आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट ने डॉक्टर सुधाकर केस के मामले में CBI जांच के दिए आदेश

डॉ के साथ मारपीट मामले की होगी CBI जांच
डॉ के साथ मारपीट मामले की होगी CBI जांच

आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के विजाग में पुलिस द्वारा एक डॉक्टर को घसीट कर बुरी तरह पीटने के मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था.

  • Share this:
अमरावती. आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट (Andhra Pradesh High Court) ने शुक्रवार को एनेस्थेटिस्ट डॉक्टर सुधाकर (Dr. Sudhakar) के मामले में सीबीआई (CBI) जांच का आदेश दिया. 17 मई की घटना को गंभीरता से लेते हुए हाईकोर्ट ने मारपीट करने वाले विशाखापत्तनम पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज करने को कहा साथ ही सीबीआई से आठ हफ्ते के अंदर रिपोर्ट पेश करने के लिए भी कहा गया है. कोर्ट ने डॉ. के सुधाकर राव के बयान को ध्यान में रखते हुए अपना फैसला सुनाया. याचिकाकर्ता के वकील ने याचिका दायर की थी डॉ के शरीर पर चोट के 6 निशान थे लेकिन सरकारी रिपोर्ट में ये बात गायब थी.

17 मई को विजाग पुलिस ने डॉ. सुधाकर के हाथों को बांध दिया और उन्हें राष्ट्रीय राजमार्ग पर हंगामा करने के और शराब पीकर पुलिस के साथ बुरा बर्ताव करने के आरोप में हिरासत में लिया था. हिरासत में लेने से पहले पुलिस ने डॉ. को पीटा था. पुलिस का कहना था कि आरोपी मानसिक रूप से ठीक नहीं था सार्वजनिक स्थान पर उपद्रव पैदा कर रहा था.

पुलिस आयुक्त राजीव कुमार मीणा ने कहा कि डॉ. को नशे की जांच के लिए किंग जॉर्ज अस्पताल भेजा गया जहां उनके ब्लड में अल्कोहल पाया गया. उसके बाद उसे मानसिक देखभाल के लिए सरकारी अस्पताल भेज दिया गया.



कोर्ट ने बुधवार को विशाखापत्तनम सत्र न्यायाधीश को सरकारी मानसिक रोग अस्पताल अस्पताल का दौरा करने का आदेश दिया था, जहां सुधाकर राव भर्ती हैं और वहां उनका बयान दर्ज किया गया. कोर्ट ने जनहित याचिका (पीआइएल) पर आदेश पारित कर डॉक्टर के साथ हुए अमानवीय व्यवहार की जांच की मांग की.
ये भी पढ़ें : विधायक ने लॉकडाउन में धूमधाम से मनाया था बर्थडे, हाईकोर्ट ने भेजा नोटिस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज