Home /News /nation /

कश्मीर के युवाओं से बोले गृह मंत्री अमित शाह- दोस्ती करने आया हूं, परिसीमन, चुनाव और राज्य के दर्जे पर बताया केंद्र का प्लान

कश्मीर के युवाओं से बोले गृह मंत्री अमित शाह- दोस्ती करने आया हूं, परिसीमन, चुनाव और राज्य के दर्जे पर बताया केंद्र का प्लान

श्रीनगर में युवा क्लब के सदस्यों के साथ बातचीत करते केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह.

श्रीनगर में युवा क्लब के सदस्यों के साथ बातचीत करते केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह.

Amit Shah Jammu Kashmir Visit: जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद केंद्र शासित प्रदेश की यह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की पहली यात्रा है.

    श्रीनगर. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को कश्मीर के युवाओं को भरोसा दिलाया कि उनकी बेहतरी के लिए कदम उठाए जाएंगे. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यहां के युवाओं को मौका मिले, इसके लिए केंद्रशासित प्रदेश का जल्द ही परिसीमन होगा. केंद्रीय मंत्री ने एक युवा क्लब के सदस्यों के साथ बातचीत में परिसीमन को रोकने से जुड़े सवाल के जवाब में कहा, “इसे क्यों रोकना है. क्योंकि हमारी राजनीति का नुकसान होता है. लेकिन अब कश्मीर में ऐसा कुछ होने वाला नहीं है.”

    गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि राज्य में आतंकवाद की घटना में कमी आई है. पथराव की घटना अदृश्य हो गई है. उन्होंने कट्टरपंथियों को चेतावनी देते हुए कहा राज्य की शांति को जो लोग खलल पहुंचाना चाहते हैं उसके साथ सख्ती से निपटा जाएगा.

    ‘कश्मीरी युवाओं से दोस्ती करने आया हूं’
    उन्होंने कहा, “मैं यहां कश्मीर के युवाओं से मित्रता करने आया हूं. मोदी जी और भारत सरकार के साथ हाथ मिलाइए और कश्मीर को आगे ले जाने की यात्रा में भागीदार बनिये.” गृह मंत्री ने कहा कि कश्मीर के युवाओं को अपनी प्रगति के लिए सरकार द्वारा बनाए जा रहे विभिन्न मौकों का लाभ उठाना चाहिए. शाह ने जोर दिया कि सरकार जम्मू कश्मीर में शांति और विकास के लिए प्रतिबद्ध है.

    ‘पीएम मोदी कश्मीर में शांति, समृद्धि और विकास देखना चाहते हैं’
    शाह ने कहा, “ईश्वर ने प्राकृतिक सुंदरता के साथ कश्मीर को स्वर्ग बनाया है, लेकिन मोदी जी यहां शांति, समृद्धि और विकास भी देखना चाहते हैं. उसके लिए, मैं यहां कश्मीर के युवाओं से समर्थन मांगने के लिए आया हूं.” उन्होंने कहा, “प्रशासन ने मित्रता का हाथ बढ़ाया है, युवा क्लब स्थापित किए गए हैं, आपको एक मंच, एक मौका दिया गया है, इसलिए आगे आएं और इस मौके का लाभ उठाएं. यहां लोकतंत्र को मजबूत बनाएं, युवा उन तत्वों को जवाब दें जो लोगों को गुमराह करने की कोशिश करते हैं.”

    ‘जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा बहाल किया जाएगा’
    गृह मंत्री ने कहा कि उन्होंने संसद में वादा किया है कि जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा बहाल किया जाएगा और यह विधानसभा चुनाव के बाद किया जाएगा. उन्होंने कहा, “चुनाव होंगे. (कश्मीर के नेतागण चाहते हैं कि) परिसीमन को रोक दिया जाए. क्यों? क्योंकि इससे उनकी राजनीति को नुकसान होता है. अब, कश्मीर में ऐसी चीजें नहीं रुकेंगी.” शाह ने कहा, “कश्मीर के युवाओं को मौके मिलेंगे, इसलिए एक सही परिसीमन किया जाएगा, उसके बाद चुनाव होंगे और फिर राज्य का दर्जा बहाल किया जाएगा. मैंने देश की संसद में यह कहा है और इसका यह रोडमैप है.”

    अमित शाह ने की उच्च स्तरीय सुरक्षा समीक्षा बैठक की अध्यक्षता
    इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर के अपने तीन दिवसीय दौरे के पहले दिन शनिवार को श्रीनगर में एक उच्च स्तरीय सुरक्षा समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की. बैठक में उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, नागरिक, सैन्य, अर्धसैनिक बलों और केंद्र शासित प्रदेश और केंद्र सरकार की खुफिया एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए. बैठक के दौरान सुरक्षा बलों द्वारा किए गए आतंकवाद रोधी और घुसपैठ रोधी उपायों पर भी चर्चा की गई.

    जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद केंद्र शासित प्रदेश की यह उनकी पहली यात्रा है. अधिकारियों ने बताया कि श्रीनगर हवाई अड्डे पर उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने शाह का स्वागत किया, जहां जम्मू कश्मीर प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे. पांच अगस्त, 2019 को अनुच्छेद 370 को निरस्त करने और जम्मू कश्मीर राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के बाद शाह की यह पहली कश्मीर यात्रा है. शाह के घाटी दौरे से पहले पूरे कश्मीर में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है.

    Tags: Amit shah, Jaamu kashmir

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर