अपना शहर चुनें

States

गुवाहाटी: अमित शाह का विपक्ष पर वार, कहा- आपने असम के युवाओं को शहीद करने का काम किया

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने एयरपोर्ट पर गृहमंत्री अमित शाह का किया स्वागत.
असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने एयरपोर्ट पर गृहमंत्री अमित शाह का किया स्वागत.

असम (Assam) में वह स्थानीय जनजातीय समूह से मुलाकात करेंगे और मेडिकल कालेज की आधारशिला रखेंगे. वहीं, अगले दिन 27 दिसंबर को इंफाल में पुलिस हेडक्वार्टर के निर्माण कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 26, 2020, 7:07 PM IST
  • Share this:
गुवाहाटी. भारत सरकार में गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) पूर्वोत्तर के दौरे पर पहुंचे हैं. दो दिवसीय दौरे पर शाह 26 सोमवार को असम के गुवाहाटी (Guwahati) पहुंचे. यहां उन्होंने असम में विकासकार्यों की बात की. उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर के विकास के बगैर भारत का विकास नहीं होगा. इस दौरान गृहमंत्री ने राज्य में अस्पताल, कॉलेज समेत कई विकासकार्यों की आधारशिला रखी. साथ ही उन्होंने 8000 नामघरों को आर्थिक सहायता देने की बात कही. अब 2.5 लाख रुपए की मदद हर नामघर को दी जाएगी. गौरतलब है कि आगामी 2021 में असम में भी विधानसभा चुनाव होने हैं.

असम को दिल्ली में प्राथमिकता दी
अमित शाह ने कहा कि असम को इन 6 साल के अंदर हमने कभी पराया नहीं समझा. असम को दिल्ली ने प्राथमिकता दी है, नार्थ ईस्ट को प्राथमिकता दी है. उन्होंने कहा कि हर योजना का फायदा असम और यहां की जनता को पहुंचे इसका प्रयास हमने किया है. गृहमंत्री शाह ने गुवाहाटी में विपक्षी दलों पर भी निशाना साधा है. उन्होंने कहा 'चुनाव का मौसम आने वाला है. फिर से ये अलगाववाद की बात करने वाले चेहरा और रंगरूप सब बदलकर लोगों के बीच मे आएंगे. हमें उल्टा सुलटा समझाएंगे, आंदोलन की दिशा में ले जाएंगे.' शाह ने कहा 'मैं उन सबसे आज पूछना चाहता हूं कि क्या दिया आपने असम के लोगों को आंदोलन करके. कोई विकास कार्य नहीं हुआ, अगर हुआ तो केवल असम के युवाओं को शहीद करने का काम हुआ.'


राज्य में कोरोना के हालात की तारीफ


उन्होंने कहा कि राज्य में में केवल दो समस्याएं हैं. एक घुसपैठ और दूसरा बाढ़. ये दोनों समस्याएं बीजेपी की डबल इंजन वाली सरकार ही दूर कर सकती है. शाह ने 2020 में असम में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में बीजेपी की जीत का दावा किया है. इसके अलावा उन्होंने राज्य में कोरोना वायरस (Corona Virus) नियंत्रण की भी तारीफ की उन्होंने कहा 'मुझे ये कहते हुए खुशी हो रही है कि देश मे कोरोना का सामना करने में असम सबसे ऊपर के राज्यों में रहा है. टेस्टिंग के मामले में ये आगे रहा. यहां मृत्यु दर भी .47 % रही.'

'असम ने देश को CJI गोगोई दिए'
शाह ने राज्य में कई विकास कार्यों का ऐलान किया है. उन्होंने बताया कि आज राज्य के अंतर्गत 11 विधि कॉलेजों की स्थापना की आधारशिला रखी गई है. उन्होंने इस दौरान पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा 'असम ने इस देश को गोगोई साहब के रूप में CJI देने का काम किया है.' उन्होंने कहा 'मोदी जी ने 2013 के चुनाव अभियान में कहा था कि जब तक पूर्वी भारत विकसित नहीं होता, भारत का विकास असंभव है. 2014 में देश की जनता ने मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाया, मोदी जी के जो शब्द थें, उसको उन्होंने चरितार्थ किया है.'

पूर्वोत्तर पहुंचे गृहमंत्री ने यहां राज्यों में हिंसा पर भी बात की. उन्होंने कहा 'एक जमाने में यहां के सारे राज्यों में अलगाववादी अपना एजेंडा चलाते थे, युवाओं के हाथों में बंदूक पकड़ाते थे.' उन्होंने कहा 'आज वो सभी संगठन मुख्य प्रवाह में शामिल हो गए हैं और आज युवा अपने नए स्टार्टअप के साथ विश्व भर के युवा के साथ स्पर्धा करके अपने अष्टलक्ष्मी को भारत की अष्टलक्ष्मी बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं.'

शाह 26 और 27 दिसंबर को गुवाहाटी (Guwahati) और इंफाल (Imphal) में रहेंगे. वह असम (Assam) में वह स्थानीय जनजातीय समूह से मुलाकात करेंगे और मेडिकल कालेज की आधारशिला रखेंगे. वहीं, अगले दिन 27 दिसंबर को इंफाल में पुलिस हेडक्वार्टर के निर्माण कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे.

इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा
शाह के इस दौरे पर कई बडे़ मुद्दों को लेकर चर्चा होने की संभावना है. अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, सूत्र बताते हैं कि छठी अनुसूची में संशोधन, मणिपुर भूमि सुधार और राजस्व अधिनियम, उग्रवाद, मणिपुर बीजेपी इकाई संगठन में बदलाव, ड्रग्स और इंडो-म्यांमार सीमा मुद्दों पर बात हो सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज