लाइव टीवी

'रन फॉर यूनिटी' को हरी झंडी दिखाकर बोले अमित शाह- आर्टिकल 370 हटाकर PM मोदी ने आतंकवाद का रास्ता बंद किया

News18Hindi
Updated: October 31, 2019, 11:34 AM IST
'रन फॉर यूनिटी' को हरी झंडी दिखाकर बोले अमित शाह- आर्टिकल 370 हटाकर PM मोदी ने आतंकवाद का रास्ता बंद किया
अमित शाह ने कहा, अनुच्छेद 370 को हटाकर पीएम मोदी ने पटेल के सपने को पूरा किया

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा, ‘अनुच्छेद 370 (Article 370) और अनुच्छेद 35ए (Article 35A) भारत में आतंकवाद का रास्ता थे. प्रधानमंत्री मोदी ने उन्हें रद्द कर इस प्रवेशद्वार को बंद कर दिया है.’

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2019, 11:34 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने गुरुवार को कहा कि अनुच्छेद 370 (Article 370) और अनुच्छेद 35ए (Article 35A) जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में आतंकवाद के मुख्य रास्ते थे. जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने समाप्त कर उस प्रवेशद्वार को बंद कर दिया है. अमित शाह ने कहा कि जम्मू कश्मीर का बाकी देश के साथ एकीकरण का सरदार वल्लभभाई पटेल का अधूरा सपना था, जिसे पांच अगस्त को पूरा किया गया.

सरदार पटेल (Vallabhbhai Patel) की 144वीं जयंती के मौके पर यहां ‘एकता दौड़’ की शुरुआत करते हुए गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा, ‘अनुच्छेद 370 (Article 370) और अनुच्छेद 35ए (Article 35A) भारत में आतंकवाद का रास्ता थे. प्रधानमंत्री मोदी ने उन्हें रद्द कर इस प्रवेशद्वार को बंद कर दिया है.’

अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए के अधिकतर प्रावधानों को समाप्त करने वाला प्रस्ताव संसद के दोनों सदनों में अगस्त में पेश करने वाले अमित शाह ने कहा कि जब भारत को आजादी मिली थी उस वक्त यहां 550 से ज्यादा रियासतें थीं और सब को लगता था कि भले ही भारत को आजादी मिल गई हो लेकिन देश विघटित ही रहेगा. शाह ने कहा कि उस वक्त महात्मा गांधी ने सारी रियासतों के भारत संघ में विलय की जिम्मेदारी पटेल को सौंपी थीं और इस काम को पटेल ने उत्कृष्टता से पूरा किया. उन्होंने कहा कि एक काम पूरा होना बाकी रह गया था और वह काम था जम्मू कश्मीर का भारत संघ में पूर्ण एकीकरण.

अनुच्छेद 370 और 35ए देश के एकीकरण में थे बाधा

दिल्ली के मेजर ध्यानचंद स्टेडियम में हजारों लोगों की भीड़ को संबोधित करते हुए शाह ने कहा,‘’अनुच्छेद 370 और 35ए इस एकीकरण की राह में बड़ी बाधा थे और किसी ने भी इस विषय को हाथ नहीं लगाया. जम्मू कश्मीर का बाकी देश के साथ एकीकरण का सरदार वल्लभभाई पटेल का अधूरा सपना पांच अगस्त को पूरा हुआ जब अनुच्छेद 370 और 35ए रद्द किये गए.’

370 हटाकर पटेल को दिया सम्मान
गृह मंत्री ने कहा कि 2019 लोकसभा चुनाव में नरेन्द्र मोदी को मिली प्रचंड जीत के बाद दोनों अनुच्छेदों को समाप्त करने का निर्णय किया गया. शाह ने कहा कि कई वर्षों तक पटेल को वह सम्मान नहीं मिला जिसके वह हकदार थे. उनकी अनदेखी की गई और उन्हें भुलाने तक की कोशिश की गई. पटेल को भारत रत्न नहीं दिया गया, उनकी प्रतिमा नहीं लगाई गई और न ही उनका चित्र लगाने की अनुमति थी. उन्होंने कहा कि जब मोदी प्रधानमंत्री बने तब उन्होंने पटेल को वह सम्मान देना शुरू किया जिसके वह हकदार थे.
Loading...

गुजरात के केवडिया में स्थित पटेल की 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि मोदी ने किसानों से लोहे के टुकड़े, गुजरात के हर गांव से मिट्टी और विभिन्न नदियों के पानी लेकर उस शख्स को विनम्र श्रद्धांजलि दी जिन्होंने देश को एकजुट किया.

उन्होंने कहा कि भारत का नक्शा जैसा आज दिखता है वह देश की 550 से अधिक रियासतों को एक करने के पटेल के प्रयासों के कारण है. शाह ने कहा,"सरदार पटेल के कारण एकीकृत भारत अस्तित्व में आया और आज हम उन्हें विनम्रतापूर्वक याद करते हैं.’

रन फॉर यूनिटी को दिखाई हरी झंडी
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस मौके पर राष्ट्रीय राजधानी में बृहस्पतिवार को ‘एकता दौड़’ (रन फॉर यूनिटी) को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया. करीब डेढ़ किलोमीटर लंबी इस दौड़ में हिस्सा लेने वाले लोगों ने सफेद रंग की टी शर्ट पहनी हुई थी और उनके हाथों में पटेल की तस्वीर थी. ये लोग दौड़ में शामिल होने के लिए नेशनल स्टेडियम और इंडिया गेट पर इकट्ठा थे. शाह में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की.

(इनपुट भाषा)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 11:31 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...