एमनेस्‍टी इंटरनेशनल ने भारत में बंद किया कामकाज, सरकार पर लगाए ये आरोप

एमनेस्टी ने भारत में गतिविधि रोकने की घोषणा की, लगातार निशाना बनाये जाने का आरोप लगाया (AP)
एमनेस्टी ने भारत में गतिविधि रोकने की घोषणा की, लगातार निशाना बनाये जाने का आरोप लगाया (AP)

Amnesty International India: एमनेस्टी इंडिया ने एक बयान में कहा कि संगठन को भारत में कर्मचारियों को निकालने और उसके जारी सभी अभियान और अनुसंधान कार्यों को रोकने के लिए मजबूर किया गया है.

  • भाषा
  • Last Updated: September 29, 2020, 4:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एमनेस्टी इंटरनेशनल (Amnesty International) ने मंगलवार को कहा कि वह भारत (India) में उसके खातों के फ्रीज होने के कारण अपनी सभी गतिविधियों को रोक रहा है और दावा किया है कि उसको निराधार और प्रेरित आरोपों को लेकर लगातार निशाना बनाया जा रहा है. एमनेस्टी इंडिया (Amnesty India) ने एक बयान में कहा कि संगठन को भारत में कर्मचारियों को निकालने और उसके जारी सभी अभियान और अनुसंधान कार्यों को रोकने के लिए मजबूर किया गया है.

उन्होंने कहा, 'भारत सरकार ने एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया के बैंक खातों को पूरी तरह से फ्रीज कर दिया है, जिसके बारे में 10 सितंबर 2020 को पता चला था, इसलिए संगठन द्वारा किए जा रहे सभी कामों को रोक दिया गया है.' हालांकि, सरकार ने कहा है कि एमनेस्टी को अवैध रूप से विदेशी धन प्राप्त हो रहा है. प्रवर्तन निदेशालय ने 2018 में बेंगलुरु में एमनेस्टी इंटरनेशनल के मुख्यालय की तलाशी ली थी. ये छापे विदेशी मुद्रा अधिनियम के कथित उल्लंघन के लिए किए गए थे.

ये भी पढ़ें: क्यों और कि संकट में फंसा हैं Lakshmi Vilas Bank! RBI के फैसले से क्या होगा ग्राहकों पर असर, जानिए सबकुछ



ये भी पढ़ें: PM मोदी बोले- देश में MSP भी रहेगी और किसानों को कहीं भी फसल बेचने की आजादी भी
एमनेस्‍टी इंडिया ने सरकार पर लगाए ये आरोप
संगठन ने दावा किया कि एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया और अन्य मुखर मानवाधिकार संगठनों, कार्यकर्ताओं और मानवाधिकार रक्षकों पर हमले केवल विभिन्न 'दमनकारी नीतियों और सत्य बोलने वालों पर सरकार द्वारा निरंतर हमले' का विस्तार है. एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया ने कहा, 'भारत सरकार द्वारा मानवाधिकार संगठनों पर निराधार और प्रेरित आरोपों को लेकर लगातार किए जा रहे हमलों की कड़ी में यह नई घटना है.' संगठन ने कहा कि वह सभी भारतीय और अंतरराष्ट्रीय कानूनों का पूर्ण पालन करता आया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज