कश्मीर में सरकार का एक और इम्तिहान, बकरीद के लिए लोगों के घर पहुंचाया जा रहा सामान

बकरीद (Bakrid) के मद्देजनर कश्मीर (Kashmir) के 3697 में से 3557 राशन के स्टोर्स को भी शुरू कर दिया गया है.

News18Hindi
Updated: August 12, 2019, 11:54 AM IST
कश्मीर में सरकार का एक और इम्तिहान, बकरीद के लिए लोगों के घर पहुंचाया जा रहा सामान
(AP Photo/Channi Anand)
News18Hindi
Updated: August 12, 2019, 11:54 AM IST
जम्मू और कश्मीर में अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35 ए हटाए जाने के बाद सरकार का एक और बड़ा इम्तिहान है. सोमवार को बकरीद के मौके पर सरकार की प्राथमिकता है त्योहार पूरी शांति के साथ लोग मना सकें. इसके लिए सरकार अपनी ओर से तैयारियां कर रही है.

सरकार ने कश्मीर में शांति पूर्वक त्योहार मनाने के लिए 300 स्पेशल टेलीफोन बूथ बनाए हैं ताकि देश के अलग-अलग हिस्सों में रहने वाले कश्मीरी छात्र अपने परिजनों से बातचीत कर सकें. इसके साथ ही लोगों को खाद्य पदार्थनों की कोई दिक्कत न हो इसके लिए खास इंतजाम किए गए हैं.

सरकार ने जरूरी सामानों का भण्डारण कर लिया है. सरकार ने 65 दिन के गेहूं, 55 दिन के चावल 17 दिन के लिए मटन, एक महीने के लिए चिकन, 35 दिन के लिए केरोसीन 1 महीने के लिए एलपीजी , 29 दिन के लिए डीजल और पेट्रोल का इंतजाम किया है.

यह भी पढ़ें:  एक्‍शन में मोदी सरकार, J&K के 3 आतंकी नैनी जेल किए गए शिफ्ट

कश्मीर के 3697 में से 3557 राशन के स्टोर्स को भी शुरू कर दिया गया है. यहां आम लोग राशन की खरीददारी कर सकते हैं. सरकार मोबाइल वैन के माध्यम से सब्जी, एलपीजी, चिकन समेत अन्य खाद्य पदार्थ पहुंचाने का काम कर रही है.


 ढाई लाख भेड़ बकरियां उपलब्ध
Loading...

इसके साथ ही बकरीद पर कुर्बानी के लिए करीब ढाई लाख भेड़ बकरियां उपलब्ध कराई गई हैं. इसके साथ ही कहा गया है कि छुट्टी वाले दिन भी एटीएम चलें और बैंक भी खोले रखने की बात कही गई है. इसके साथ ही राज्य के कर्मचारियों की सैलरी भी भेज दी गई है.

यह भी पढ़ें:  पाक ने धीमा किया करतापुर का काम, अमरिंदर ने जताई चिंता

इन सबके बीच ही सरकार यह भी सुनिश्चित कर रही है कि पूरे त्योहार के दौरान सुरक्षा चाक चौबंद रहे. सरकार ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं ताकि त्योहार के साथ-साथ सामान्य दिनों में भी कोई खलल न पड़े. इससे पहले जुमे की नमाज के लिए भी सरकार ने कर्फ्यू में ढील दी थी. अनुच्छेद 370 और 35ए हटाए जाने के बाद शुक्रवार को पहली बार कर्फ्यू में ढील दी गई थी हालांकि किसी भी तरह के हिंसा की खबर नहीं आई.
First published: August 11, 2019, 7:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...