Home /News /nation /

केंद्र सरकार को संविधान दिवस मनाते देखकर हंसी आ रही है: महबूबा मुफ्ती

केंद्र सरकार को संविधान दिवस मनाते देखकर हंसी आ रही है: महबूबा मुफ्ती

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जब तक कश्मीर का मुद्दा सुलझ नहीं जाता, तब तक समस्या बनी रहेगी. (फाइल फोटो)

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जब तक कश्मीर का मुद्दा सुलझ नहीं जाता, तब तक समस्या बनी रहेगी. (फाइल फोटो)

Constitution Day: वर्ष 1949 में आज ही के दिन संविधान अंगीकृत करने के उपलक्ष्य में देश में गुरुवार को संविधान दिवस मनाया गया. इसी को लेकर महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर टिप्पणी की है.

    श्रीनगर. पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती (PDP Chief Mehbooba Mufti) ने संविधान दिवस (Constituation Day) के मौके पर गुरुवार को कटाक्ष करते हुए कहा कि केंद्र सरकार (Central Government)को यह दिवस मनाते देखकर हंसी आ रही है क्योंकि संविधान (Consitution) को पहले ही ‘‘भाजपा के विभाजनकारी एजेंडा’ से बदल दिया गया. जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री (Former Jammu Kashmir Chief Minister) ने कहा कि संशोधित नागरिकता कानून (Citizenship Law) या ‘‘लव जिहाद कानून’’(Love Jihad Law) संविधान द्वारा प्रदत्त मौलिक अधिकारों का ‘‘अपमान’’ है. वर्ष 1949 में आज ही के दिन संविधान अंगीकृत करने के उपलक्ष्य में देश में गुरुवार को संविधान दिवस मनाया गया.

    महबूबा ने कहा, ‘‘भारत सरकार को ‘संविधान दिवस’ मनाते देखकर हंसी आ रही है क्योंकि उन्होंने पहले ही संविधान को हटाकर भाजपा के विभाजनकारी एजेंडा को लागू कर दिया. सीएए, एनआरसी या लव जिहाद जैसा कानून तैयार करना भारतीय संविधान द्वारा प्रदत्त मौलिक अधिकारों का अपमान है और यह हिटलर के शासन को भी शर्मसार कर देगा.’’



    एक अन्य ट्वीट में पीडीपी अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि सीबीआई, एनआईए और प्रवर्तन निदेशालय जैसी केंद्रीय एजेंसियां कश्मीरी नेताओं को ‘‘प्रताड़ित’’ कर रही है और जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनावों में भागीदारी के लिए उन्हें ‘‘परेशान’’ किया जा रहा है.



    उन्होंने कहा, ‘‘केंद्र सरकार सीबीआई, एनआईए और ईडी जैसी एजेंसियों के जरिए कश्मीरी नेताओं को प्रताड़ित कर रही है. डीडीसी चुनावों में भागीदारी के लिए उन्हें परेशान और दंडित किया जा रहा है.’’

    ये भी पढ़ें- LAC पर चीन की हर चाल होगी नाकाम! भारतीय सेना को मिलने जा रहे हैं खास इजरायली और अमेरिकी ड्रोन

    बता दें राष्ट्रीय जांच एजेंसी (National Investigation Agency) ने बुधवार को जम्मू-कश्मीर में अलगाववाद से संबंधित एक मामले के सिलसिले में पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के युवा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष वहीद उर रहमान पर्रा (Waheed-ur-Rehman Para) को दो दिन की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया था. पर्रा ने हाल ही में केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में आगामी जिला विकास परिषद चुनावों के लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल किया है. इसी को लेकर मुफ्ती से केंद्र सरकार पर निशाना साधा है.

    Tags: Constitution of India, Jammu kashmir, Mehbooba mufti, PDP

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर