अपना शहर चुनें

States

आंध्र प्रदेश: बुजुर्ग की लाश को कंधे पर उठा कर चली महिला पुलिसकर्मी, गांव वालों ने नहीं की मदद

सिरीशा आंध्रप्रदेश के श्रीकाकुलम ज़िले के काशिबुग्गा पुलिस स्टेशन में बतौर पुलिस उप -निरीक्षक तैनात हैं.
सिरीशा आंध्रप्रदेश के श्रीकाकुलम ज़िले के काशिबुग्गा पुलिस स्टेशन में बतौर पुलिस उप -निरीक्षक तैनात हैं.

Andhra Pradesh: सिरीशा आंध्रप्रदेश के श्रीकाकुलम ज़िले के काशिबुग्गा पुलिस स्टेशन में बतौर पुलिस उप -निरीक्षक तैनात हैं. सिरीशा को सूचना मिली कि एक अज्ञात वृद्ध व्यक्ति की अदवी कोथरु क्षेत्र में मृत्यु हो गयी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 2, 2021, 6:43 PM IST
  • Share this:
हैदराबाद: पुलिस का काम जनसेवा है. पुलिस (Police) विपरीत हालात में इस बात को साबित भी करती है. ऐसा ही एक नजारा हैदराबाद में देखा गया. जहां एक पुलिस की एक महिला सब -इंस्पेक्टर कोट्टुरु सिरीशा (Kotturu Sirisha) एक अज्ञात वृद्ध व्यक्ति की लाश को अपने कंधों पर उठा कर करीब एक किलोमीटर तक ले गयीं. उनके इस कार्य को लोगों की तरफ से काफी सराहना मिल रही है. इंटरनेट यूजर्स उनकी तारीफों के पुल बांध रहे हैं.

सिरीशा आंध्रप्रदेश के श्रीकाकुलम ज़िले के काशिबुग्गा पुलिस स्टेशन में बतौर पुलिस उप -निरीक्षक तैनात हैं. सिरीशा को सूचना मिली कि एक अज्ञात वृद्ध व्यक्ति की अदवी कोथरु क्षेत्र में मृत्यु हो गयी है. सिरीशा वहां पहुंचीं और स्थानीय लोगों से विनती की कि मृतक के शरीर को वहां से हटाने में उनकी मदद करें. जब कोई भी इसके लिए आगे नहीं आया तब उन्होंने अपने आप यह करने का फैसला किया.





मृत शरीर की जानकारी मिलने पर काशिबुग्गा पुलिस वहां पहुंची. अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में सिरीशा ने बताया, 'हमने एक 80 वर्षीय अज्ञात व्यक्ति के शरीर को देखा. स्थानीय लोग इसे भिखारी बता रहे थे.' उन्होंने कहा, 'शरीर को खेत से गाड़ी तक लाना आसान नहीं था, क्योंकि वहां कोई रोड नहीं थी. हमने गांववालों से मदद मांगी, लेकिन कोई भी आगे नहीं आया.'
यह भी पढ़ें: इंस्पेक्टर पिता ने DSP बेटी को सबके सामने किया सेल्यूट, जिसने देखा हो गया भावुक

सब इंस्पेक्टर विजाग शहर की रहने वाली हैं. उन्होंने फॉर्मेसी की पढ़ाई है. वो बताती हैं कि यह संदिग्ध मौत का मामला नहीं है क्योंकि शरीर पर चोट के कोई भी निशान नहीं हैं. उन्होंने कहा, 'आशंका है कि यह व्यक्ति की भूख की वजह से मौत हुई हो, क्योंकि उसका शरीर बहुत ही कमजोर था.'

सिरीशा ने दुसरे लोगों की मदद से लाश को अपने कंधों पर उठाया और उसे एक किलोमीटर तक लेकर गयीं. इसके बाद एक स्थानीय स्वैच्छिक संस्था की मदद से उसका अंतिम संस्कार किया. ज़िले के पुलिस अधिकारियों ने उप-निरीक्षक की इन सेवाओं की प्रशंसा की है. तेलंगाना की राज्य पुलिस ने विशेष तौर पर सिरीशा को ट्विटर पर बधाई दी है. इसमें कहा गया, 'आपको सलाम है मैडम, हम सलाम करते हैं उस पेशे को जिसे आपने चुना, उस वर्दी को जो आप पहनती हैं और उस सेवा को जो आपने की.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज