लाइव टीवी

राफेल में अनिल अंबानी की फर्म का सिर्फ 10 फीसदी ऑफसेट निवेश- दसॉ CEO

News18Hindi
Updated: October 12, 2018, 10:10 AM IST
राफेल में अनिल अंबानी की फर्म का सिर्फ 10 फीसदी ऑफसेट निवेश- दसॉ CEO
इलस्ट्रेशन- मीर सुहेल

दसॉ एविएशन के सीईओ ट्रेपियर ने कहा, ‘हम करीब 100 भारतीय कंपनियों के साथ बातचीत कर रहे हैं जिनमें करीब 30 ऐसी हैं जिनके साथ हमने पहले ही साझेदारी की पुष्टि कर दी है.’

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 12, 2018, 10:10 AM IST
  • Share this:
राफेल विवाद में दसॉ एविएशन कंपनी के सीईओ के हालिया बयान के बाद एक नया मोड़ आ गया है. कंपनी की ओर से कहा गया है कि अनिल अंबानी की कंपनी के राफेल में केवल 10 फीसदी ऑफसेट निवेश हैं. सीईओ एरिक ट्रेपियर ने कहा कि कंपनी 100 भारतीय कंपनियों के साथ बातचीत कर रही है. फ्रांस की वेबसाइट मीडियापार्ट ने यह स्टेटमेंट छापा है. वेबसाइट पर दसॉ मैनजेमेंट और इसके कर्मियों के प्रतिनिधियों के बीच के हुई एक मीटिंग के नोट्स का हवाला दिया गया है.

ट्रेपियर ने साफ कहा है कि रिलायंस के साथ दसॉ एविएशन का संयुक्त उपक्रम राफेल लड़ाकू विमान करार के तहत करीब 10% ऑफसेट निवेश का प्रतिनिधित्व करता है. ट्रेपियर ने कहा, 'हम करीब 100 भारतीय कंपनियों के साथ बातचीत कर रहे हैं जिनमें करीब 30 ऐसी हैं जिनके साथ हमने पहले ही साझेदारी की पुष्टि कर दी है.'

गुरुवार को पेरिस में अलग से एक संवाददाता सम्मेलन में रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार के इस दावे को दोहराया कि उसे कोई भनक नहीं थी कि दसॉ एविएशन अनिल अंबानी की अगुवाई वाले रिलायंस ग्रुप के साथ गठजोड़ करेगा.

ये भी पढ़ें: जब राफेल बनाने वाली कंपनी के मालिक को हिटलर ने बना लिया था बंदी

मीडिया में आई कई खबरों में कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मेदी ने दसॉ को मजबूर किया था कि वह रिलायंस को अपने साझेदार के तौर पर चुने जबकि रिलायंस के पास उड्डयन क्षेत्र में कोई अनुभव नहीं था.

इससे पहले फ्रांस की तीन दिन की यात्रा पर गईं रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने राफेल सौदे पर टिप्पणी की है. पेरिस में एक ब्रीफिंग के दौरान सीतारमण ने मोदी सरकार के इस दावे को दोहराया कि उन्हें कोई भनक नहीं थी कि दसॉ एविएशन, अनिल
अंबानी की अगुवाई वाले रिलायंस ग्रुप के साथ गठजोड़ करेगा. बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रक्षा मंत्री की फ्रांस यात्रा को 'राफेल विवाद' पर 'पर्दा डालने' की कोशिश की थी.सीतारमण ने कहा, 'हम बहुत स्पष्ट हैं. फ्रांस की सरकार के साथ हमने उड़ने की स्थिति में 36 राफेल एयरक्राफ्ट खरीदने का समझौता किया था. सरकारों के बीच हुए समझौते में व्यक्गित फर्मों का कोई उल्लेख नहीं होता.'

(भाषा इनपुट के साथ)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 12, 2018, 10:06 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर