Home /News /nation /

Analysis: पुलवामा हमले का बदला, ये है मोदी का मास्टरस्ट्रोक

Analysis: पुलवामा हमले का बदला, ये है मोदी का मास्टरस्ट्रोक

पीएम मोदी (फ़ाइल)

पीएम मोदी (फ़ाइल)

जाहिर है अब देश के आम लोगों को सफाई नहीं देनी होगी. मूड बदल चुका है. लोगों को यकीन हो गया है कि मोदी ईंट का जवाब पत्थर से देने में सक्षम है

पुलवामा के आतंकी हमले में हुए शहीदों का बदला लेने को पूरा देश बेचैन था. खुद पीएम मोदी को धुन सवार थी कि चाहे जैसे भी हो बदला लेना है. सेना को कहा कि जगह और वक़्त सेना ही तय करे कि बदल कैसे लेना है. सेना को ऐसी खुली छूट पहले नहीं मिली थी. इस बार मौका मिला भारतीय वायु सेना के जांबाजों को. मंगलवार को देर रात पाकिस्तान के उन इलाकों के ट्रेनिंग कैम्पों को वायुसेना के विमानों ने वो कारनामा कर दिखाया जो अब तक न किसी ने सोचा और न किया.

मोदी की राजनीतिक इच्छाशक्ति

ये बात तो सही थी कि पीएम मोदी ने सेना को खुली छूट दे दी थी. लेकिन फैसला तो राजनीतिक स्तर पर ही लिया जाता है. पीएम मोदी ने यहां भी दृढ़ता दिखाई. सर्जिकल स्ट्राइक के बाद वायु सेना के इस्तेमाल को हरी झंडी दे दी. खुद ही पूरी योजना को अंतिम रूप देने में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया. बालाकोट में आतंकी ठिकाने को नष्ट कर दिया. वहां कम से कम 325 से 330 आतंकी और लगभग 30 ट्रेनरों के होने की खबर थी.

पहले भी आतंकी हमले हुए थे. पाकिस्तान की निंदा से आगे बात और नहीं बढ़ी. ये मोदी की इच्छाशक्ति ही थी कि पाकिस्तान में घुसकर आतंकी ठिकानों को नेस्तनाबूत करने की योजना मुकाम पर पहुंच गई. सूत्र बताते हैं कि बीते शनिवार को गृह मंत्री राजनाथ सिंह जब पीएम मोदी से मिलने उनके निवास पहुंचे और करीब डेढ़ घंटे बैठक हुई उसमें ही योजना को हरी झंडी दिखाई गई थी.

जाहिर है अब देश के आम लोगों को सफाई नहीं देनी होगी. मूड बदल चुका है. लोगों को यकीन हो गया है कि मोदी ईंट का जवाब पत्थर से देने में सक्षम है.
पाकिस्तान में आतंक के रहनुमाओं का मनोबल तोड़ना

उरी और पठानकोट की घटना के बाद सर्जिकल स्ट्राइक हुई और अब हवाई हमला. पूरा का पूरा ट्रेनिंग कैम्प तबाह हो गया. संदेश साफ है कि पाक अधिकृत कश्मीर से अगर आतंक को बढ़ावा दिया गया तो भारत बर्दाश्त नहीं करेगा बल्कि घुस कर मारेगा. ये दो सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक ने साबित कर दिया है. तभी तो पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान ने आतंकियों को ट्रेनिंग कैंपस से पीछे खींच लिया था. अब उन्हें समझ में आ गया होगा कि अब वो सीमा पार भी सुरक्षित नही हैं. यही संदेश मोदी सरकार देना चाहती थी. यही तो है मोदी के मास्टरस्ट्रोक का एक हिस्सा.

पाकिस्तान बेनकाब हुआ
ये कुशल कुटिनीतिक चाल का ही नतीजा था कि विदेश सचिव की प्रेस कॉन्फेंस की. उन्होंने ये भी नहीं कहा कि विमानों ने सीमा का उल्लंघन किया. दुनिया को ये बताया कि ये हमला आत्मरक्षा में किया क्योंकि वो ट्रेन होकर आतंकी भारत में घुसने की तैयारी कर रहे थे. दुनिया भर के राजदूतों को बुला कर भारत का पक्ष रखा गया. शाम को डीन ऑफ डिप्लोमैटिक कॉर्प हंस दनबेर्ग कैस्टलन ने बयान जारी कर कहा कि वो भारत के जवाब को अपनी राजधानियों को भेजेंगे.

अपने ही जाल में फंसा पाकिस्तान

आला सूत्र बताते हैं कि पाकिस्तान भारतीय हमले के बारे में ट्वीट कर फंस गया है. अब उनके पास कोई बहाना नहीं. या तो वो आतंकवादी कैंप का वजूद माने या फिर भारत की कार्रवाई का विरोध न करे. पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय बिरादरी के सामने अब किस बात की शिकायत कर रहा है. कई बार सबूत देने के बाद कोई कार्रवाई क्यों नहीं की. ये एक बहुत बड़ा आतंकवादी कैंप था जो सरकार की नाक के नीचे चल रहा था. इमरान खान के क्षेत्र में है तो वो इसका खंडन करे नहीं तो कुटनीतिक स्तर पर जवाब दिया गया है.

अब तो विपक्षी दल भी हुए कायल
तमाम विरोधी दलों ने भी वायु सेना की तारीफ़ों के पूल बंधने में देर नही लगाई। सुषमा स्वराज ने विपक्षी दलों की बैठक बुलाकर उन्हें तमाम आपरेशन के बारे में बताया. सरकार की तारीफ भले न कि हो लेकिन लोग सेना के कायल हो गए है. सब जानते हैं कि देश की भावना के खिलाफ गए तो खैर नहीं. जनता को अपनी ताक़त का इस्तेमाल दो महीने में ही करना है.

ये भी पढ़ें:

'एयर स्ट्राइक से टूटी जैश की कमर, सिर उठाने से पहले सोचेगा 100 बार'

क्‍यों पाकिस्‍तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक करने से कतरा रही है BCCI?

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

Tags: India pakistan, Pm narendra modi, Pulwama, Pulwama attack

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर