त्रिपुरा में सियासी घमासान के बीच तोड़ा गया लेनिन का एक और स्टैच्यू, लेफ्ट हुआ 'लाल'

त्रिपुरा में सियासी घमासान के बीच तोड़ा गया लेनिन का एक और स्टैच्यू, लेफ्ट हुआ 'लाल'
लेनिन की मूर्ती को गिराया

त्रिपुरा में बीजेपी के सत्ता में आने के बाद से लगातार बीजेपी सपोटर्स लेनिन के स्टेच्यू को गिरा रहे है और बीजेपी इसे कम्युनिज्म के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का नाम दे रही है.

  • News18.com
  • Last Updated: March 6, 2018, 9:38 PM IST
  • Share this:
त्रिपुरा में सियासी घमासान के बीच मंगलवार को भीड़ ने लेनिन का एक और स्टैच्यू गिरा दिया. लेफ्ट शासित त्रिपुरा में जब से बीजेपी सत्ता में आई है तब से दो दिनों में ऐसा दूसरी बार हुआ है, जब लेनिन का स्टैच्यू गिराया गया हो. लेनिन की मूर्ति गिराए जाने से कम्युनिस्ट पार्टी (लेफ्ट फ्रंट) ने नाराजगी जाहिर की है. लेफ्ट का आरोप है कि राज्य में इस उपद्रव के पीछे बीजेपी का हाथ है.

सोमवार को दक्षिणी त्रिपुरा के बैलोनिया शहर में बीजेपी स्पोर्टस की भीड़ ने भारत 'माता की जय' के नारे लगाते हुए कम्युनिस्ट पार्टी के क्रांतिकारी नेता लेनिन का स्टैच्यू को गिरा दिया था. मंगलवार की घटना भी दक्षिणी त्रिपुरा के सब्रूम शहर में हुई.

गवर्नर तथागत रॉय ने कहा कि ये घटना हिंसा नहीं बल्कि गुंडागर्दी के अंतर्गत मानी गई है, जिसके लिए जिला प्रशासन को एक्शन लेने के निर्देश दिए जा चुके हैं. इस घटना पर बीजेपी और विपक्ष के बीच बयानबाजी भी शुरु हो गई है. कई बीजेपी नेताओं ने इन घटनाओं को कम्युनिज़्म के खिलाफ विरोध कहा है.



बीजेपी के जनरल सेक्रेटरी राम माधव ने सोमवार की घटना की फोटो अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर करते हुए लिखा "लोग लेनिन के स्टेच्यू को गिरा रहे हैं......, रशिया में नहीं, त्रिपुरा में." हालाकि बाद में उन्होंने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया. इसके अलावा गवर्नर तथागत रॉय ने भी ट्वीट कर कहा कि लोकतांत्रिक तरीके से चुनी गई एक सरकार का काम दूसरी लोकतांत्रिक तरीके से चुनी गई सरकार नष्ट कर सकती है. बीजेपी नेता सुब्रमणयम स्वामी ने कहा कि रशियन नेता 'आतंकवादी' था, ऐसे में अगर भारत में उसके स्टेच्यू को लगाया जाए तो सवाल उठ सकते हैं.




सुब्रमण्यन स्वामी बोले- 'लेनिन आतंकवादी'
त्रिपुरा में बीजेपी के जीत हासिल करने के बाद दो दिन से ऐसी घटनाएं हो रही हैं. इस पर बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी का कहना है कि व्लादिमीर लेनिन आतंकवादी थे. स्वामी ने कहा, "लेनिन तो विदेशी है, एक प्रकार से आतंकवादी है, ऐसे व्यक्ति की मूर्ति हमारे देश में क्यों? वे कम्युनिस्ट पार्टी के मुख्यालय के अंदर मूर्ति रख सकते हैं और पूजा कर सकते हैं."

ये भी पढ़ें:

त्रिपुरा ही नहीं दुनिया भर के इन देशों में भी तोड़ी जा चुकी हैं लेनिन की मूर्तियां

तमिलनाडुः लेनिन की मूर्ति गिराने के बाद BJP नेता बोले- अगला नंबर 'जातिवादी' पेरियार का

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading