• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • J&K पर बोले अमित शाह- भारत का विरोध करने वाले डरें, हम टुकड़े गैंग के मेंबर नहीं

J&K पर बोले अमित शाह- भारत का विरोध करने वाले डरें, हम टुकड़े गैंग के मेंबर नहीं

जम्मू-कश्मीर पर अमित शाह ने कहा कि जिनके मन में भारत का विरोध है उनके मन में डर होना चाहिए. (फाइल फोटो)

जम्मू-कश्मीर पर अमित शाह ने कहा कि जिनके मन में भारत का विरोध है उनके मन में डर होना चाहिए. (फाइल फोटो)

अमित शाह ने कहा कि कश्मीर को लेकर हमारी अप्रोच में कोई बदलाव नहीं हुआ है जो पहले था वह आगे भी रहेगा.

  • Share this:
लोकसभा से शुक्रवार को जम्मू कश्मीर आरक्षण संशोधन बिल को मंजूरी दे दी गई है. जम्मू कश्मीर आरक्षण संशोधन बिल को ध्वनिमत से पारित कर दिया गया. हालांकि इसपर विपक्ष की ओर से सुझाए गए किसी भी संशोधन को मंजूरी नहीं मिली है.

वहीं अमित शाह ने कहा है कि जिनके मन में भारत का विरोध है उनके मन में डर होना चाहिए, हम टुकड़े-टुकड़े गैंग के सदस्य नहीं हैं. कांग्रेस ने हमेशा राष्ट्रपति शासन का सियासी इस्तेमाल किया है. आज कश्मीर की आवाम को केंद्र की नीतियों का लाभ मिल रहा है, लोगों के पास मोदीजी का कार्ड पहुंचा है. गृह मंत्री ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर में कांग्रेस ने लोकतंत्र का मजाक बनाया हुआ था.

चर्चा के दौरान गृहमंत्री अमित शाह ने साफ कर दिया कि कश्मीर में धारा 370 अस्थाई तौर पर लगाया गया है और यह स्थाई नहीं है. अमित शाह ने कहा, 'अनुच्छेद 370 शेख अब्दुल्ला साहब की सहमति से लागू किया गया था.'

कश्‍मीर में लेकर हमारे अप्रोच में कोई बदलाव नहीं

अमित शाह ने कहा कि कश्मीर को लेकर हमारी अप्रोच में कोई बदलाव नहीं हुआ है जो पहले था वह आगे भी रहेगा. शाह ने इस बिल को पेश करते हुए बताया कि सीमावर्ती इलाकों में रहने वाले लोग सबसे ज्यादा सीमा पार से होने वाली गोलीबारी से प्रभावित होते हैं. उन्हें आरक्षण का लाभ मिलना चाहिए.

शाह ने कहा कि नियंत्रण रेखा से लगे लोगों को जो 3 फीसदी आरक्षण मिलता है, इसके अदंर अंतरराष्‍ट्रीय सीमा के नजदीक रहने वालों को भी 3 फीसदी आरक्षण मिलना चाहिए. ये आरक्षण किसी को भी खुश करने के लिए नहीं लेकिन मानवता के आधार पर उनकी समस्या को देखते हुए दिया जाना चाहिए.



जम्मू और लद्दाख भी राज्य का हिस्सा

अमित शाह ने कहा कि पहली बार जनता महसूस कर रही है कि जम्मू और लद्दाख भी राज्य का हिस्सा है. सबको अधिकार देने का काम मोदी सरकार ने किया है. हमारे लिए सीमा पर रहने वाले लोगों की जान कीमती है और इसलिए सीमा पर बंकर बनाने का फैसला हुआ है. कश्मीर में लोकतंत्र बहाल रहे ये, बीजेपी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है.

इस बिल पर चर्चा के दौरान अमित शाह ने कांग्रेस पर जमकर हमला किया. अमित शाह ने कहा कि कश्मीर की आवाम में शंका के बीज रोपने का काम कांग्रेस की सरकार ने किया है. कांग्रेस की सरकार में जनता का विश्वास चूर होता गया और आतंकवाद चरम पर चला गया. अमित शाह ने कहा उस वक़्त भारत का झंडा फहराना भी कश्मीर में मुमकिन नहीं था, लेकिन अब चीजे बदल गयी है.

 



जमात ए इस्लामी पर आज तक क्यों पाबंदी नहीं लगाया गया?

अमित शाह ने कहा कि हमने कश्मीर में सुरक्षाबलों की सभी जरूरतों को पूरा करने का काम किया है और आजादी के बाद यह पहली बार हो सका. देश में अब तक 132 बार धारा 356 का इस्तेमाल हुआ और 93 बार कांग्रेस ने इसका इस्तेमाल किया है.

आज विशेष हालात में राष्ट्रपति शासन लगाया जा रहा लेकिन आपने तो चुनी हुई सरकार को गिराने का काम किया और इस धारा का सियासी इस्तेमाल किया है. अमित शाह ने कहा कि जमात ए इस्लामी पर आज तक क्यों पाबंदी नहीं लगाया गया, किसे खुश करने के लिए? जेकेएलएफ पर पाबंदी हमने लगाने का काम किया_ आतंकवादियों को समर्थन देने वाले सभी लोगों पर दबाव डाला गया है.

कश्मीर में लोकतंत्र की हत्या होती थी: शाह

शाह ने कहा कि पहले कश्मीर में लोकतंत्र की हत्या होती थी और चुनाव के नाम पर फर्जीवाड़ा किया जाता रहा है. हमारे शासन में भी चुनाव हुए, लेकिन हमनें बहुमत के लिए कोई और रास्‍ता नहीं खोजा. कश्मीर में जब आयोग चाहेगा तब चुनाव होंगे केंद्र सरकार की कोई दखल नहीं होगी. अमित शाह ने कहा कि हमारी सरकार में चुनाव आयोग के फैसले वही लेता है पहले कांग्रेस चुनाव आयोग चलाती थी.



कांग्रेस ने कराया था विभाजन

लोकसभा में चर्चा के दौरान अमित शाह ने पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का भी जिक्र किया, जिसके बाद सदन में हंगामा शुरू हो गया और कांग्रेसी सांसदों ने अपनी सीटों से खड़े होकर विरोध किया. अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस के नेता विभाजन पर सवाल उठा रहे हैं लेकिन इस विभाजन की सहमति किसने दी. यह गलती हमने नहीं आपकी पार्टी ने की है. अमित शाह ने कहा कि कश्मीर का एक तिहाई हिस्सा हमारे पास नहीं है इसके लिए कौन जिम्मेदार है. नेहरू ने कश्मीर नीति पर देश के गृहमंत्री को भी भरोसे में नहीं लिया था और अगर लेते तो आतंकवाद का मूल ही खत्म हो जाता.

पहले आतंकियों को जवाब नहीं देती थी सरकार

लोकसभा में अमित शाह ने एयर स्ट्राइक का भी जिक्र किया. अमित शाह ने कहा कि पहले आतंकी घटनाओं का जवाब नहीं दिया जाता था, पहले की सरकार केवल सुनती थी. लेकिन मोदी सरकार ने एयर स्ट्राइक के जरिए पाकिस्तान के घर में घुसकर आतंकवाद का सफाया किया.

अमित शाह ने कहा कि कश्मीर में पाक प्रेरित आतंकवाद है और हमने आतंक के खिलाफ लड़ाई का तरीका बदला है. हमने आतंकवाद की जड़ में घुसकर उसे खत्म करने का काम किया है. हमने एयर स्ट्राइक और सर्जिकल स्ट्राइक की. हमारे स्ट्राइक में एक भी नागरिक की मौत नहीं हुई सिर्फ आतंकवादी मारे गए.



पहले भारत का विरोध करने पर मिलती थी सरकारी सुरक्षा 

सदन में गृह मंत्री अमित शाह ने सीमावर्ती इलाकों में रह रहे कश्मीरियों की दिक्कतों के बारे में जिक्र करते हुए बिल को काफी अहम बताया. अमित शाह ने कहा कि पहले भारत विरोधी बयान देने पर सरकारी सुरक्षा दे दी जाती थी. भारत की बात करने वाले को नहीं भारत का विरोध करने वालों को सुरक्षा दी जाती थी. लेकिन हमारी सरकार ने ऐसे लोगों को मिलने वाली सुरक्षा को हटाने का काम किया है. उन्होंने कहा कि देश में पाकिस्तानी चैनलों के प्रसारण को बंद करने का काम किया, क्योंकि उनके जरिए भारत के खिलाफ जहर उगला जाता था.

ये सरकार नहीं बर्दाश्‍त नहीं आतंकवाद

गृह मंत्री अमित शाह ने सभी सदस्यों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि काफी सदस्यों ने जम्मू कश्मीर की सुरक्षा और देश की सुरक्षा पर चिंता जताई है. उन्हें आश्वस्त करना चाहता हूं कि मोदी सरकार आतंकवाद के खिलाफ जीरो टोलरेंस की नीति अपनाकर चल रहे हैं और इस समस्या को जड़ से उखाड़ कर रहेंगे. अमित शाह ने कहा कि हमारी विचारधारा भारत माता के हित में समाहित है. इससे ऊपर उठने की जरूरत नहीं है. गृहमंत्री ने कहा कि 2014 में सरकार बनने के पहले दिन से हमारी सरकार ने जम्मू कश्मीर को प्राथमिकता दी है. सबसे पहले हमने वहां सीआरपीएफ की तैनाती को बढ़ाया ताकि जवानों की कमी कश्मीर में न हो.

ये भी पढ़ें: J&K में साल के अंत तक चुनाव! राष्‍ट्रपति शासन 6 माह बढ़ाया

ये भी पढ़ें: 'कश्मीरियत का मतलब है भारत से जुड़ना, न कि भारत से अलग होना'

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज