आंध्र प्रदेश में सितंबर से पहले नहीं शुरू हो पाएगा 18+वैक्सीनेशन, CM ने दिए संकेत

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी (फाइल फोटो)

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी (Jagan Mohan Reddy) का कहना है कि वैक्सीन की कमी की वजह से पहले 45 से अधिक आयुवर्ग वालों का ही वैक्सीनेशन होगा और फिर उसके बाद 18 से ऊपर वालों का.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2021, 11:06 PM IST
  • Share this:
हैदराबाद. वैक्सीन की कमी (Vaccine Shortage) पर चुप्पी तोड़ते हुए आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन रेड्डी (Jagan Mohan Reddy) ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने गुरुवार को कहा कि 18+ वालों की वैक्सीनेशन प्रक्रिया सितंबर महीने से ही शुरू हो पाएगी. उनका कहना है कि वैक्सीन की कमी की वजह से पहले 45 से अधिक आयुवर्ग वालों का ही वैक्सीनेशन होगा और फिर उसके बाद 18 से ऊपर वालों का. इस देर के बारे में विस्तार से बताते हुए उन्होंने कहा कि भारत इस वक्त हर महीने सात करोड़ वैक्सीन का उत्पादन कर रहा है. लेकिन पूरे देश में 18 से 45 वर्ष के लोगों के लिए करीब 120 करोड़ वैक्सीन डोज की आवश्यकता है.

उन्होंने कहा-18 वर्ष से ऊपर के लोगों के वैक्सीनेशन की शुरुआत में अभी कम से कम चार महीने का वक्त लगेगा. इसका मतलब है ये है कि उनका वैक्सीन अगले साल जनवरी तक होगा. बता दें आज सीएम जगन मोहन ने एक मई से शुरू होने जा रहे कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम की रिव्यू मीटिंग की है. इस बैठक में सामने आया कि राज्य में 18 से 45 आयुवर्ग के 2.04 करोड़ लोग हैं. सरकार सीरम इंस्टिट्यूट, भारत-बायोटेक और डॉ. रेड्डीज को खत लिखकर 4.08 करोड़ वैक्सीन डोज की डिमांड कर चुकी है.

हर दिन 6 लाख लोगों का वैक्सीनेशन कर सकती है सरकार, लेकिन वैक्सीन की कमी

राज्य सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक-अभी इस बात की कोई स्पष्टता नहीं है कि हमें वैक्सीन कब तक मिल पाएगी. पेमेंट और सप्लाई चेन को लेकर अभी सभी वैक्सीन उत्पादकों के साथ हमें एग्रीमेंट करना है. सरकार के लिए व्यावहारिक तौर पर संभव नहीं है कि वो 1 मई से 18+ वालों का वैक्सीनेशन शुरू कर दे. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार एक दिन में 6 लाख लोगों का वैक्सीनेशन कर सकती है लेकिन वैक्सीन डोज की कमी है.
(SWASTIKA DAS की पूरी स्टोरी यहां क्लिक कर पढ़ी जा सकती है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज