Home /News /nation /

अब आंध्र में कानून वापसी, 3 राजधानी वाला विधेयक वापस लेगी जगन सरकार, जानें क्यों

अब आंध्र में कानून वापसी, 3 राजधानी वाला विधेयक वापस लेगी जगन सरकार, जानें क्यों

आंध्र प्रदेश में जगन मोहन सरकार तीन राजधानियों वाला विधेयक वापस लेगी. (तस्वीर-ysjagan Facebook)

आंध्र प्रदेश में जगन मोहन सरकार तीन राजधानियों वाला विधेयक वापस लेगी. (तस्वीर-ysjagan Facebook)

3-Capitals Bill Andhra Pradesh: राज्य सरकार ने महाधिवक्ता एस. सुब्रमण्यम ने हाईकोर्ट को सूचित किया कि सरकार ने कानून वापस लेने का फैसला किया है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री राज्य विधानसभा में इस बारे में बयान देंगे. मुख्य न्यायाधीश पी.के. मिश्रा की अगुवाई वाली खंडपीठ ने महाधिवक्ता को इस बारे में विस्तृत हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया.

अधिक पढ़ें ...

    अमरावती. आंध्र प्रदेश में मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी (YS Jagan Mohan Reddy) की सरकार ने सोमवार को कहा कि वह राज्य की तीन राजधानियां स्थापित करने के लिए पिछले साल पारित किए गए विवादास्पद ‘विकेंद्रीकरण एवं सभी क्षेत्रों के समावेशी विकास विधेयक’ को वापस ले रही है. राज्य सरकार ने महाधिवक्ता एस. सुब्रमण्यम ने हाईकोर्ट को सूचित किया कि सरकार ने कानून वापस लेने का फैसला किया है.

    उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री राज्य विधानसभा में इस बारे में बयान देंगे. मुख्य न्यायाधीश पी.के. मिश्रा की अगुवाई वाली खंडपीठ ने महाधिवक्ता को इस बारे में विस्तृत हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया. सरकारी सूत्रों ने बताया कि राज्य मंत्रिमंडल ने आपात बैठक की और सदन में पेश किए जाने वाले निरस्तीकरण विधेयक को मंजूरी दे दी.

    क्या बोले जगन रेड्डी
    मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने इस पर विधानसभा में कहा है-सरकार इस विधेयक को वापस लेने जाने रही है. हम एक नया त्रुटिविहीन विधेयक पेश करेंगे. बता दें कि इससे पहले जगन सरकार द्वारा पास किए गए विधेयक के मुताबिक आंध्र प्रदेश की तीन राजधानियां बननी थीं. ये हैं विशाखापत्तनम, कुरनूल और अमरावती. विशाखापत्तनम राज्य की कार्यकारी राजधानी बनाई जानी थी, कुरनूल न्यायिक राजधानी, वहीं अमरावती में विधानसभा होने की बात कही गई थी.

    अमरावती की ‘प्रतिष्ठा कम’ करने के लगे थे आरोप
    तब यह भी कहा गया थी कि तीन राजधानियों का फैसला अमरावती की ‘प्रतिष्ठा कम’ करने के लिए लिया गया है. हालांकि खुद सीएम जगन ने इस बात को बकवास बताया था. लेकिन इसे लेकर हल्का विरोध होता रहा है. ठीक एक दिन पहले तीन राजधानी करने के मुद्दे पर बीजेपी ने अपना रुख साफ करते हुए राज्‍य की सत्‍तारूढ़ पार्टी वाईएसआर कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा था.

    ये भी पढ़ें: परमवीर चक्र से लेकर सेना मेडल तक…. जानिए सम्मानित होने वालों को कितना मिलता है पैसा?

    बीजेपी सांसद ने कहा-हम अमरावती के समर्थन में
    बीजेपी के सांसद वाईएस चौधरी ने विजयवाड़ा में अमरावती का समर्थन करते हुए कहा था कि राज्‍य की वाईएसआर कांग्रेस पार्टी ने राज्‍य में तीन राजधानी करने का काम शुरू कर दिया है. जबकि उसके पास इसका कोई अधिकार नहीं है. सांसद ने कहा है कि ऐसे में जिन स्‍थानीय किसानों ने राजधानी के विकास के लिए योगदान दिया था, बीजेपी उनका समर्थन करेगी.

    बीजेपी सांसद वाईएस चौधरी ने कहा था, ‘बीजेपी की ओर से हमने अमरावती को एकल राजधानी के रूप में समर्थन देने का प्रस्ताव पारित किया है क्योंकि यह एक विकास इंजन के रूप में तय किया गया था और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से इसकी आधारशिला भी रखी गई थी.’

    Tags: Andhra Pradesh, Jagan mohan reddy

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर