप्पणी में कहा कि जकिया जाफरी की अपील योग्यता से रहित है और खारिज करने योग्य है.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें