Analysis: क्या अपने चाचा संजय गांधी के नक्शेकदम पर चल रहे हैं राहुल?

राहुल गांधी मानहानि के हर मुकदमे में ख़ुद ही पेश हो रहे हैं. राहुल जहां भी बेल के लिए जाते हैं, वहां ना सिर्फ़ स्थानीय कार्यकर्ताओं से मिलते हैं, लोकल ढाबे में खाते हैं और मीडिया से भी बात करते हैं. आपातकाल के बाद संजय गांधी भी यही करते थे और जनता की सहानुभूति लेकर जल्द सत्ता में लौट आए थे.

Ranjeeta Jha
Updated: July 13, 2019, 7:35 AM IST
Analysis: क्या अपने चाचा संजय गांधी के नक्शेकदम पर चल रहे हैं राहुल?
चाचा संजय के नक्शे कदम पर राहुल गांधी
Ranjeeta Jha
Ranjeeta Jha
Updated: July 13, 2019, 7:35 AM IST
2019 लोकसभा चुनाव में हार के बाद एक तरफ कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष के इस्तीफे के बाद असमंजस की स्थिति से जूझ रही है. वहीं, दूसरी तरफ राहुल गांधी देशभर में अपने खिलाफ हुए मानहानि के मुकदमों की तारीख पर पेश हो रहे हैं. लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान बीजेपी/आरएसएस के खिलाफ दिए गए राहुल के बयान पर देशभर में लगभग 20 मुकदमे दर्ज किए गए हैं.

महज़ संयोग या इतिहास खुद को दोहरा रहा है?



आमतौर पर मानहानि के मुकदमे में अपने द्वारा दिए गए बयान को तथ्यों के साथ साबित करना होता है या मांफी मांगनी होती है. राहुल गांधी के खिलाफ देशभर में कई मुकदमे हैं, जिनकी तारीख पर राहुल पेश भी हो रहे हैं. ये महज़ संयोग ही है या इतिहास खुद को दोहरा रहा है. राहुल गांधी के चाचा संजय गांधी को आपातकाल के बाद देश भर में दर्ज हुए मुक़दमों पर पेश होने के लिए अदालतों के चक्कर लगने पड़े थे. लेकिन, संजय गांधी ने इन्हीं मुकदमों की तारीखों को अपने और कांग्रेस के लिए अवसर में बदल दिया.

सड़क मार्ग से तारीखों पर जाते थे संजय गांधी

संजय गांधी के करीबी रहे लोग आज भी याद करते हैं कि किस तरह संजय गांधी सड़क मार्ग से तारीख पर जाते थे, ताकि आम लोगों की सिमपैथी मिल सके. संजय ने लोगों के क्रोध को भावनात्मक लगाव में बदल दिया और महज़ 28 महीने में वापस केंद्र में कांग्रेस की सरकर बन गई. जिस आपातकाल के खिलाफ पूरा देश एकजुट था, पूरा विपक्ष एक साथ लामबंद था, संजय गांधी ने उसका तोड़ निकालने के लिए सीधा जनता से संवाद किया. अपने ऊपर लगे आरोपों का अदालत में जाकर सामना किया.

अब देखिए राहुल गांधी किस तरह अपने चाचा के नक्शे कदम पर चल रहे हैं. 2019 के लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान राहुल ने बीजेपी और आरएसएस पर जमकर हमला बोला और यही वजह है कि उनके खिलाफ मुकदमे भी देश के हर कोने में हुए.

मानहानि के मुकदमों का सामना कर रहे राहुल गांधी, rahul facing defamation cases
मानहानि के मुकदमों का सामना कर रहे राहुल गांधी

Loading...

मानहानि के मामलों में इन अदालतों में हाजिर हुए राहुल गांधी
4 जुलाई महाराष्ट्र के भिवंडी कोर्ट में पेश हुए थे राहुल गांधी. राहुल पर आरोप है कि लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने ये बयान दिया था कि आरएसएस की विचारधारा ने गांधीजी की हत्या की.

6 जुलाई पटना के सिविल कोर्ट से राहुल गांधी जमानत ली, जहां उनके खिलाफ बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने मुकदमा किया था, जिसमे राहुल पर आरोप है कि उन्होंने कहा था कि देश का हर मोदी चोर है.

12 जुलाई को गुजरात में अहमदाबाद मेट्रोपोलिटन कोर्ट में राहुल गांधी पेश हुए.

चाचा की रणनीति अपना रहे हैं राहुल गांधी
अब राहुल हर उस अदालत में ख़ुद पेश हो रहे हैं, जहांं अगर वो चाहते तो वक़ील के ज़रिए भी बेल ले सकते थे. राहुल की रणनीति भी अपने चाचा संजय गांधी की तरह है. राहुल जहां भी बेल के लिए जाते हैं, वहां ना सिर्फ़ स्थानीय कार्यकर्ताओं से मिलते हैं, लोकल ढाबे में खाते हैं और मीडिया से भी बात करते हैं. साथ ही ये भी दोहराते नज़र आते हैं कि भविष्य में दस गुने जोश से बीजेपी-आरएसएस से लड़ते रहेंगे.

ये भी पढ़ें -

दलाई लामा के जन्मदिन के दिन चीनी सेना के भारतीय सीमा में घुसपैठ का दावा, सेना ने किया खंडन

पाकिस्‍तान ने कहा- भारत पहले एयरबेस से लड़ाकू विमान हटाए, तब खोलेंगे एयर स्‍पेस
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...