होम /न्यूज /राष्ट्र /Amravati Violence: महाराष्‍ट्र के पूर्व मंत्री अनिल बोंडे सहित 13 गिरफ्तार, कर्फ्यू में दी गई ढील

Amravati Violence: महाराष्‍ट्र के पूर्व मंत्री अनिल बोंडे सहित 13 गिरफ्तार, कर्फ्यू में दी गई ढील

अमरावती में 13 नवंबर को भाजपा द्वारा बुलाए गए बंद के दौरान दुकानों पर पथराव और आगजनी की घटनाएं सामने आईं थीं.

अमरावती में 13 नवंबर को भाजपा द्वारा बुलाए गए बंद के दौरान दुकानों पर पथराव और आगजनी की घटनाएं सामने आईं थीं.

त्रिपुरा हिंसा (Tripura Violence) में कथित सांप्रदायिक हिंसा के विरोध में शुक्रवार को रजा एकेडमी (Raza Academy) द्वारा ...अधिक पढ़ें

    अमरावती. अमरावती (Amravati) में 13 नवंबर को भाजपा (BJP) द्वारा आहूत बंद के दौरान दुकानों पर पथराव की घटना से जुड़े मामले में महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व कृषि मंत्री और भाजपा नेता अनिल बोंडे (Anil Bonde) और 13 अन्य आरोपियों को सोमवार को गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने यह जानकारी दी. बोंडे के अलावा अमरावती जिले की भाजपा अध्यक्ष निवेदिता चौधरी, शहर के महापौर चेनत गावंडे और भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता शिवराय कुलकर्णी को भी गिरफ्तार किया गया है. इन सभी को एक अदालत के समक्ष पेश किया गया जहां से उन्हें जमानत मिल गई है. इस बीच, सोमवार को अपराह्न दो बजे से चार बजे के बीच कर्फ्यू में ढील दी गई. हालांकि, इंटरनेट सेवाएं निलंबित रहीं.

    अमरावती की पुलिस आयुक्त आरती सिंह ने कहा कि कानून-व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की जा रही है और गृह विभाग के निर्देशों के अनुसार कर्फ्यू के संबंध में अंतिम निर्णय लिया जाएगा. अमरावती शहर में शुक्रवार और शनिवार के बाद हुई सिलसिलेवार हिंसक घटनाओं के संबंध में 26 अलग-अलग अपराधों में 14,673 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. त्रिपुरा में कथित सांप्रदायिक हिंसा के विरोध में शुक्रवार को रजा एकेडमी द्वारा बिना अनुमति कई स्थानों पर निकाली गई रैलियों के दौरान पथराव की घटनाएं सामने आई थीं. इसके बाद, शनिवार को पूर्वी महाराष्ट्र के अमरावती शहर में स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा कथित रूप से आयोजित बंद के दौरान भीड़ द्वारा दुकानों पर पथराव करने के बाद चार दिनों के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया और इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई थीं.

    इसे भी पढ़ें :- त्रिपुरा हिंसा को लेकर महाराष्‍ट्र के अमरावती में बवाल, पुलिस ने लगाया कर्फ्यू

    अमरावती पुलिस ने एक बयान में कहा, रजा अकादमी द्वारा 12 नवंबर को अमरावती जिला कलेक्ट्रेट तक बिना अनुमति लिए निकाले गए मार्च के दौरान हुई हिंसा के सिलसिले में 8,364 लोगों के खिलाफ अपराध दर्ज किए गए और उनमें से नौ को गिरफ्तार किया गया. बयान के मुताबिक, पुलिस ने 13 नवंबर की हिंसा के संबंध में 6,309 लोगों के खिलाफ मुकदमे दर्ज किए हैं और 53 लोगों को गिरफ्तार कर इनके कब्जे से हथियार जब्त किए. इसके मुताबिक, भाजपा और अन्य संगठनों द्वारा किए गए पथराव के चलते एक अधिकारी समेत नौ पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. पुलिस ने दोनों घटनाओं की जांच के लिए अलग-अलग टीम बनाई हैं.

    इसे भी पढ़ें :- त्रिपुरा हिंसा में दिल्ली की दो महिला पत्रकारों पर FIR, सांप्रदायिक तनाव भड़काने का लगा आरोप

    पूर्व मंत्री अनिल बोंडे को सोमवार सुबह उनके आवास से गिरफ्तार किया गया जबकि अन्य भाजपा नेता और विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के कम से कम दो सदस्यों ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.

    Tags: Amravati Violence, Maharashtra, Tripura, Tripura Violence, Violence

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें