Assembly Banner 2021

Exclusive: हावड़ा में बरसे अमित शाह, बोले- दीदी जितने भी पैसे बांटे बंगाल में परिवर्तन होकर रहेगा

 चौथे चरण के तहत 10 अप्रैल को वोटिंग होने जा रही है. (File pic)

चौथे चरण के तहत 10 अप्रैल को वोटिंग होने जा रही है. (File pic)

West Bengal Assembly Elections: गृह मंत्री अमित शाह का कहना था कि ममता बनर्जी खुद पश्चिम बंगाल में पैसे बांटने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन अब यह सब नहीं चलेगा पश्चिम बंगाल के लोग पूरी भावना समझ चुके हैं और परिवर्तन यहां पर होकर ही रहेगा.

  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल चुनाव (West Bengal Elections 2021) में चौथे चरण के मतदान से पहले गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit shah) ने 7 अप्रैल को उन जगहों का दौरा किया जहां पर वोटिंग होनी है. इन जगहों में सिंगूर और हावड़ा भी शामिल था. कोलकाता से सटे हावड़ा में न्यूज18 इंडिया ने अमित शाह के साथ खास बातचीत की.

तृणमूल कांग्रेस ने बीजेपी के ऊपर आरोप लगाया कि रोड शो और रैलियों के लिए बीजेपी 1 हजार रुपये का कूपन दे रही है. लोगों को और उन्हें यहां पर आने को कह रही है.

इस सवाल के जवाब में गृह मंत्री अमित शाह का कहना था कि ममता बनर्जी खुद पश्चिम बंगाल में पैसे बांटने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन अब यह सब नहीं चलेगा पश्चिम बंगाल के लोग पूरी भावना समझ चुके हैं और परिवर्तन यहां पर होकर ही रहेगा.



बीजेपी की 63 से 68 सीटें जीतने का किया दावा
बीजेपी की चुनावी तैयारियां क्या है इस पर भी सिलसिलेवार तरीके पर गृह मंत्री शाह का कहना था कि पहले दूसरे और तीसरे चरण के चुनाव के बाद 63 से 68 सीट बीजेपी के पास आ रही है. जैसे-जैसे चुनाव प्रक्रिया आगे बढ़ेगी बीजेपी द्वारा यह अनुमान लगाया जा रहा है कि सीटों की संख्या बढ़ेगी और 2 मई को जब नतीजे सामने आएंगे तो यह आंकड़ा 200 के पार हो जाएगा.

ये भी पढ़ेंः- 'मुस्लिम अपना वोट न बंटने दें'- ममता के बयान पर चुनाव आयोग ने भेजा नोटिस

हावड़ा है TMC का मजबूत गढ़
दरसल हावड़ा पश्चिम बंगाल के सबसे बड़े शहरों में से एक है और यह टीएमसी का मजबूत गढ़ रहा है. बीजेपी ने अपने पूरे चुनाव प्रचार अभियान के दौरान हावड़ा से जुड़े उद्योग और यहां पर मूलभूत सुविधा को लेकर तृणमूल सरकार पर निशाना साधा था.

गृह मंत्री अमित शाह की तरह ही पार्टी के अन्य नेता भी इस इलाके में चुनाव प्रचार के दौरान यह मुद्दा उठाते रहे हैं. बीजेपी को उम्मीद है कि इसे सघन चुनाव प्रचार अभियान से उसे यहां पर जरूर फायदा होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज