होम /न्यूज /राष्ट्र /कांग्रेस में सुधार पर आनंद शर्मा ने फिर दी सलाह, बोले- पार्टी को सामूहिक सोच व दृष्टिकोण की जरूरत

कांग्रेस में सुधार पर आनंद शर्मा ने फिर दी सलाह, बोले- पार्टी को सामूहिक सोच व दृष्टिकोण की जरूरत

आनंद शर्मा ने कहा- यदि हम पार्टी में कुछ आंतरिक परिवर्तन लाते हैं, तो कांग्रेस  पुनरुद्धार होगा.

आनंद शर्मा ने कहा- यदि हम पार्टी में कुछ आंतरिक परिवर्तन लाते हैं, तो कांग्रेस पुनरुद्धार होगा.

Anand Sharma: कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि नेहरू-गांधी परिवार कांग्रेस का अभिन्न अंग बना रहे ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

ए ग्रुप या बी ग्रुप होने से कांग्रेस पुनर्जीवित नहीं हो सकती- आनंद शर्मा
'नेहरू-गांधी परिवार कांग्रेस का अभिन्न अंग, लेकिन बदलाव की जरूरत'
'जहां भी जरूरत होगी मैं कांग्रेस पार्टी के लिए प्रचार करूंगा'

नई दिल्ली: हिमाचल कांग्रेस संचालन समिति अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के आनंद शर्मा लगातार पार्टी में संगठनात्मक सुधार और आतंरिक लोकतंत्र बहाल करने के लिए मजबूती से अपना पक्ष रख रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि नेहरू-गांधी परिवार कांग्रेस का अभिन्न अंग बना रहे लेकिन पार्टी को समावेशी और सामूहिक सोच व दृष्टिकोण की आवश्यकता है. आनंद शर्मा बोले कि, हमने 2018 में राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में चुना, लेकिन उन्होंने इस्तीफा दिया, हमने उनसे इस्तीफा देने के लिए नहीं कहा.

आनंद शर्मा के अनुसार, यदि हम पार्टी में कुछ आंतरिक परिवर्तन लाते हैं, तो कांग्रेस का नवीनीकरण और पुनरुद्धार होगा. ए ग्रुप या बी ग्रुप होने से कांग्रेस पुनर्जीवित नहीं हो सकती है क्योंकि कांग्रेस को सामूहिक रूप से पुनर्जीवित करना होगा. उन्होंने फिर दोहराया कि जहां भी जरूरत होगी मैं कांग्रेस पार्टी के लिए प्रचार करूंगा.

कांग्रेस को गुटबाजी से बाहर निकलकर एकजुट रहने की जरूरत है. हम सब कांग्रेसी हैं लेकिन महत्वपूर्ण यह है कि कांग्रेस पार्टी मजबूत रहे. दरअसल आनंद शर्मा भी उन नेताओं में शुमार हैं जो कई मौकों पर कांग्रेस में गांधी परिवार से अलग अध्यक्ष बनाए जाने की मांग कर चुके हैं.

बात दें कि कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी में हिमाचल विधानसभा चुनाव के लिए संचालन समिति के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है. शर्मा ने आश्वासन दिया
है कि वो कांग्रेस उम्मीदवारों के लिए प्रचार करत रहेंगे. इस्तीफे के बाद से पार्टी उन्हें मनाने की कोशिश कर रही है और इसी कड़ी में पार्टी के प्रदेश प्रभारी राजीव शुक्ला ने सोमवार को उनसे मुलाकात की. सूत्रों के अनुसार, शुक्ला ने शर्मा के आवास पर उनसे मुलाकात करने से पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी.

इससे पहले आनंद शर्मा ने कहा कि कांग्रेस संचालन समिति से इस्तीफा क्यों दिया, यह मेरे और राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के बीच का मामला है. मैंने जीवन के 51 साल कांग्रेस को समर्पित किए हैं और उम्र के इस पड़ाव में अब मैं पार्टी का साथ नहीं छोड़ूंगा. उन्होंने कहा कि यह पार्टी के अंदर की बात है, इसे सार्वजनिक नहीं किया जा सकता.

Tags: Anand sharma, Interim President Sonia Gandhi, Rahul gandhi

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें