लाइव टीवी

खांसी, छींक से 8 मीटर तक जा सकता है कोरोना वायरस, घंटों तक रह सकता है हवा में: वैज्ञानिक

News18Hindi
Updated: April 1, 2020, 7:40 PM IST
खांसी, छींक से 8 मीटर तक जा सकता है कोरोना वायरस, घंटों तक रह सकता है हवा में: वैज्ञानिक
सीडीसी ने कहा कि सामाजिक दूरी के मौजूदा दिशानिर्देश पर्याप्त नहीं हैं

वैज्ञानिकों ने आगाह किया कि खांसी या छींक की वजह से निकलने वाली सूक्ष्म बूंदें 23 से 27 फुट या 7-8 मीटर तक जा सकती हैं जिससे कोरोना वायरस (Coronavirus) फैलने का खतरा बढ़ सकता है

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) को फैलने से रोकने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) और ‘अमेरिका रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र’ (सीडीसी) के सामाजिक दूरी के मौजूदा दिशानिर्देश पर्याप्त नहीं हैं और खांसी या छींकने से यह वायरस आठ मीटर दूर तक जा सकता है. ‘जर्नल ऑफ द अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन’ में प्रकाशित अनुसंधान के अनुसार डब्ल्यूएचओ (WHO) तथा सीडीसी ने इस समय जो दिशानिर्देश जारी किये हैं वे खांसी, छींक या श्वसन प्रक्रिया से बनने वाले ‘गैस क्लाउड’ के 1930 के दशक के पुराने पड़ चुके मॉडलों पर आधारित हैं.

7-8 मीटर तक जा सकती हैं बूंदे
अध्ययनकर्ता एमआईटी की एसोसिएट प्रोफेसर लीडिया बुरूइबा ने आगाह किया कि खांसी या छींक की वजह से निकलने वाली सुक्ष्म बूंदें 23 से 27 फुट या 7-8 मीटर तक जा सकती हैं. उन्होंने कहा कि मौजूदा दिशानिर्देश बूंदों के आकार की अति सामान्यकृत अवधारणाओं पर आधारित है और इस घातक रोग के खिलाफ प्रस्तावित उपायों के प्रभावों को सीमित कर सकते हैं.

आयुष मंत्रालय ने जारी किए दिशानिर्देश



आयुष मंत्रालय (Ayush Ministry) ने कोरोना वायरस के मद्देनजर रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए एहतियाती स्वास्थ्य उपायों के तौर पर अपनी देखभाल के लिए कुछ दिशा निर्देश जारी किए हैं. इनमें खासतौर से श्वसन संबंधी उपायों का जिक्र है. उसने कहा कि ये उपाय आयुर्वेदिक साहित्य और वैज्ञानिक प्रकाशनों पर आधारित हैं.



कुछ सामान्य उपायों को सूचीबद्ध करते हुए मंत्रालय ने दिनभर गर्म पानी पीने, हर दिन कम से कम 30 मिनट योग अभ्यास, प्राणायाम करने और ध्यान लगाने तथा भोजन पकाने के दौरान हल्दी, जीरा और धनिया जैसे मसालों का इस्तेमाल करने की सलाह दी है. उसने रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने के लिए सुबह 10 ग्राम यानी एक चम्मच च्यवनप्राश खाने (मधुमेह रोगियों को बिना शर्करा वाला) जैसे कुछ आयुर्वेदिक उपायों का जिक्र किया है.

हर्बल चाय पीने से मिल सकता है फायदा
मंत्रालय ने दिन में एक या दो बार हर्बल चाय पीने या तुलसी, दालचीनी, काली मिर्च, सूखी अदरक और किशमिश का काढ़ा पीने तथा 150 मिलीलीटर गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी डालकर पीने की भी सलाह दी है. उसने सुबह और शाम दोनों नथुने में तिल या नारियल का तेल या घी लगाने जैसे कुछ आसान आयुर्वेदिक उपाय भी सुझाए हैं.

सूखी खांसी या गले में सूजन के लिए उसने दिन में एक बार पुदीने की ताजा पत्ती या अजवाइन के साथ भाप लेने की सलाह दी है और खांसी या गले में खराश के लिए दिन में दो-तीन बार प्राकृतिक शक्कर या शहद के साथ लौंग का पाउडर लेने के लिए भी कहा है.

मंत्रालय ने कहा कि इन उपायों से आम तौर पर सामान्य सूखी खांसी या गले में सूजन कम होती है. हालांकि अगर लक्षण फिर भी बने रहते हैं तो डॉक्टर की सलाह लेना बेहतर है.

ये भी पढ़ें :-

नोएडा में 24 घंटे में आए कोरोना के 7 नए मामले, यूपी में आंकड़ा 116 पर पहुंचा

दिल्ली में आज कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 120, 766 हॉस्पिटल में भर्ती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 1, 2020, 7:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading