अनुच्छेद 370 को हटाने को लेकर मेरे मन में कोई संदेह नहीं था: अमित शाह

अमित शाह (Amit Shah) उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू (Venkaiah Naidu) पर लिखी किताब 'लिस्निंग, लर्निंग एंड लीडिंग' (Listening, Learning and Leading) के विमोचन में शामिल हुए, अनुच्छेद 370 (Article 370) पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि इसे बहुत पहले हटा दिया जाना चाहिए था.

News18Hindi
Updated: August 11, 2019, 4:12 PM IST
अनुच्छेद 370 को हटाने को लेकर मेरे मन में कोई संदेह नहीं था: अमित शाह
गृह मंत्री अमित शाह
News18Hindi
Updated: August 11, 2019, 4:12 PM IST
गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने रविवार को कहा कि संविधान के अनुच्छेद 370 (article 370) के तहत जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) को मिल रहे विशेष दर्जे को हटाने से क्षेत्र में आतंकवाद (Terrorism) का खात्मा होगा और वह विकास के मार्ग पर अग्रसर होगा. उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू (Venkaiah Naidu) पर एक किताब 'लिस्निंग, लर्निंग एंड लीडिंग' का यहां विमोचन करने के मौके पर शाह ने कहा कि उनका दृढ़ता से यह मानना था कि जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटाया जाना चाहिए क्योंकि इससे देश को कोई फायदा नहीं था.




अमित शाह ने बताया, 'मैं दृढ़ था कि अनुच्छेद 370 हटाया जाना चाहिए. अनुच्छेद 370 हटाने के बाद कश्मीर में आतंकवाद खत्म होगा और वह विकास के पथ पर अग्रसर होगा.' आगे अमित शाह ने बताया, 'आज मैं यहां न गृह मंत्री के नाते आया हूं, न भाजपा के अध्यक्ष के नाते आया हूं. राजनीति के क्षेत्र में काम करने वाले एक विद्यार्थी को तौर पर पूरा जीवन आदर्श तरीके से काम कैसे करना चाहिए इसकी प्रतिमूर्ति सिर्फ वेंकैया नायडू जी के जीवन की अनुमोदना क्लोट करने आया हूं.

साथ ही उन्होंने बताया, 'जीवन में सुनना, सीखना और समाज का नेतृत्व करना ये कैसे कर सकते हैं, इसका एक आदर्श श्री वेंकैया नायडू ने इस देश की युवा पीढ़ी के सामने रखा है. मैं आज जरूर एक बात बताना चाहता हूं कि वेंकैया जी का जीवन विद्यार्थी काल से लेकर आज उपराष्ट्रपति तक पहुंचने का जीवन राजनीति में काम करने वाले सारे युवा कार्यकर्ताओं के लिए अनुकरणीय है.
Loading...

ये भी पढ़ें-
अध्‍यक्ष पद: सिंधिया को त्रिपुरा का समर्थन,वासनिक अभी भी आगे

गैर गांधी अध्यक्ष के दौर में कैसी थी कांग्रेस की हालत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 11, 2019, 1:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...