लाइव टीवी

Super Cyclone Amphan Live: बुधवार को तट से टकराएगा सुपर साइक्लोन, गृह मंत्री अमित शाह ने ममता बनर्जी से की बात

News18Hindi
Updated: May 19, 2020, 11:11 AM IST
Super Cyclone Amphan Live: बुधवार को तट से टकराएगा सुपर साइक्लोन, गृह मंत्री अमित शाह ने ममता बनर्जी से की बात
आज ओडिशा और पश्चिम बंगाल में दिखेगा अम्फान तूफान का असर.

Super Cyclone Amphan: चक्रवात ‘अम्फान’ के 20 मई को विकराल रूप के साथ पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटीय इलाकों से टकराने का अनुमान है. किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए सेना, एयरफोर्स, नेवी और कोस्ट गार्ड की टीमों को भी अलर्ट पर रखा गया है.

  • Share this:
नई दिल्ली.  भारत में इस सदी का पहला सुपर साइक्लोन आने वाला है. 'अम्‍फान’नाम का ये सुपर साइक्‍लोन (Super Cyclone Amphan) 20 मई यानी कल पश्चिम बंगाल के तट से टकराएगा. 20 साल के बाद भारत पर किसी सुपर साइक्लोन का खतरा मंडरा रहा है. इससे पहले साल 1999 में सुपर साइक्लोन ने ओडिशा में तबाही मचाई थी. सुपर साइक्लोन की कैटेगरी में उस तूफान को रखा जाता है जिसकी रफ्तार 240-250 किलोमीटर प्रति घंटे से ज्यादा हो. लेकिन अच्छी खबर ये है कि इस सुपर साइक्लोन की कमजोर पड़ने की आशंका जताई जा रही है. यहां पढ़ें सुपर साइक्लोन की ताजा अपडेट:-

>तूफान के खतरे को देखते हुए कैबिनेट सचिव राजीव गौबा आज दोपहर 12 बजे राष्ट्रीय आपदा मोनेंटरिंग कमेटी की बैठक लेंगे. इस बीच गृहमंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से तूफान को लेकर बातचीत की है.

> मौसम विभाग के ताजा अपडेट के मुताबिक सुपर साइक्लोन कमजोर पड़ सकता है. ऐसे में ये एक बार फिर से खतरनाक तूफान का रुप ले सकता है. सुबह 5 बजकर 30 मिनट पर ये तूफान 14 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा था. अगले 6 घंटे में तूफान की रफ्तार घट सकती है. ऐसे में हवा की रफ्तार 180 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है.



कितना खतरनाक है तूफान



मौसम विभाग (IMD) के डायरेक्‍टर जनरल मृत्‍युंजय मोहापात्र ने जानकारी दी है कि चक्रवात अम्‍फान का रास्‍ता 2019 में आए बुलबुल तूफान की तरह है. लेकिन, जब यह जमीन पर टकराएगा तो 1999 के सुपर साइक्‍लोन फानी के जितना प्रचंड नहीं रहेगा.

मौजूदा हालात
पश्चिम बंगाल और ओडिशा के कई इलाकों में सुपर साइक्लोन 'अम्‍फान’ का असर दिखना शुरू हो गया है. तेज हवाओं के साथ लगातार बारिश हो रही है. शाम तक हवा की रफ्तार बढ़ जाएगी. इसके बाद 20 मई की सुबह के बाद तूफान की रफ्तार 200 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार को पार कर जाएगी.

अभी कहां पहुंचा है तूफान
भारत मौसम विभाग के फिलहाल ये तूफान दक्षिणी बंगाल की खाड़ी से लगे पश्चिम-मध्य और मध्य हिस्सों के ऊपर है जो पारादीप (ओडिशा) के करीब 520 किलोमीटर दक्षिण, दीघा (पश्चिम बंगाल) से 670 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिणपश्चिम और खेपुपारा (बांग्लादेश) से 800 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिणपश्चिम में है.

हवा की रफ्तार
19 मई की सुबह से ओडिशा में 65 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चल सकती है. हवा की रफ्तार लगातार बढ़ सकती है. सोमवार को पश्चिम बंगाल के तटीय इलाके में हवा की रफ्तार 60-70 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है. जबकि जिस दिन ये तूफान तट से टकराएगा उस दिन हवा की रफ्तार 250 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है.

ओडिशा-पश्चिम बंगाल में बारिश
ओडिशा के कई इलाकों में हल्की से तेज बारिश शुरू हो गई है. यहां के 12 जिलों में तूफान के साथ भारी बारिश की आशंका जताई गई है. राज्य के 12 तटीय जिले गंजम, गजपति, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक, बालासोर, मयूरभंज, जाजपुर, कटक, खुर्दा और नयागढ़ में हाई अलर्ट है. चक्रवात के कारण उत्तर एवं दक्षिण 24 परगना जिले, कोलकाता, पूर्वी एवं पश्चिमी मिदनापुर, हावड़ा और हुगली सहित गंगाई पश्चिम बंगाल के तटवर्ती जिलों में 19 मई को कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश और छिटपुट स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है.

ये भी पढ़ें:

सरकार की इन योजनाओं के बारे में नहीं जानते होंगे आप, मिलते हैं सालाना ₹36 हजार

दुनिया में कोरोना Live: बीते 24 घंटे में 88000 नए केस मिले, करीब 3500 की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 19, 2020, 7:00 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading